बियर पीती महिलाओं की पुरानी तस्वीर भाजपा से जोड़ कर फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल

बूम की पड़ताल में सामने आया की यह वायरल तस्वीरें जुलाई 2019 से इंटरनेट पर मौजूद हैं और इनका शराब की दुकानों के खुलने या लॉकडाउन से कोई सम्बन्ध नहीं

दो पुरानी तस्वीरों का एक सेट जिसमें दो महिलाओं को बियर पीते देखा जा सकता है, हाल ही में फ़र्ज़ी दावों के साथ फिर वायरल हो रहा है | तस्वीरों के इस सेट के साथ वायरल ये पोस्ट दावा करता है की यह तस्वीरें हाल ही में - शराब की दुकानों को मई 4, 2020 को खोले जाने पर - खींची गयी हैं और शराब का सेवन करती महिला भाजपा की नेत्री है |

बूम ने पाया की तस्वीरों का यह सेट जुलाई, 2019 से इंटरनेट पर है और यह हाल में किये गए दावों से कोई वास्ता नहीं रखता है |

वायरल पोस्ट दो तस्वीरों के सेट का उपयोग करती है जिसमे भगवा कमीज़ पहने दो लड़कियाँ डिस्पोज़ेबल ग्लास में बियर पीते देखी जा सकती हैं | पोस्ट के साथ लिखा कैप्शन कहता है: ठेके खुलते ही बीजेपी नेत्री का पहला रुझान आया धन्यवाद मोड़ी जी ठेके खुलवाने के लिए |"

हाल में जारी राष्ट्रीय-लॉकडाउन के चलते देशभर में सारी शराब की दुकानें मार्च 24 से बंद की गयी थी | पिछले सप्ताह लॉकडाउन के कड़े नियमों में नरमी बरतते हुए गृह मंत्रालय ने लॉकडाउन के तीसरे चरण में शराब की दुकानों को मई 4 से खोलने की इजाज़त दी थी | तक़रीबन पिछले 48 घंटों में न्यूज़ चैनलों पर ऐसी तस्वीरों और वीडियोज़ की भरमार लग गयी है जिनमें शराब के ठेकों के सामने लंबी कतारों में भीड़ उमड़ पड़ी है | हालांकि गृह मंत्रालय ने लोगों से अपील की थी वे सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का शराब खरीदते वक़्त सख़्ती से पालन करे | शराब की दुकानों को खोले जाने पर और जानकारी के लिए यहाँ पढ़े |

इस वायरल पोस्ट में महिलाओं की तस्वीरों को गलत संदर्भ में शेयर किया गया है अतएव बूम ने इन्हे ना दिखाने का निर्णय लिया है | आप इस पोस्ट को यहाँ देख सकते है और इसका आर्काइव वर्ज़न यहाँ पा सकते है | बिलकुल यही तस्वीरों का सेट इसी प्रकार के कैप्शन के साथ कई ट्विटर अकाउंट्स से भी ट्वीट कर वायरल हुआ है |




फ़ैक्ट चेक

बूम ने रिवर्स इमेज सर्च से पाया की तस्वीरों का यह सेट सोशल मीडिया पर जुलाई, 2019 से वायरल है |

उस दौरान इन तस्वीरों को इस कैप्शन के साथ शेयर किया गया: कावड यात्रा पर निकली साधुयी | रास्ते मे सोम रस पिते हुई..!! किंगफिशर ब्रांडेड ... अब कोई यह मत कहना कि बियर पी रही हैं |


कावड़ यात्रा एक सालाना तीर्थयात्रा है जिसमें भगवान शिव के भक्तों का जुलुस हरिद्वार और गौमुख जैसे धार्मिक स्थलों पर जा गंगाजल लाता है जिसे बाद में स्थानीय शिव मंदिरों में अर्पण किया जाता है |

बूम स्वंत्रत रूप से पुष्टि नहीं कर पाया की इन तस्वीरों को कहाँ से लिया गया है लेकिन हमारी जांच से यह साफ़ हुआ है की यह हाल में ली गयी तस्वीरें नहीं है | ना ही इनका शराब की दुकानों को लॉकडाउन में जारी कड़े नियमों में नरमी के चलते हाल में खोले जाने के वाकिये से कोई ताल्लुक है |

Updated On: 2020-05-06T21:23:43+05:30
Claim Review :  वायरल पोस्ट का दावा की शराब पीती महिला भाजपा की नेता है
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story