कटे-छंटे फ़ैक्ट-चेक से 2000 रुपए के नोट को बंद करने की अफ़वाह को बढ़ावा

बूम ने पाया कि वायरल तस्वीर हिंदी अखबार दैनिक पूर्वोदय द्वारा प्रकाशित एक तथ्य जांच लेख का केवल एक हिस्सा है

हिंदी अख़बार दैनिक पूर्वोदय के एक फ़ैक्ट-चेक लेख के शरारतपूर्ण रूप से ली गयी तस्वीर को इस झूठे दावे के साथ व्हाट्सएप्प पर फैलाया जा रहा है कि भारत के केंद्रीय बैंक ने 2000 रूपए के नोट को 31 दिसंबर, 2019 के बाद से बंद करने की योजना बनाई है।

लेख की कटी-छंटी तस्वीर में यह भी दावा किया गया है कि भारतीय रिज़र्व बैंक (आर.बी.आई) ने 1 जनवरी, 2020 से एक नया 1000 रुपये बैंकनोट शुरू करने की योजना बनाई है।

क्लिपिंग यह दावा करती है: "भारतीय रिजर्व बैंक 2000 के नोट वापस ले रहा है। 2000 के नोट 31 दिसंबर, 2019 के बाद बैंकों में बदले नहीं जा सकेंगे। इसलिए आप अपने पास रखे 2000 के नोट बदलना आरम्भ कर दीजिये। अभी आप एक बार में ₹ 50,000 मूल्य के 2000 के नोटों को बदल सकते हैं इसलिए प्रक्रिया शुरू करें| यह ख़बर यह भी कहती है कि 1 जनवरी, 2020 से आर.बी.आई नए 1000 के नोट जारी करेगा।"

हालाँकि, पैराग्राफ केवल वायरल दावे की व्याख्या करता है और वास्तव में गुवाहाटी और जोरहाट में बेचे जाने वाले हिंदी अख़बार दैनिक पूर्वोदय द्वारा समाचार के रूप में रिपोर्ट नहीं किया गया है।

यह तस्वीर ट्विटर पर वायरल है और इसे सत्यापित करने के लिए एक पाठक द्वारा बूम को भी भेजा गया था।



फैक्ट चेक

बूम ने एक ऐसा ही मैसेज पहले भी ख़ारिज़ किया था जिसमें दावा किया गया था कि 2000 का नोट 31 दिसंबर, 2019 से बंद कर दिए जायेंगे, तब यह व्हाट्सएप्प मैसेज के रूप में वायरल हुआ था और इसके साथ न्यूज़ ट्रैक नामक एक वेबसाइट की कहानी भी थी।

(यह भी पढ़िये - Rs. 2000 To Be Discontinued From Dec 31? WhatsApp Message Viral Again)

बूम ने 1 दिसंबर, 2019 को दैनिक पूर्णोदय द्वारा प्रकाशित पूरा लेख पाया। लेख वास्तव में एक तथ्य-जांच है और स्क्रीनशॉट कहानी का वह भाग है जो वायरल दावे को स्पष्ट करता है। पूरा लेख पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

दावे को स्पष्ट करने के बाद लेख में कहा गया है: "आजकल, सोशल मीडिया पर यह ख़बर वायरल हो रही है कि 31 दिसंबर, 2019 से 2000 के नोटों का आदान-प्रदान नहीं किया जा सकता है। जबकि, दैनिक पूर्वोदय द्वारा की गई एक जांच से पता चला है कि 'ऐसा कोई निर्देश' भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा जारी नहीं किए गए ... "


लेख, न्यूज ट्रैक द्वारा कहानी के बारे में भी बात करता है जिसमें दावा किया गया था, "भारतीय रिजर्व बैंक (आर.बी.आई) से संकेत के बाद, एस.बी.आई ने अपने एटीएम से बड़े नोट कैसेट को निकालना शुरू कर दिया है।" बूम ने भारतीय स्टेट बैंक और RBI के प्रवक्ता से संपर्क किया उनकी प्रतिक्रिया आने पर लेख अपडेट किया जाएगा।

इसके अलावा, RBI द्वारा अपनी वेबसाइट या आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर ऐसी कोई घोषणा नहीं की गई है।

नोटबंदी एक ऐसा कदम था जिसमें पुराने 500 और 1000 के को निरस्त कर दिया गया था - और इस प्रकरण की तेज़ी ने सोशल मीडिया के उपयोगकर्ताओं को बैंकनोट्स और बैंकिंग सिस्टम के बारे में ग़लत जानकारी फैलाने और विश्वास करने में सक्षम बना दिया है।

Claim Review :   दैनिक पूर्वोदय ने बताया कि, 2000 रुपये का नोट 31 दिसंबर, 2019 के बाद बंद कर दिया जाएगा
Claimed By :  Twitter users and WhatsApp
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story