ताइवान ने चीनी जेट मार गिराने वाली भारतीय मीडिया रिपोर्टों का खंडन किया

बूम ने पाया कि भारतीय मीडिया चैनलों ने ट्विटर में वायरल वीडियो की सत्यता जांचे बगैर ग़लत दावे के साथ ख़बर चलाई

ताइवान के राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय ने शुक्रवार को भारतीय मीडिया के उस दावे को फ़र्ज़ी बताया है जिसमें कहा गया था कि ताइवान ने एक चीनी लड़ाकू विमान को मार गिराया है जो उसके हवाई क्षेत्र में उड़ रहा था।

यह बयान भारतीय टीवी मीडिया की गैर जिम्मेदाराना रिपोर्टिंग और ट्विटर पर बिना सत्यापित दो वीडियो के प्रसारित होने के बाद आया है।

वर्ष 2015 में ओस्लो में ली गयी तस्वीर स्वीडन हिंसा से जोड़कर वायरल

एक वीडियो में आग की लपटों में एक विमान के मलबे को देखा जा सकता है जबकि दूसरे में एक घायल व्यक्ति को मेडिकल स्ट्रेचर पर ले जाते हुए दिखाया गया है। यह स्पष्ट नहीं है कि ये वीडियो कब और कहां शूट किए गए थे।

ताइवान के राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय ने कहा कि "ताइवान ने एक चीनी विमान को मार गिराया है' के बारे में जानकारी पूरी तरह से फ़र्जी है और हम गलत सूचना फैलाने के इस व्यवहार की कड़ी निंदा करते हैं।"


पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

ताइवान के राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय ने ट्वीट करते हुए इसका खंडन किया |

भारतीय न्यूज़ चैनलों टीवी9 भारतवर्ष, टाइम्स नाउ और एबीपी न्यूज़ ने ट्विटर यूज़र्स के दावों के आधार पर ख़बर ब्रेकिंग न्यूज़ चलाया कि ताइवान ने चीनी फ़ाइटर जेट को अपने हवाई क्षेत्र में मार गिराया।

बूम ने ताइवान फ़ैक्ट चेक सेंटर से संपर्क किया। उन्होंने बताया कि किसी स्थानीय विश्वसनीय समाचार चैनलों ने विमान दुर्घटना या चीनी फ़ाइटर जेट के मार गिराने की सूचना नहीं दिखायी। (फ़ैक्ट चेक)

अबू धाबी रेस्ट्रॉन्ट धमाके को फ़र्ज़ी तरह से पहली इज़राइल-अरब फ़्लाइट से जोड़ा गया

समाचार चैनलों ने बिना वेरिफ़ाई किये वीडियो चलाया

टीवी9 भारतवर्ष ने यह भी दावा किया कि पांच लड़ाकू जेट विमान ताइवान के हवाई क्षेत्र में दाख़िल हुए थे, जिसके बाद एक जेट को मार गिराया गया था। सोशल मीडिया में लड़ाकू जेट मार गिराने के दावे से वायरल हो रहे वीडियो को चैनल ने बिना सत्यापित किये प्रसारित किया। (1.14 सेकंड पर देखें)

टाइम्स नाउ ने भी उसी वीडियो क्लिप को प्रसारित किया जिसमें इस घटना की कोई पुष्टि नहीं की गयी। चैनल ने इसी क्लिप को प्रसारित किया और दावा किया कि विमान को मार गिराया गया।


देखने के लिए यहां क्लिक करें, आर्काइव के लिए यहां क्लिक करें

एबीपी न्यूज़ ने असत्यापित वीडियो के हवाले से अपने समाचार रिपोर्ट में कहा कि यह चीन के लिए 'बड़ा झटका' है क्योंकि ताइवान में चीनी सुखोई लड़ाकू विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया है। आगे कहा कि वीडियो के अनुसार फ़ाइटर जेट एक ग्रामीण आवासीय क्षेत्र के पास एक खुले इलाक़े में दुर्घटनाग्रस्त हुआ।


यहां देखें, आर्काइव यहां देखें

जली हुई काली की मूर्ति मामले में साम्प्रदायिक कोण नहीं है: मुर्शिदाबाद पुलिस

बूम ने पाया कि कई रक्षा और सामरिक मामलों के उत्साही ट्विटर हैंडल ने वीडियो को ट्वीट किया था।

समाचार लाइन IFE ने वीडियो शेयर करते हुए दावा किया था कि चीनी जेट को ताइवान ने मार गिराया। बूम पहले भी IFE को ग़लत सूचना फ़ैलाते हुए पकड़ चुका है।

बाद में इसने अपने ही दावे का फ़ैक्ट चेक किया |

आर्काइव के लिए यहां क्लिक करें

आर्काइव के लिए यहां क्लिक करें

भारतीय सेना में मेजर रह चुके और भारतीय जनता पार्टी के सदस्य मेजर सुरेंद्र पूनिया ने भी वायरल वीडियो को ट्वीट करते हुए दावा किया कि एक चीनी फ़ाइटर जेट को ताइवान द्वारा मार गिराया गया है।

आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें |

यह दावा फ़ेसबुक पर भी वायरल है | इस वीडियो के साथ कैप्शन लिखा है: "ताइवान ने चीन su 35 जेट को मार गिराया। लगता है अब पाकिस्तान की तरह चीन को भी जूते खाने की आदत लग गई है। एक तरफ हिंदुस्तान जूते मार रहा है तो दूसरी तरफ ताइवान।"

अमित शाह की फ़ोटोशॉप की हुई तस्वीर क्यों हो रही है वायरल?

Claim Review :   वीडियो में दिखाया गया है कि ताइवान ने चीनी लड़ाकू विमानों को मार गिराया
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story