गुजरात में आरएसएस समर्थक की कार से मिला नकली नोटों का जत्था?

बूम ने पाया की तस्वीरें तेलंगाना के खम्मम ज़िले की हैं|

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट वायरल हो रही है जिसमें दावा किया जा रहा है की गुजरात में एक स्वयं सेवक संघ के समर्थक केतन दवे की कार से फ़र्ज़ी नोट बरामद हुए हैं| आपको बता दें की यह दावे फ़र्ज़ी हैं|

इन दावों को दो घटनाओं को जोड़कर फैलाया जा रहा है| तीन तस्वीरों का एक सेट वायरल है| इनमें नोटों के बंडल देखे जा सकते हैं| पुलिस प्रेस कांफ्रेंस कर रही है और 2000 रूपए के फ़र्ज़ी नोट दिख रहे हैं| फ़ेसबुक पर वायरल इन तस्वीरों के साथ कैप्शन भी है|

कैप्शन में लिखा है: गुजरात से नकली नोटों का भंडार पकड़ा गया| और ईमानदार संघ समर्थक श्री केतन दवे की कार से मिला ये नकली नोटों का जखीरा...| कापी पेस्ट)

यही तस्वीरें ट्विटर पर समान दावों के साथ वायरल हैं|

यह भी पढ़ें: काल्पनिक अनिल उपाध्याय की वापसी, इस बार सीएए के ख़िलाफ भाजपा विधायक के रूप में

यहाँ, यहाँ, और यहाँ आर्काइव्ड वर्शन देखा जा सकता है|


फ़ैक्ट चेक

बूम ने एक रिवर्स इमेज सर्च किया| हमनें पाया की यह तस्वीरें तेलंगाना के खम्मम ज़िले में वेमसूर मंडल में हुई एक घटना की थी| यह घटना 2 नवंबर, 2019 को हुई थी| यह तस्वीरें तब ली गयी जब खम्मम पुलिस ने एक फ़र्ज़ी नोटों के रैकेट का भांडा फोड़ किया था|

पुलिस ने पांच लोगों की एक गैंग को पकड़ा और करीब 6 करोड़ रूपए के 2000 रूपए के नोटों में मुद्रा जब्त की| इस तस्वीर में खम्मम पुलिस कमिश्नर तफ़्सीर इक़बाल देखे जा सकते हैं|

दाएं: खम्मम पुलिस कमीश्नर तफ़्सीर इक़बाल; बाएं: वायरल तस्वीर में दिखाई दे रहे पुलिस कर्मी

इस घटना पर तेलंगाना टुडे और फाइनेंसियल एक्सप्रेस में न्यूज़ रिपोर्ट प्रकाशित हुई थीं| रिपोर्ट के अनुसार 20 प्रतिशत कमीशन पर बदमाश लोगों से 2000 के नोटों के बदले 500 के नोट ले लेते थे|

फाइनेंसियल एक्सप्रेस में प्रकाशित इस घटना के लेख का कुछ भाग नीचे पढ़ें:

"शनिवार (2 नवंबर, 2019) को तेलंगाना पुलिस ने एक अंतराजीय एक गैंग को पकड़ा जो फ़र्ज़ी नोटों के इधर उधर करने में शामिल थी| यह घटना खम्मम ज़िले के वेमसूर मंडल में हुई| जहाँ पुलिस ने पांच लोगों को जनता के साथ धोखाधड़ी करके 20 प्रतिशत कमीशन पर 2000 के नोटों को बदलने के आरोप में पकड़ा| पुलिस ने 2000 रूपए के फ़र्ज़ी नोटों के 320 बंडल जब्त किए जिनकी कीमत करीब 6.4 करोड़ रूपए है| व्याख्यात्मक जांच जारी है|"


एशियन न्यूज़ इंटरनेशनल ने भी इन तस्वीरों को ट्वीट किया था जब यह घटना हुई थी|

केतन दवे कौन है?

यह भ्रामक पोस्ट में एक दूसरी घटना को जोड़ा गया है| 2017 मार्च की एक घटना जो राजकोट गुजरात में हुई थी उसे इन तस्वीरों से जोड़ा गया| दरअसल, केतन दवे नामक एक फाइनेंसर को पुलिस ने नितिन अजानी की धोखाधड़ी की शिकायत के बाद गिरफ़्तार किया था| इस घटना में पुलिस ने करीब 4.5 करोड़ रूपए के फ़र्ज़ी नोट केतन की कार से बरामद किए थे|

यह भी पढ़ें: कटे-छंटे फ़ैक्ट-चेक से 2000 रुपए के नोट को बंद करने की अफ़वाह को बढ़ावा

नीचे हिंदुस्तान टाइम्स के लेख का भाग देखें और इस रिपोर्ट को यहाँ पढ़ें|

हिंदुस्तान टाइम्स के लेख का स्क्रीनशॉट

राजकोट फ़र्ज़ी नोट मामले के बारे यहाँ और पढ़ें| हालाँकि, इन दोनों घटनाओं में आरएसएस का कोई सम्बन्ध रिपोर्ट नहीं किया गया है|

Claim Review :   गुजरात में आरएसएस समर्थक केतन दवे की कार से मिला 2000 रूपए के नकली नोटों का जत्था
Claimed By :  Facebook and Twitter
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story