क्या स्क्रीनशॉट में दिख रहा ट्वीट पूर्व चीफ़ जस्टिस रंजन गोगोई ने किया है?

बूम ने अपनी पड़ताल में पाया की रंजन गोगोई ट्विटर पर मौजूद नहीं हैं | हमें उनके नाम से ऐसा कोई बयान न्यूज़ रिपोर्ट्स में भी नहीं मिला

भारत के पूर्व चीफ़ जस्टिस रंजन गोगोई की तस्वीर के साथ एक ट्वीट का स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है | दावा किया गया है की ये ट्वीट स्वयं गोगोई ने किया है | ट्वीट किये गए बयान का सार ये है की कोरोनावायरस महामारी से पहुंचे नुक्सान के मद्देनज़र भारत में अगले दस वर्षों तक चुनावों को रद्द कर देना चाहिए और नरेंद्र मोदी को ही प्रधानमंत्री नियुक्त करते रहना चाहिए |

इस ट्वीट के स्क्रीनशॉट को अलग अलग कैप्शंस के साथ शेयर किया गया है | काफ़ी सारे लोगो ने इसे गोगोई का असल ट्वीट मानते हुए इसकी अवहेलना की है |

यह भी पढ़ें: बियर पीती महिलाओं की पुरानी तस्वीर भाजपा से जोड़ कर फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल

ऐसे ही एक दावे का कुछ हिस्सा नीचे पढ़ें और बाक़ी पोस्ट्स में पढ़ें |

"भारत एक लोकताँत्रिक देश है यहाँ संविधान के मुताविक सरकार जनता द्वारा पाँच साल के लिए चुनी जाती है। कोरोना महामारी की आड़ में श्री रंजन गोगोई जी ने यह कहकर भारतीय संविधान व लोकतंत्र का अपमान किया है कि भारत में दस वर्ष तक चुनाव न हों और मोदी जी ही दस वर्ष तक भारत के प्रधानमंत्री बने रहें, इसके लिए श्री गोगोई ने चुनाव में पैसा खर्च होने की बात कही है( उनकी पोस्ट नीचे संलग्न )। सोचिए ये वही श्री रंजन गोगोई है जो अभी कुछ समय पहले तक भारत की सर्वोच्च अदालत के मुख्य न्यायाधीश पद से सेवानिवृत्त होकर भाजपा द्वारा राज्यसभा के साँसद मनोनीत किए गये है,इन्हे साँसद बनवाने के लिए भारत के राष्ट्रपति महोदय ने अपनी स्पेशल शक्तियों का उपयोग किया था।..." पूरी पोस्ट यहाँ पढ़ें|

पोस्ट्स नीचे देखें और इनके आर्काइव्ड वर्शन यहाँ और यहाँ देखें |


ट्विटर पर भी वायरल

यह भी पढ़ें: आटे की थैलियों में मैंने पैसे नहीं बांटें: आमिर खान

फ़ैक्ट चेक

बूम ने सबसे पहले उस ट्वीट के स्क्रीनशॉट में दिख रहे यूज़रनेम को खोजने की कोशिश की | खोज करने पर मालुम हुआ की यह हैंडल अब उपलब्ध नहीं है|


इसके बाद हमनें रंजन गोगोई का ट्विटर हैंडल भी खोजने की कोशिश की | हमें पता चला की रंजन गोगोई ट्विटर का इस्तेमाल नहीं करते हैं | हालांकि गोगोई के नाम से कुछ फ़र्ज़ी एकाउंट्स ट्विटर पर मौजूद हैं |

हमनें इसके बाद "Coronavirus + Ranjan Gogoi" और "ranjan gogoi on cancelling election" जैसे कीवर्ड्स का इस्तेमाल कर गूगल पर खोज की | बूम को ऐसा कोई बयान या लेख नहीं मिला जिसमें गोगोई ने यह या इस तरह चुनाव रद्द करने पर कुछ कहा हो |

यह दावा आया कहाँ से ?

हमनें कीवर्ड्स खोज की और पाया की पहले भाजपा सांसद साक्षी महाराज और बाद में अदाकारा कंगना रनौत की बहन रंगोली चंदेल ने ऐसे दावे किये थे |

साक्षी महाराज ने पिछले साल सामान्य चुनाव के पहले लोगो से कहा था की "इस बार जोर शोर से वोट डालें ताकि 2024 में चुनाव न करवाना पड़े|"

गौर करने की बात यह है की उन्होंने यह पिछले साल मार्च में कहा था | यह नोवेल कोरोनावायरस महामारी के आने से महीनों पुरानी बात है|

रंगोली चंदेल ने 12 अप्रैल को 2024 में होने वाले चुनाव रद्द करने और पैसे बचाने को लेकर ट्वीट किया | फ़्री प्रेस जर्नल के एक लेख के अनुसार उन्हें ट्विटर से चेतावनी भी दी थी | चंदेल का ट्विटर हैंडल फ़िलहाल सस्पेंडेड है |

फ़्री प्रेस जर्नल के अनुसार उन्होंने लिखा था: "हम भारी अर्थव्यवस्था संकट का सामना करने जा रहे हैं, मुझे यकीन है कि मोदी जी एक या दो साल में अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करेंगे | लेकिन हमें याद रखना चाहिए कि हम चुनावों पर लाखों करोड़ों रुपये खर्च करते हैं | एक राष्ट्र के रूप में हमें 2024 आम चुनावों को खारिज करना चाहिए और मोदी जी को हमें अगले कार्यकाल के लिए भी आगे बढ़ना चाहिए "|

ये लेख यहाँ पढ़ें और स्क्रीनशॉट नीचे देखें|


हालांकि चंदेल के ट्वीट और इस स्क्रीनशॉट में दिख रहें ट्वीट में फ़र्क है मगर दोनों ट्वीट्स का सार एक सा है |

Claim Review :   वायरल पोस्ट का दावा है कि पूर्व चीफ़ जस्टिस रंजन गोगोई ने आगामी दस सालों तक सामान्य चुनाव रद्द करने की बात कही है
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story