क्या फ़ेसबुक की पब्लिक पॉलिसी हेड आंखी दास ने तिरंगे वाला केक काटा है ?

बूम ने पाया कि तस्वीर में बेलारूस में भारतीय राजदूत संगीता बहादुर हैं, जिन्हें आंखी दास बताकर वायरल किया जा रहा है

सोशल मीडिया पर इन दिनों फ़ेसबुक की पब्लिक पॉलिसी हेड आंखी दास के नाम पर एक फ़र्ज़ी पोस्ट ज़ोरों से वायरल है | पोस्ट में एक महिला की तस्वीर है जो भारतीय ध्वज वाला केक काटते नज़र आ रहीं हैं और साथ में दावा किया जा रहा है कि महिला आंखी दास हैं और उन्होंने तिरंगे का अपमान किया है | तस्वीर में नज़र आ रही महिला दास नहीं बल्कि बेलारूस में भारतीय राजनयिक हैं, जो स्वतंत्रता दिवस के मौके पर केक काट रही हैं ।

वॉल स्ट्रीट जर्नल के एक आर्टिकल में जब से आंखी दास के कथित राजनैतिक लिंक बताये गए और फ़ेसबुक को घेरे में लिया गया तब से दास सुर्खियों में बनी हुई हैं। आर्टिकल में आरोप लगाया गया था कि फ़ेसबुक भारत में अपनी खुद की हेट-speech नीतियों का उल्लंघन कर रहा है। डब्लूएसजे ने बताया कि भारत में फ़ेसबुक के बिज़नेस पर कोई नुकसान न पहुंचे इसलिए दास ने कथित तौर पर भाजपा के सदस्यों की अभद्र भाषा के ख़िलाफ़ कार्यवाई करने से फ़ेसबुक को मना किया था।

बत्तखों के साथ मोदी की सालों पुरानी तस्वीरें महामारी के दौरान वायरल

एक फ़ेसबुक यूज़र ने फ़ोटो पोस्ट करते हुए लिखा कि 'देश का अपमान नहीं सहेगा हिंदुस्तान, फेसबुक की आंखी दास ने तिरंगे का केक बनाकर काटा '!


यहां देखें, और आर्काइव यहां देखें

फ़ेसबुक पर वायरल

तस्वीरों को फ़ेसबुक पर भ्रामक कैप्शन के साथ साझा किया गया |


फ़ैक्ट चेक

बूम ने पाया कि तस्वीरें बेलारूस के भारतीय दूतावास में भारत के 74 वें स्वतंत्रता दिवस के जश्न की हैं।

हमें बेलारूस गणराज्य में भारतीय राजदूत संगीता बहादुर की एक फेसबुक पोस्ट मिली, जिसमें दूतावास में स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम में उसी तिरंगे वाले केक के पास खड़े होने की तस्वीरें थीं।

16 अगस्त, 2020 को पोस्ट किए गए फ़ेसबुक में मिन्स्क के दूतावास में स्वतंत्रता दिवस के आयोजन की तस्वीरें थीं, जिसमें वही तिकोना केक देखा जा सकता है। पोस्ट में लिखा है, "बेलारूस के हालिया हालत के बीच हमने भारत का 74वां स्वतंत्रता दिवस मनाया। कार्यक्रम में ज़्यादा लोगों के आने की उम्मीद नहीं थी। लेकिन हमने भारतीय समुदाय के कई सारे लोगों को उपस्थित पाया। इसके अलावा, बेलारूस के भी कुछ नागरिक कार्यक्रम में पहुंचे थे।

आर्काइव यहां देखें |

बांग्लादेश में वृद्ध पर हुआ हमला, वीडियो भारत का बताकर वायरल

हमने पाया कि कुछ तस्वीरें फेसबुक पोस्ट से हटा दी गई थीं लेकिन आर्काइव देखने पर हमें एक तस्वीर मिली जिसमें संगीता बहादुर तिरंगे वाले केक के सामने खड़ी हुई हैं।


यहां देखें

बेलारूस में भारतीय दूतावास के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से 17 अगस्त 2020 को स्वतंत्रता दिवस की तस्वीरें ट्वीट की गयीं।

स्वतंत्रता दिवस के आयोजन की तस्वीर के साथ वायरल तस्वीर की तुलना करने पर हमने पाया कि दोनों तस्वीरों में भारतीय राजदूत मौजूद हैं। दोनों तस्वीरों में एक ही पोशाक पहने हुए उन्हें देखा जा सकता है।


बूम ने इस मामले पर संगीता बहादुर की प्रतिक्रिया के लिए उनसे संपर्क किया है, जैसे ही उनका जवाब मिलेगा उसे लेख में अपडेट कर दिया जायेगा।

कंगना रनौत ने इस्लाम पर आमिर खान का फ़र्ज़ी इंटरव्यू शेयर किया

Updated On: 2020-08-30T12:39:15+05:30
Claim Review :   फ़ेसबुक की पब्लिक पॉलिसी हेड आंखी दास ने भारतीय तिरंगे वाला केक काटकर देश का अपमान किया है
Claimed By :  Facebook Post
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story