क्या बिहार में लोग 'गो बैक मोदी' नारा लिखकर विरोध जता रहे हैं?

बूम ने पाया कि तस्वीर 11 जनवरी 2020 को पीएम मोदी की दो दिवसीय कोलकाता यात्रा के विरोध में एंटी सीएए प्रोटेस्ट के दौरान ली गयी थी।

कोलकाता में नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ख़िलाफ़ सड़क पर लिखे एक नारे की तस्वीर फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल हो रही है। तस्वीर शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि बिहार के लोग विधानसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी का विरोध कर रहे हैं।

बूम ने पाया कि तस्वीर 11 जनवरी 2020 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की दो दिवसीय कोलकाता यात्रा के विरोध में एंटी-सीएए प्रोटेस्ट के दौरान ली गयी थी।

तस्वीर को आगामी बिहार विधानसभा चुनाव के सन्दर्भ में शेयर किया जा रहा है, जहां मोदी के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी अपने गठबंधन सहयोगी जनता दल (यूनाइटेड) के साथ सत्ता में वापसी की कोशिश में लगी हुई है।

गौरतलब है कि बिहार में चुनाव के लिए मतदान तीन चरणों में होंगे, पहला चरण 28 अक्टूबर, दूसरा 3 नवंबर और आख़िरी चरण 7 नवंबर को होगा जबकि चुनाव के नतीजे 10 नवंबर को आएंगे।

तस्वीर में देखा जा सकता है कि रात के समय प्रदर्शनकारी सड़क पर अंग्रेज़ी भाषा के विशाल अक्षरों में 'गो बैक मोदी' लिख रहे हैं।

नीतीश कुमार के काफ़िले पर पथराव का ये वीडियो कब का है?

तस्वीर को अब इस दावे के साथ शेयर किया जा रहा है कि बिहार में मतदाता मोदी सरकार से अपनी नाराज़गी व्यक्त कर रहे हैं। हैशटैग "#GoBackModi" को ट्वीट्स और फ़ेसबुक पोस्ट्स में इस्तेमाल किया जा रहा है। तस्वीर तमिल कैप्शन "इन बिहार ..." के साथ भी शेयर की गयी है।

तस्वीर को ट्विटर और फ़ेसबुक पर कैप्शन "बिहार इज़ ऑन फ़ायर मोड #GoBackModi" के साथ भी शेयर किया जा रहा है।

आर्काइव वर्ज़न यहां देखें

आर्काइव वर्ज़न यहां देखें


आर्काइव वर्ज़न यहां देखें

Myntra द्वारा नहीं बनाया गया है भगवान कृष्ण और द्रौपदी का यह कार्टून

फ़ैक्ट चेक

बूम ने तस्वीर की सत्यता जांचने के लिए इसे गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया तो 11 जनवरी 2020 का एक ट्वीट मिला, जिसमें कहा गया था कि यह तस्वीर कोलकाता के एस्प्लेनेड में क्लिक की गई थी।

तस्वीर में, एक इमारत की पहचान मेट्रो चैनल कंट्रोल पोस्ट के रूप में की जा सकती है जो हारे स्ट्रीट पुलिस स्टेशन के अधिकार क्षेत्र में आती है।


"मेट्रो चैनल कंट्रोल पोस्ट हारे स्ट्रीट पुलिस स्टेशन" कीवर्ड के साथ गूगल पर सर्च करने पर हमें 3 फ़रवरी, 2019 की कई मीडिया रिपोर्ट्स मिली, जिसमें पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उसी स्थान पर सीबीआई के ख़िलाफ़ धरने पर बैठी थीं। इससे यह बात तो ज़रूर साफ़ होती है कि तस्वीर कोलकता से है। एनडीटीवी की रिपोर्ट में कहा गया है कि "पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कोलकाता में एस्प्लेनेड के पास मेट्रो चैनल इलाके में धरने पर बैठने चली गई हैं।"

बूम को वायरल तस्वीर गेटी इमेजज़ के फ़रवरी 2019 प्रोटेस्ट के आर्काइव में मिली। मेट्रो चैनल कंट्रोल पोस्ट हारे स्ट्रीट पुलिस स्टेशन सीएम बनर्जी के पीछे इमारत पर लिखा दिखाई देता है।


बूम ने मेट्रो चैनल पुलिस स्टेशन को गूगल मैप पर देखा, जिसे यहाँ देखा जा सकता है।


नाइजीरिया में सुशांत के लिए न्याय की मांग करती यह तस्वीर फ़र्ज़ी है

Updated On: 2020-10-26T16:30:14+05:30
Claim Review :   लोग बिहार में नरेंद्र मोदी के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।
Claimed By :  Social Media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story