रोमानिया की असंबंधित घटना का वीडियो फ़्रांस से जोड़कर वायरल

यह वीडियो फ़ेसबुक और ट्विटर पर तब शेयर हो रहा है जब हाल में फ़्रांस में एक इस्लामिक उग्रवादी ने एक स्कूल टीचर की हत्या कर दी |

बुखारेस्ट, रोमेनिया, में पुलिस ऑफ़िसरों ने कुछ फूटबाल फैंस को पकड़ा जो दो अलग अलग क्लब्स के समर्थक थे और आपस में लड़ रहे थे | इस वीडियो को इस फ़र्ज़ी दावे के साथ शेयर किया जा रहा है कि वीडियो में पेरिस में मुसलमानों को गिरफ़्तार किया जा रहा है क्योंकि उन्होंने मेट्रो में बिना मास्क के लोगों पर थूका |

यह वीडियो फ़ेसबुक और ट्विटर पर तब शेयर हो रहा है जब हाल में फ़्रांस में एक इस्लामिक उग्रवादी ने एक स्कूल टीचर, सैमुएल पैटी, का सर कलम कर हत्या कर दी |

सैमुएल पैटी की हत्या कथित तौर पर इसलिए हुई क्योंकि उन्होंने क्लास में फ्री स्पीच पर लेक्चर देते वक़्त पैग़ंबर मुहम्मद के कार्टून दिखाए थे | फ़्रांस के राष्ट्रपति एम्मेनुएल मैक्रॉन ने इस हमले को आतंकी हमला कहा है जिससे मुस्लिमों में गुस्सा भड़क गया |

यह वीडियो फ़्रांसिसी संसद में क़ुरान पर चर्चा नहीं दिखाता है

फ़ेसबुक पर यह वीडियो एक कैप्शन के साथ वायरल है जो यूँ है: फ्रान्स की राजधानी पैरिस में मुसलमानों द्वारा ट्रेन में दूसरों पर थूकने के कारण वहां की पुलिस ने क्या एक्सन लिया देखिये |



फ़र्ज़ी स्क्रीनशॉट का दावा: राणा अय्यूब ने फ़्रांस हमले को मंज़ूर किया है

फ़ैक्ट चेक

बूम ने पाया कि वीडियो बुखारेस्ट, रोमानिया, से है जहाँ पुलिस ने स्टाउए और डिनामो फुटबॉल क्लब के समर्थकों के बीच हुई एक हिंसक लड़ाई के बाद गिरफ़्तारियां की थीं |

यह वीडियो पहले कोविड-19 सम्बन्धी फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल रहा है जिसके साथ कहा जा रहा था 'संयुक्त राष्ट्र की पुलिस रोमानिया में मास्क नीति लागू करते हुए ' | कई ट्विटर यूज़र्स ने इस बात को साफ़ किया कि यह दो विरोधी टीमों के फुटबॉल फैंस हैं जो झगड़े के बाद गिरफ़्तार किये जा रहे हैं |


बूम को डीजीस्पोर्ट नामक एक रोमानियाई स्पोर्ट न्यूज़ वेबसाइट पर इसी घटना पर एक रिपोर्ट मिली जिसमें वायरल वीडियो के स्क्रीनशॉट इस्तेमाल किये गए थे | इस रिपोर्ट में घटना को रोमानियाई जेंडरमेरी और फुटबॉल फैंस के बीच का झगड़ा बताया गया था जो स्टेफ़न सेल मरे मेट्रो स्टेशन पर बुखारेस्ट में एक अक्टूबर को घटित हुआ था |


यही सूचना एक और रोमानियाई न्यूज़ वेबसाइट इ.वी.ज़ेड में भी प्रकाशित हुई थी | फ़्रांसिसी शिक्षक सैमुएल पैटी के क़त्ल के बाद से बूम ने इस घटना के इर्द-गिर्द कई फ़र्ज़ी ख़बरों को ख़ारिज़ किया है |

तस्वीरें तेजश्वी यादव को 'सबसे युवा नेता' पुरस्कार जीतते नहीं दिखाती हैं

Updated On: 2020-11-18T14:16:00+05:30
Claim Review :   वीडियो दिखाता है पेरिस में मुस्लिमों को मास्क न लगाने पर पुलिस ने मारा
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story