यह वीडियो फ़्रांसिसी संसद में क़ुरान पर चर्चा नहीं दिखाता है

बूम ने पाया कि वीडियो मई 2015 में बेल्जियम की संसद में फ़िल्माया गया था

पांच साल पुराना बेल्जियम के एक नेता, फ़िलिप डेविंटर, का एक वीडियो जिसमें वे क़ुरान को 'सारे पापों की जड़' कह रहे हैं, फ़र्ज़ी दावों के साथ वायरल है कि यह फ़्रांसिसी संसद में हुई एक बहस है |

बूम ने पाया कि यह वीडियो वास्तव में 22 जनवरी, 2015 को बेल्जियम की संसद यानी ब्रुसेल्स में शूट किया गया था | डेविंटर के क़ुरान पर बयान को उस वक़्त काफ़ी रिपोर्ट किया गया था | उनके आलोचकों ने डेविन्टर को 'इस्लामॉफ़ोबिक' कहा था |

वीडियो क्लिप में दिख रहा व्यक्ति फ़िलिप डेविन्टर है | वह बेल्जियम संसद के सदस्य और दक्षिणपंथी फ्लेमिश राष्ट्रवादी और सेसेशनिस्ट (पृथकतावादी) राजनैतिक पार्टी व्लाम्स बेलांग के लीडर हैं |

फ़्रांस: यमन का पुराना वीडियो फ़र्ज़ी दावों के साथ वायरल

यह वीडियो तब शेयर हो रहा है जब हाल में फ़्रांस में अब्दुल्लाख़ अंज़ोरोव - 18 वर्षीय एक इस्लामिक उग्रवादी - ने फ़्रांस में एक शिक्षक सैमुएल पैटी का सर कलम किया | कारण था कि सैमुएल पैटी ने अपनी क्लास में पैग़म्बर मुहम्मद के कार्टून दिखाए थे | हालांकि पुलिस ने अंज़ोरोव को मार गिराया है पर मुद्दा गंभीर होता जा रहा है | यहां पढ़ें |

वीडियो में व्यक्ति को क़ुरान को 'सारे पापों की जड़' और 'क़त्ल का लाइसेंस देने वाली' किताब कहा है | शख़्स आगे कहता है कि यही किताब इस्लाम में शिक्षा का आधार है | हालांकि व्यक्ति ज़्यादातर डच भाषा में बात करता है |

इस वीडियो को ट्विटर और फ़ेसबुक पर एक दावे के साथ शेयर किया गया है जिसमें लिखा है: "फ्रेंच पार्लियामेंट के इस सदस्य को नोबेल पुरस्कार के लिए मनोनीत किया जाए... दुनिया आतंकवाद का धर्म खोज नही पाई लेकिन इन्होंने बता दिया."



ट्विटर पर भी वीडियो इन्हीं फ़र्ज़ी दावों के साथ वायरल हो रहा है |


इन पोस्ट्स के आर्काइव्ड वर्शन यहां, यहां, यहां और यहां देखें |

फ़्रेंच प्रेज़िडेंट पर अण्डों के हमले का यह वीडियो तीन साल पुराना है

फ़ैक्ट चेक

बूम ने वीडियो में से कुछ कीवर्ड्स लिए और गूगल सर्च किया | हमें एक वीडियो प्लेटफार्म डेलीमोशन पर इसी वीडियो का लम्बा वर्शन मिला | यह वीडियो पांच साल पहले "बेल्जियन सांसद ने क़ुरान को सारे पापों की जड़ कहा" टाइटल के साथ प्रकाशित किया था |

इसी वीडियो में उक्त व्यक्ति को फ़िलिप डेविन्टर नाम से पहचाना गया है |


साथ ही साथ हमनें वायरल वीडियो के एक फ्रेम के साथ रिवर्स इमेज सर्च करते हुए 'फ़िलिप डेविन्टर' शब्द का इस्तेमाल किया | हमें इस चर्चा के दौरान ली गयी तस्वीर के साथ प्रकाशित कई न्यूज़ रिपोर्ट्स मिली हैं | इसमें फ़िलिप क़ुरान को पकड़ कर खड़े हैं जैसा कि वायरल वीडियो में दिखाया है | यहां और यहां पढ़ें |

व्लाम्स बेलांग पार्टी के नाम से एक वेबसाइट ने फ़िलिप डेविन्टर के भाषण पर लेख लिखा और उसी दिन प्रकाशित किया था जब यह भाषण दिया गया था |


इसके अलावा हमें मिडिल ईस्ट आई द्वारा प्रकाशित एक लेख मिला जिसमें इसी वाकये से फ़ोटो प्रकाशित की गयी थी | इस फ़ोटो का सोर्स एजेंसे फ़्रांस-प्रेस्से यानी ए.ऍफ़.पी को दिया गया था | हमनें जब ए.ऍफ़.पी की आधिकारिक वेबसाइट पर फ़ोटो ढूंढी तो हमें 22 जनवरी, 2015 को अपलोड यही फ़ोटो मिली जिसमें फ़िलिप डेविन्टर को देखा जा सकता है |


ब्राज़ील का सीसीटीवी फ़ुटेज फ़्रांस में मुस्लिम युवक पर हमला बताकर वायरल

Updated On: 2020-11-04T19:18:20+05:30
Claim Review :   फ्रांस की संसद में क़ुरान पर बहस हुई |
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story