एक विवाह के लिए नाशिक पुलिस की बधाई का वीडियो, मुंबई का बताकर किया गया शेयर

बूम ने पता लगाया की यह वीडियो नाशिक का है जहाँ पुलिस ने एक जोड़े को लॉकडाउन के चलते घर पर विवाह करने के लिए बधाइयाँ दी।

नाशिक पुलिस का एक जोड़े को कोविड-19 के कारण लॉकडाउन के चलते, घर पर विवाह करने के लिए बधाइयाँ देते हुए एक वीडियो, मुंबई का बताकर, मुंबई पुलिस को श्रेय दिया जा रहा है।

यह वीडियो क्लिप पुलिस और अन्य नागरिकों के बीच वायरल है जो इस जोड़े की सराहना कर रहे हैं। यह घटना ऐसे समय में हुई है जब पूरा देश 31 मई, 2020 तक कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन की स्थिति में है।

यह भी पढ़ें: रेल की पटरी पर जूठन खाते व्यक्ति के पुराने वीडियो को कांग्रेस ने कोरोना संकट से जोड़ कर ट्वीट किया

इस वायरल वीडियो में, विवाह के कपड़े पहने एक जोड़ा अपने घर की बाल्कनी से पुलिस वालों की तरफ़ देखता नज़र आता है और एक पुलिस कर्मचारी लाउडस्पीकर के माध्यम से मराठी में कहता सुनायी देता है "सबको पता चलना चाहिए की इस महिला का विवाह बिना कोई नियम तोड़े हुआ है। उसने अपने विवाह का कोई जश्न नहीं मनाया। मैं जानता हूँ लॉकडाउन ख़त्म होने के बाद आपके जीवन में अच्छे दिन आएँगे और आप सबके साथ विवाह का जश्न मना पाओगे। मुझे बुरा भी लग रहा है की आपको ऐसे स्थितियों में विवाह करना पड़ा। हम सब की ओर से आपको बधाई देने के लिए मैं अपने फ़ोन पर एक गाना बजाने की इच्छा रखता हूँ।" इसके बाद उन्होंने अपने फ़ोन में हिंदी फ़िल्म का गीत 'मुबारक हो तुम को यह शादी तुम्हारी' बजाया

इस क्लिप को एक फ़र्ज़ी कैप्शन 'मुंबई पुलिस का अनदेखा चेहरा' के साथ शेयर किया जा रहा है।

वीडियो देखने के लिए यहाँ और अर्काइव्ड के लिए यहाँ क्लिक करें।

फ़ेसबुक पर वायरल

इसी कैप्शन के साथ फ़ेसबुक पर ढूँढने पर पता चला की इस वीडियो को फ़र्ज़ी कैप्शन के साथ शेयर किया जा रहा था।


फ़ैक्ट चेक

पड़ताल करने पर बूम को पता चला की वीडियो नाशिक का है जहाँ एक जोड़े ने अपने घर पर ही एक छोटे से समारोह में विवाह किया और नाशिक पुलिस ने उनकी प्रशंसा की।

यही वीडियो पहले महाराष्ट्र के मुख्य मंत्री उद्धव ठाकरे ने भी ट्विटर पर पोस्ट करते हुआ कहा था "एक जोड़े ने बिना किसी नियम का उल्लंघन किए अपने घर पर ही विवाह करने का निर्णय लिया इसीलिए नाशिक पुलिस ने अपने तरीक़े से उनको बधाइयाँ दी।"

29 एप्रिल, 2020 को मराठी न्यूज़पेपर सकाळ ने इस घटना की रिपोर्टिंग में कहा था कि वर गुजरात से और वधु नाशिक से है और अशोक मार्ग पर उन्होंने कुछ परिवार जनो की उपस्थिति में विवाह किया जिसके उपरांत नाशिक पुलिस उनके घर के नीचे उन्हें बधाइयाँ देने पहुँची।

बूम ने नाशिक के पुलिस कमिशनर विश्वास नंगारे पाटिल से बात की जिन्होंने इस बात की पुष्टि की कि नाशिक पुलिस ने इस जोड़े के कृत्य को सराहने के लिए यह योजना बनायी थी।

"यह क़रीब 8 दिन पहले की बात है जब शहर में एक जोड़े ने सोशल डिस्टन्सिंग का पालन करते हुए विवाह किया था और नाशिक पुलिस भी इसमें सम्मिलित हुई थी।" पाटिल ने कहा।

इस रिपोर्ट के लिखे जाने के समय तक महाराष्ट्र में COVID - 19 के 50,000 से ज़्यादा पॉज़िटिव मामले और 1,577 मौतें हो चुकी हैं ।

यह भी पढ़ें: दिल्ली में हुई एक चोरी का वीडियो प्रवासी मज़दूरों पर फ़र्ज़ी आरोप के साथ वायरल


Claim Review :  पोस्ट के अनुसार दंपति को घर पर विवाह करने के लिए सराहने का वीडियो मुंबई पुलिस का है
Claimed By :  Facebook Posts
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story