'साइकिल गर्ल' ज्योति पासवान के बलात्कार और क़त्ल का दावा करती वायरल पोस्ट्स फ़र्ज़ी हैं

बूम ने ज्योति पासवान से बात की और पाया की वह स्वस्थ हैं, उसी ज़िले में रहने वाली पासवान की एक हमनाम की मृत्यु कथित तौर पर करंट की वजह से दम घुटने से हुई है

तीन तस्वीरों का एक सेट फ़र्ज़ी दावों के साथ वायरल हो रहा है | इनमें से दो तस्वीरें ज्योति कुमारी पासवान की हैं जिन्होंने गुरुग्राम से दरभंगा तक अपने पिता को पीछे बैठा कर 1,200 किलोमीटर साइकिल चलाई थी और कई दिनों तक न्यूज़ में थीं | दावा किया जा रहा है की किसी ने उनका बलात्कार कर के मर्डर कर दिया है | तीसरी तस्वीर एक लड़की के शव की है |

बूम ने ज्योति कुमारी पासवान से संपर्क किया और पाया की ये दावे झूठे हैं | हमनें तीसरी तस्वीर का भी पता लगाया है और पाया की मृत लड़की भी दरभंगा से है और उसका नाम भी ज्योति कुमारी पासवान था | कथित तौर पर लड़की की मौत आम के बाग़ में करंट लगने पर हुई है | दोनों के नाम एक होने की वजह से सोशल मीडिया पर ग़लतफहमी फैली हुई है |

इस साल मई महीने में पासवान तब चर्चा में आई थीं जब लॉकडाउन के दौरान उन्होंने गुरुग्राम से अपने गांव सिरहुल्ली, दरभंगा तक का सफ़र एक साईकिल पर अपने पिता को पीछे बिठा कर तय किया था | इसके चलते उनकी चर्चा दुनिया भर में हुई थी | अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की बेटी इवांका ट्रम्प ने भी पासवान को बधाई देते हुए ट्वीट किया था |

ये कानपुर में आठ पुलिस कर्मियों की मौत से जुड़े अपराधी विकास दुबे की तस्वीर नहीं है

इन तस्वीरों के साथ कैप्शन में लिखा है: "ज्योति पासवान , जो अपने पिता को 1500 किलो मीटर साईकिल चलाकर बिहार अपने घर लायी थी ! उस बहादुर लडकी को किसी शख्स ने अपने हवस का शिकार बना लिया! सुशासन की सरकार तमाशबीन बनी हुई है | क्योंकि तमाशा किसी अमीर के घर में नहीं हुआ है! आम गरीब की बेटी शिकार हुई है"

बूम को यह तस्वीरें इन्हीं फ़र्ज़ी दावों के साथ हेल्पलाइन पर भी प्राप्त हुई ।


तस्वीरें भयावह और हृदयविदारक हैं इसीलिए बूम ने पोस्ट्स को अपने होम पेज पर नहीं शेयर किया है | इनके अर्काइव्ड वर्शन यहाँ और यहाँ देखें ।

यह भी पढ़ें: नहीं कहा कोरोनिल कोरोना का इलाज है: पतंजलि सी.इ.ओ ने किया झूठा दावा

फ़ैक्ट चेक

बूम ने बिहार के दरभंगा में स्थित एक स्थानीय रिपोर्टर सतीश से बात की जिन्होंने हमें बताया की साईकिल गर्ल ज्योति कुमारी पासवान की मौत की खबरें फ़र्ज़ी हैं | जिनका शव मिला है वह भी ज्योति कुमारी पासवान हैं पर दोनों लड़कियाँ अलग हैं |

इसके बाद हमनें ज्योति पासवान से संपर्क किया और विज़ुअली कन्फर्म किया की वह स्वस्थ हैं | उन्होंने बलात्कार और खून के दावों को फ़र्ज़ी बताते हुए बूम को बताया, "यह घटना हमारे गांव से बहुत दूर हुई है । उसका नाम भी ज्योति कुमारी है, वो भी पासवान हैं । उसके पिता का नाम अशोक पासवान है । सबको लगा कि हमारी मौत हो गयी है । ऐसी कोई बात नहीं है, हम एकदम सही सलामत हैं |"

यह भी पढ़ें: ओसमानिया हॉस्पिटल में लावारिस लाशों का पुराना वीडियो कोवीड-19 से जोड़ कर वायरल किया गया

ज्योति पासवान की हमनाम

बूम यह पता लगाने में सफ़ल रहा की शव ज्योति कुमारी पासवान नामक एक लड़की का है | इस बात की पुष्टि परोत ओपी थाना के स्टेशन हाउस अफ़सर (एस.एच.ओ) सुभाष चंद्र मंडल ने भी की है | हमने जब एस.एच .ओ से बात की तो उन्होंने हमें बताया की जिस लड़की की मृत्यु हुई है उसका नाम भी ज्योति पासवान है | पोस्टमॉर्टेम रिपोर्ट के हवाले से मंडल ने हमें बताया की मृत्यु का कारण करंट लगने से दम घुटना है |

"मृतक की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गयी है | रिपोर्ट के अनुसार बलात्कार या मर्डर जैसा कुछ नहीं आया है । मौत की वजह करंट लगना बताई गई है । गले पर निशान भी करंट के कारण जलने से बने हैं," मंडल ने आगे बताया |

हिंदुस्तान में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक़ 13 वर्षीय ज्योति कुमारी की लाश 1 जुलाई को एक आम के बगीचे में मिली जहां वो कथित तौर पर आम बीनने गयी थी |

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ मृतक के पिता ने अर्जुन मिश्रा नामक एक व्यक्ति पर लड़की का बलात्कार कर के खून करने का आरोप लगाया है | इस सिलसिले में एक प्राथमिकी भी दर्ज़ की है | रिपोर्ट्स के अनुसार लोगों ने अर्जुन मिश्रा के घर में तोड़फोड़ की जिसके बाद पुलिस ने मामले को संभाला | यहाँ और पढ़ें |

बूम हालांकि स्वतंत्र रूप से ज्योति कुमारी पासवान के मौत का कारण पता लगाने में सफ़ल नहीं हो सका |

Updated On: 2020-07-09T17:34:16+05:30
Claim Review :   1,200 किलोमीटर पिता को साईकल पर गुरुग्राम से दरभंगा ले जाने वाली लड़की ज्योति पासवान का बलात्कार कर क़त्ल कर दिया गया ।
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story