क्या हिन्दू महिला बुर्का पहन कर सी.ए.ए का समर्थन कर रही है?

बूम ने पाया की यह तस्वीरें दो अलग-अलग महिलाओं की हैं जो फ़र्ज़ी दावों के साथ शेयर की जा रही हैं|

दो तस्वीरें वायरल हो रही हैं| एक में लड़की हिन्दू महासभा की राष्ट्रीय सचिव पूजा शकुन पांडेय द्वारा चाकू लेती नज़र आती है, वहीँ दूसरी तस्वीर में एक महिला बुर्का पहन नागरिकता संशोधन अधिनियम के समर्थन में प्लेकार्ड पकड़े खड़ी है| दावा किया जा रहा है की दोनों महिलाएं एक हैं|

आपको बता दें की यह फ़र्ज़ी दावे हैं और दोनों महिलाएं अलग हैं|

बूम ने पाया की बुर्का पहन सी.ए.ए का समर्थन कर रही महिला अश्मिता खातून हैं, जो भारतीय जनता पार्टी के आसनसोल ज़िले के भारतीय जनता क़मग़र महासंघ की जनरल सेक्रेटरी है| इनके अलावा दूसरी लड़की, आगरा से एक छात्रा है|

यह भी पढ़ें: सीएए विरोधी प्रदर्शन में मुस्लिम राजनेता ने हिंदू का रुप रखा?

यह तस्वीरें तब से वायरल है जब से संसद के दोनों सदनों में नागरिकता संशोधन अधिनियम पारित हुआ है| विरोधियों का कहना है की यह अधिनियम धार्मिक आधार पर भेदभावपूर्ण है और संविधान के मूल्यों के ख़िलाफ भी| पोस्ट नीचे देखें|


यह भी पढ़ें: क्या पुलिस को रोक रही जामिया के छात्रा राहुल गाँधी से सम्बंधित है? फ़ैक्ट चेक

फ़ैक्ट चेक

पहली तस्वीर


बूम ने दोनों तस्वीरों को रिवर्स इमेज पर डाला और पाया की पहली तस्वीर मई 2019 में आगरा में ली गयी थी| तब जब हिन्दू महासभा की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूजा शकुन पांडेय ने दसवीं और बाहरवीं के बच्चों को चाकू बांटे थे| इसके बाद इस कदम की काफी आलोचना भी हुई थी| आपको बता दें की पांडेय पहले भी विवाद में फसीं थीं जब उन्होंने महात्मा गाँधी के पुतले पर गोली चला कर उनकी मौत को दोहराया था|

यह भी पढ़ें: जामिया शूटिंग में घायल सीएए विरोध प्रदर्शनकारी की चोट नकली नहीं है

हालांकि तस्वीर में दिख रही लड़की का नाम पता नहीं चल सका चूँकि वह रिपोर्टों के अनुसार नाबालिग थी|

दूसरी तस्वीर

इस तस्वीर के रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें अश्मिता खातून की यही तस्वीर मिली जो फेसबुक पेज 'बीजेपी महिला मोर्चा डब्लूवी' पर पोस्ट की गयी थी| यह तस्वीर दिसंबर 2019 में ली गयी थी जब देश भर में सी.ए.ए के ख़िलाफ प्रदर्शन चल रहे थे| जिसके जवाब में लोगों ने इस अधिनियम के समर्थन में भी रैलियां निकाली| हालांकि कुछ जगहों, जैसे शाहीन बाग़, लखनऊ में घंटा घर और जामिया मिलिया इस्लामिया में अब भी प्रदर्शन जारी हैं|

यह तस्वीर ऐसे ही एक रैली से है जो पश्चिम बंगाल के आसनसोल में भारतीय जनता पार्टी द्वारा निकाली गयी थी|

हमें अश्मिता खातून की फेसबुक प्रोफाइल भी मिली जिसमें इस वायरल तस्वीर के अलावा कई तस्वीरें हैं जो इसी आयोजन में ली गयी हैं| अश्मिता भारतीय जनता क़मग़र महासंघ की जनरल सेक्रेटरी हैं, और उनकी प्रोफाइल पर कई लोगों के साथ सेल्फी और अन्य तस्वीरें हैं|

(खातून की तस्वीरें जो उनकी फेसबुक प्रोफाइल पर डाली गयी हैं| वायरल तस्वीर और इस तस्वीरों में कपड़े समान हैं|)


Claim Review :   तस्वीर में दिख रही दोनों महिलाएं एक है
Claimed By :  Facebook
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story