अजमेर पुलिस के कोविड-जागरूकता रैली का वीडियो फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल

बूम ने राजस्थान पुलिस से बात की और पाया की दरगाह अभी भी बंद है और यह रैली कोरोनावायरस के बारे में जागरूकता फ़ैलाने के लिए थी

अजमेर पुलिस द्वारा कोरोनावायरस के बारे में जागरूकता फ़ैलाने के लिए निकाले गए एक फ़्लैग मार्च को फ़र्ज़ी दावों के साथ यह कहते हुए शेयर किया जा रहा है की अजमेर शरीफ दरगाह के खुलते ही पुलिस महकमे के आला अधिकारी सलाम अर्ज़ करने दरगाह पर पहुचें |

बूम ने आमेर पुलिस अधीक्षक से बात की जिन्होंने बताया की दरगाह अभी खुला नहीं है और वीडियो में जो दिख रहा है वह एक फ़्लैग मार्च है जो पुलिस डिपार्टमेंट ने इस जानलेवा वायरस के बारे में जागरूकता फ़ैलाने के लिए निकाला था |

करीब 30 सेकंड लम्बा यह वीडियो वर्दी में पुलिसकर्मियों को दिखाता है जो दो लम्बी कतारों में बैनर और प्लेकार्ड्स लेकर चल रहे हैं | वीडियो में बॉलीवुड का एक गाना अलग से जोड़ा गया है | वीडियो किसी छत से फ़िल्माये जाने के कारण बैनर पर लिखें शब्द पढ़ना मुश्किल है |

अमेज़न प्राइम के फ़र्ज़ी अकाउंट ने स्वरा भास्कर को बनाया निशाना

हिंदी में कैप्शन कुछ यूँ है: "अजमेर शरीफ खुलते ही सबसे पहले राजस्थान पुलिस के आला अधिकारीयों ने हज़रत ख्वाजा गरीब नवाज़ की बारगाह में सलाम अर्ज़ कर हाज़िरी दी और कोरोना वायरस से निजात पाने के लिए दुआ मांगी | हज़रत ख्वाजा गरीब नवाज़" |

वीडियो नीचे देखें और आर्काइव यहाँ देखें |


यही वीडियो बूम को अपनी हेल्पलाइन पर भी प्राप्त हुआ |




फ़ैक्ट चेक

बूम ने अजमेर पुलिस का ट्विटर हैंडल चेक किया तो हमने पाया की ऐसे कई वीडियो उनके हैंडल से ट्वीट किये गए हैं | इनके साथ लिखे कैप्शन से ये मालूम होता था की ये पुलिस महकमे द्वारा निकाली गयी रैलियां हैं जो कोरोनावायरस के ख़िलाफ़ जागरूकता पैदा करती हैं |

हालांकि हमने पाया की ये हैंडल ट्विटर वेरिफ़ाइड नहीं है इसीलिए हमने राजस्थान पुलिस से बात करने की ठानी |

बूम ने आमेर सुपरिन्टेन्डेन्ट ऑफ़ पुलिस कुंवर राष्ट्रदीप से बात की जिन्होंने हमें बताया की ये वीडियो एक चार-किलोमीटर लम्बे कोरोना जागरूकता फ़्लैग-मार्च का है जो जून 29 को निकाला गया था | "दरगाह अभी तक खोला नहीं गया है ना ही महकमे के आला अधिकारी दरगाह पर चढ़ावा चढ़ाने गए हैं," एस.पी ने हमें बताया |

क्या प्रधानमंत्री मोदी ने ड्रोन जानकार प्रताप को डी.आर.डी.ओ वैज्ञानिक के पद पर नियुक्त किया है?

"क्या वीडियो में चढ़ावे की कोई चादर नज़र आ रही है | पुलिसकर्मियों ने प्लेकार्ड्स और बैनर्स थाम रखें हैं | दरगाह क्षेत्र कोरोना की भीषण चपेट में आये क्षेत्रों में से एक है | ये क्लिप अजमेर पुलिस द्वारा निकाले गए फ़्लैग मार्च का है," कुंवर राष्ट्रदीप ने बूम को बताया |

एस.पी ने हमें ये भी बताया ऐसे ही फ़्लैग-मार्च सारे प्रदेश के अन्य ज़िले में भी निकाली जा रहीं हैं ताकि लोगों को इस खतरनाक वायरस के बारे में जागरूक किया जा सके |

बूम ने अजमेर शरीफ दरगाह से भी संपर्क किया पर हमें कोई जवाब नहीं मिला |

Claim Review :   राजस्थान पुलिस के आला अधिकारी अजमेर शरीफ दरगाह के खुलने पर वहाँ कोरोनावायरस से निजात पाने की मन्नत मांगने पहुंचे
Claimed By :  Facebook pages and WhatssApp forwards
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story