उज्जैन पुलिस द्वारा लोगों को पकड़ने का वीडियो दिल्ली के नाम पर हुआ वायरल

वायरल वीडियो के साथ दावा किया गया है कि दिल्ली पुलिस बिना मास्क पहने लोगो को दस घंटे के लिए जेल में डाल रही है

पुलिसकर्मियों का बिना मास्क के घूम रहे लोगों को पकड़कर वैन में बैठाने का एक वीडियो फ़र्ज़ी दावों के साथ वायरल है कि यह कार्यवाही दिल्ली पुलिस की है जो बिना मास्क के लोगों को दस घंटे के लिए जेल में क़ैद कर रही है |

बूम ने दिल्ली पुलिस से संपर्क किया | दिल्ली पुलिस के अतिरिक्त प्रवक्ता अनिल मित्तल ने कहा, "यह जेल में रखने वाली खबर फ़र्ज़ी है, हम नियम न मानने वालों पर 2,000 का जुर्माना कर रहे हैं |" हमनें वायरल वीडियो में दिख रहे स्पॉट को जीओलोकेट कर पता लगाया कि यह उज्जैन, मध्य प्रदेश, का वीडियो है | इस बात की पुष्टि उज्जैन में पदस्थ एक पुलिसकर्मी ने भी कि और कहा कि वे वीडियो में दिख रहे एक आरक्षक को पहचानते हैं |

नोवेल कोरोनावायरस के तेज़ी से बढ़ते मामलों के चलते कई राज्यों ने कठोर तरीके अपनाए हैं ताकि वायरस की रोकथाम की जा सके | दिल्ली में मास्क ना पहनने पर जुर्माना 500 रूपए से बढ़ा कर 2,000 रूपए कर दिया गया है | न्यूज़ रिपोर्ट्स की माने तो उज्जैन में पुलिस ने भारी जुर्माना और बिना मास्क पाए जाने पर 10 घंटे की अस्थाई जेल करने का प्रावधान किया है | यहां पढ़ें | यह प्रावधान मध्य प्रदेश में कई ज़िलों में किए गए हैं |

नहीं, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने नहीं दिया है यह वायरल बयान

वायरल वीडियो में एक व्यक्ति पुलिसकर्मियों से मिन्नतें कर रहा है कि उसे जाने दिया जाए | कई अन्य लोग जो बिना मास्क के घूम रहे हैं, उन्हें भी पकड़ा जा रहा है |

यह वीडियो एक दावे के साथ वायरल है जिसमें लिखा है: "बिना मास्क के दिल्ली में 10 घंटे की जेल और उसके बाद जल्द ही मुंबई, बंगलौर, हैदराबाद और अन्य राज्यों में"

(अंग्रेजी में: 'Without mask 10 hours jail in Delhi and soon to be followed in Mumbai, Bangalore, Hyderabad and other States')

पोस्ट्स नीचे देखें और इनके आर्काइव्ड वर्शन यहां, यहां और यहां देखें |


यही वीडियो ट्विटर पर भी तेज़ी से शेयर हो रहा है |

अशोक गेहलोत की पुरानी तस्वीर इस दिवाली सेलिब्रेशन के रूप में वायरल

फ़ैक्ट चेक

बूम ने वायरल वीडियो को करीब से देखा और पाया कि पुलिस वैन मध्य प्रदेश पुलिस की है क्योंकि "MP 03" रजिस्ट्रेशन नंबर केवल एम.पी पुलिस को दिया जाता है | अधिक जानकारी यहां उपलब्ध है |


हमनें इसके बाद सम्बंधित कीवर्ड्स के साथ खोज की और मध्य प्रदेश में इस तरह की कार्यवाही पर कई न्यूज़ रिपोर्ट्स पाई | हमें ज़ी न्यूज़ की 22 नवंबर 2020 को प्रकाशित एक वीडियो रिपोर्ट मिली जिसमें शहर को उज्जैन बताया गया था |

इस आर्टिकल से संकेत लेकर हमनें गूगल मैप पर उज्जैन शहर में इंडियन आयल का पेट्रोल पंप ढूंढा जो वायरल वीडियो में देखा जा सकता है | हमें यही पेट्रोल पंप उज्जैन के कोयला फाटक चौराहे पर मिला |

बूम ने उज्जैन में पदस्थ एक पुलिसकर्मी से संपर्क किया | उन्होंने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि वे वीडियो में दिख रहे एक आरक्षक को पहचानते हैं एवं वीडियो में दिख रहे चौराहे पर वे पहले ड्यूटी कर चुके हैं |

हमनें इसके बाद इंडियन आयल पेट्रोल पंप के मालिक संजय भार्गव से बात की | "मैं पेट्रोल पंप को पहचानता हूँ | वह हमारा है | मैं यह नहीं कह सकता कि कब यह घटना हुई थी क्योंकि मैं ज़्यादा पेट्रोल पंप पर रहता नहीं हूँ," भार्गव ने बूम को बताया |

छत्तीसगढ़ से पुराना वीडियो गोवा में अडानी के ऑपरेशन के नाम पर वायरल

हालांकि बूम इस बात की पुष्टि स्वतंत्र रूप से नहीं कर पाया कि यह क्रैकडाउन किस पुलिस स्टेशन की सीमा में किया गया था |

Claim Review :   बिना मास्क के दिल्ली में 10 घंटे की जेल
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story