इंद्रजीत चक्रबर्ती के नाम पर फ़र्ज़ी ट्विटर हैंडल के झांसे में आये हिंदुस्तान टाइम्स, टाइम्स ऑफ़ इंडिया

बूम ने पाया कि यह हैंडल पहले @WeWantRahul के नाम से था जिसने कांग्रेस के समर्थन में ट्वीट्स किये हैं |

रिया चक्रवर्ती के पिता इंद्रजीत चक्रवर्ती के नाम पर वायरल फ़र्ज़ी ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट के झांसे में कई मुख्य धारा के मीडिया संस्थान आ गए हैं | वह मुख्य मीडिया संस्थान जो इस फ़र्ज़ी हैंडल को वास्तविक मान बैठे हैं, दावा करते हैं कि रिया चक्रवर्ती कि गिरफ्तारी के बाद उनके पिता ने ट्वीट्स किये हैं |

इस हैंडल को असली मानने वाले मीडिया संस्थानों में टाइम्स ऑफ़ इंडिया, हिंदुस्तान टाइम्स, ज़ी न्यूज़, लोकमत, अमर उजाला और ए.बी.पी न्यूज़ मुख्य हैं |

दिवंगत सुशांत सिंह राजपूत के लिए ड्रग्स लेकर आने के सिलसिले में नार्कोटिक्स कण्ट्रोल ब्यूरो यानी एन.सी.बी ने रिया चक्रवर्ती को मंगलवार को गिरफ्तार किया है | एन.सी.बी सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग्स सम्बंधित जांच कर रही है | अभिनेता 14 जून 2020 को बांद्रा स्थित अपने घर में मृत पाए गए थे | बाद में यह मामला सीबीआई को सौंप दिया गया था |

2014 में राजदीप के साथ धक्का-मुक्की का वीडियो रिया चक्रबर्ती के इंटरव्यू के बाद हुआ वायरल

हिंदुस्तान टाइम्स, टाइम्स ऑफ़ इंडिया और ए.बी.पी न्यूज़ ने इंद्रजीत चक्रवर्ती के नाम पर फ़र्ज़ी हैंडल से किये गए ट्वीट्स को वास्तव माना है |

टाइम्स ऑफ़ इंडिया का स्क्रीनशॉट

नीचे हिंदुस्तान टाइम्स के आर्टिकल का स्क्रीनशॉट है |


बहरूपिया हैंडल ने कई ट्वीट्स कर सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु के बाद उनके बच्चों के प्रति व्यवहार का दोषी न्यायतंत्र और मीडिया को ठहराया है |

यह फ़र्ज़ी हैंडल का तो ट्विटर द्वारा सत्यापित है और ना ही बायो में खंडन करता है कि यह फैन अकाउंट है |


इस फ़र्ज़ी हैंडल से ऐसा ही एक ट्वीट दर्शाता है कि कैसे इंद्रजीत चक्रबर्ती रिया की गिरफ्तारी के बाद बिखर गए हैं और अपनी जिंदगी त्यागना चाहते हैं | ट्वीट में लिखा है: "कोई पिता अपनी बेटी के प्रति अन्याय नहीं सह सकता | मुझे मर जाना चाहिए | #JusticeForRhea"

एक अन्य ट्वीट में यह बहरूपिया हैंडल मीडिया द्वारा किये जा रहे ट्रायल पर सवाल उठाता है | इस ट्वीट में लिखा है: "बगैर किसी सबूत के पूरा देश रिया को फांसी पर लटकाने को तुला है#JusticeforRhea"

ए.बी.पी ने दो लेख प्रकाशित किये जो इस बहरूपिया हैंडल पर आधारित हैं | एक लेख की हैडिंग में लिखा: "रिया चक्रबर्ती के पिता उनकी गिरफ्तार के बाद: 'यह सब क्योंकि उसके मृत बॉयफ्रेंड ने गांजा पिया?'"


दूसरे लेख में हैडिंग है: "रिया चक्रबर्ती के पिता ने कहा, 'कोई पिता अपनी बेटी के साथ अन्याय नहीं सह सकता, मुझे मर जाना चाहिए |'"

कुछ अन्य वेबसाइट हैं जो इस फ़र्ज़ी हैंडल को सच मान बैठी हैं | इनके नाम हैं: सकल टाइम्स, हिंदी अखबार अमर उजाला, पिंकविला, लोकमत, एक वेबसाइट फ़िल्मीबीट, ज़ी न्यूज़ और लाइव हिंदुस्तान |

नहीं, यह सुशांत की भांजी नहीं है, टीवी चैनलों का दावा गलत है

फ़ैक्ट चेक

बूम यह पता लगाने में सक्षम था की हैंडल इंद्रजीत चक्रबर्ती के नाम पर एक बहरूपिया अकाउंट है | हमनें इस हैंडल द्वारा किये गए पुराने ट्वीट्स और कमैंट्स पढ़ें | हमनें 6 सितम्बर का एक जवाब पाया जिसमें इस हैंडल का नाम @WeWantRahul था |


यहाँ उस ट्वीट के आर्काइव को देखें जो यही दिखाता है |

यही अकाउंट जिसका पिछले यूज़रनेम @WeWantRahul था, 8 जून को ट्वीट कर नेटिज़ेंस को अपने फोल्लोवेर्स 1,500 तक बढ़ाने को कहता है |

ट्वीट के साथ पिछले अकाउंट का स्क्रीनशॉट है जिसके बायो में लिखा है: "कहो दिल से कांग्रेस फिर से, राहुल गांधी फॉर प्रधानमंत्री राहुल गांधी जी को देश का अगला PM बनाने के लिए ज्यादा से ज्यादा सपोर्ट करने के लिए इस पेज को फॉलो करें।"

यह अकाउंट 7,000 यूज़र्स द्वारा फॉलो किया जा रहा है जो पिछले साल दिसंबर में खुला था | अब इसके बायो में 'सत्यमेव जयते' लिखा है |



बूम ने पाया की इस हैंडल के पुराने ट्वीट्स अधिकतर कांग्रेस और राहुल गाँधी के समर्थन में रहे हैं | बूम ने चक्रबर्ती के वकील सतीश मानशिंदे से भी संपर्क किया है ताकि यह जान सकें की इंद्रजीत चक्रबर्ती किसी सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर हैं या नहीं | जवाब मिलने पर लेख अपडेट किया जाएगा |

कंगना रनौत का समर्थन करते हुए राज ठाकरे का फ़र्ज़ी ट्विटर हैंडल वायरल

Updated On: 2020-09-09T15:39:58+05:30
Claim Review :   रिया चक्रवर्ती के पिता इंद्रजीत चक्रवर्ती ने ट्वीट किया, मुझे मर जाना चाहिए, कोई पिता अपनी बेटी पर अन्याय होते हुए नहीं देख सकता ।
Claimed By :  ABP News, Times of India, Hindustan Times, Sakaal Times, Amar Ujala, Pinkvilla
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story