मध्यप्रदेश कांग्रेस ने शिवराज सिंह चौहान की रैली का एडिटेड वीडियो शेयर किया

बूम ने पाया कि वायरल वीडियो में किया गया दावा कि चौहान की रैली में लोगों ने कमल नाथ के नाम के नारे लगाए थे, फ़र्ज़ी है |

मध्यप्रदेश कांग्रेस के ट्विटर हैंडल ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की रैली की एक क्लिप को फ़र्ज़ी दावे के साथ शेयर किया है। ट्वीट में कैप्शन के साथ दावा किया गया है कि चौहान के भाषण के दौरान भीड़ ने कांग्रेस नेता कमलनाथ का नाम लिया।

बूम ने 20 सितंबर को एम.पी. के मंदसौर में शिवराज सिंह चौहान की रैली के वीडियो को देखा। हमने पाया कि वायरल वीडियो को काटकर छेड़छाड़ की गयी है। ऑडियो में जो पूर्व सीएम कमलनाथ का नाम सुनाई दे रहा है, उसे जोड़ा गया है।

मध्यप्रदेश में मार्च में पूर्व कांग्रेसी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनके समर्थक विधायकों के पार्टी और पद छोड़ने के बाद खाली हुई सीटों पर उपचुनाव होने वाले हैं। सितंबर के अंत या अक्टूबर की शुरुआत में उपचुनाव होने की उम्मीद है।

12 सेकंड लंबे वीडियो में चौहान को मंच से बोलते हुए सुना जा सकता है। वह कहते हैं "और ये एक दूसरा सवाल और बताओ, कमल नाथ अच्छा है की शिवराज सिंह चौहान अच्छा है मुख्यमंत्री के रूप में...अरे ज़ोर से बताओ शिवराज की कमल नाथ" बैकग्राउंड में चौहान के बाद भीड़ से कमलनाथ का नाम सुना जा सकता है।

किसानों पर पुलिस लाठीचार्ज बताकर पुरानी तस्वीर फ़र्जी दावे के साथ वायरल

वीडियो को "मध्यप्रदेश उपचुनाव का परिणाम घोषित: मंदसौर के सुवासरा पहुँचे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जनता से पूछा कि मुख्यमंत्री के रूप में शिवराज चौहान अच्छा या कमलनाथ, जनता ने एक स्वर में कहा कमलनाथ। जनता खड़ी जिनके साथ, उनका नाम है कमलनाथ" कैप्शन के साथ शेयर किया गया है।


पोस्ट का आर्काइव वर्जन यहां देखें

वीडियो को कई फ़ेसबुक पेज पर उसी दावे के साथ शेयर किया गया है।

पोस्ट यहां देखें, आर्काइव यहां देखें

क्या डॉ आंबेडकर और उनकी पत्नी की तस्वीर के साथ कोलंबिया में एक बस चलाई गयी है?

फ़ैक्ट चेक

बूम को 20 सितंबर का यूट्यूब पर उसी रैली का एक 46 मिनट लंबा वीडियो मिला।

"मंदसौर जिले के सीतामऊ (सुवासरा) से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जनसभा का सीधा प्रसारण LIVE देखें" शीर्षक वाले इस वीडियो में चौहान को उनकी पार्टी के उम्मीदवार हरदीप सिंह डांग के लिए प्रचार करते हुए देखा जा सकता है, जो कांग्रेस के पूर्व विधायक थे। हरदीप सिंह इस साल 21 मार्च को पार्टी से इस्तीफा दे कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए थे।

वायरल वीडियो को 43.04 के टाइमस्टैम्प से क्लिप किया गया है।

चौहान को भीड़ से पूछते सुना जा सकता है "और ये एक दूसरा सवाल और बताओ, कमल नाथ अच्छा है की शिवराज सिंह चौहान अच्छा है मुख्यमंत्री के रूप में...अरे ज़ोर से बताओ शिवराज की कमल नाथ।"

बूम ने वीडियो को ध्यान से देखा और पाया कि रैली को संबोधित करते हुए चौहान ने कई बार सीधे भीड़ से बातचीत की। भीड़ ने बाकायदा तालियों से इसका जवाब दिया। वायरल क्लिप में भी चौहान कमलनाथ और उनके बीच बेहतर मुख्यमंत्री पर जनता से सवाल पूछते हैं, जिसके जवाब में भीड़ शिवराज सिंह का नाम पुकारती है।

नीचे वीडियो देखें

बूम ने यह भी पाया कि मध्य प्रदेश कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से शेयर की गई वीडियो क्लिप को मध्यप्रदेश भाजपा के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से कोट ट्वीट किया गया है, जिसमें कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए कैप्शन लिखा गया है कि 'तो सिर्फ़ आईपीएल नकली भीड़ के शोर का इस्तेमाल नहीं कर रहा है।'


मध्य प्रदेश बीजेपी के ट्वीट को कोट ट्वीट करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने लिखा कि "लगता है मध्यप्रदेश कांग्रेस की सोशल मीडिया टीम INC Political Lies (IPL) में उनके सब नेताओं को पीछे छोड़ चैम्पीयन बन कर ही दम लेगी..."


राजस्थान प्रोटेस्ट की पुरानी तस्वीर हरियाणा में किसान आंदोलन बताकर वायरल

Claim Review :   शिवराज सिंह चौहान ने जनता से पूछा कि मुख्यमंत्री के रूप में शिवराज चौहान अच्छा या कमलनाथ, जनता ने कहा कमलनाथ।
Claimed By :  MP Congress Twitter Handle
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story