जी नहीं, ये मक्का-मदीना में देखा गया शिवलिंग नहीं है

बूम ने पाया की यह काबा का एक कोना है जिसे रुक्न-ए-यमनी कहते हैं, इसका स्पर्श पवित्र माना जाता है

एक तस्वीर महीनों से सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है जिसके साथ एक फ़र्ज़ी दावा किया जा रहा है | तस्वीर में मुस्लिमों से घिरा एक पत्थर देखा जा सकता है | इसके साथ दावा है की यह एक शिवलिंग है जो मक्का मदीना में पहली बार लोगों को दिखाया गया | बूम ने पता लगाया कि ये दावा फ़र्ज़ी है और तस्वीर में दिख रहा पत्थर दरअसल काबा का एक कोना है जिसे रुक्न-ए-यमनी कहते हैं | इसे इस्लाम में पवित्र माना जाता है |

यह तस्वीर पिछले कई महीनों से वायरल हो रही है और दावा हर वक़्त एक जैसा किया गया है | तस्वीर के साथ या तो कैप्शन लिखा होता है या किसी पोस्ट का स्क्रीनशॉट वायरल होता है | कैप्शन में लिखा है: "इतिहास में पहली बार मक्का मदीना का शिवलिंग दिखया गया |कोई भी चुके नहीं हर हर महादेव लिखने से |"

यह भी पढ़ें: बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान और धर्मगुरु तारिक़ जमील की छः साल पुरानी तस्वीर हुई वायरल

नीचे पोस्ट देखें और इसका अर्काइव्ड वर्शन यहाँ देखें |


यह भी पढ़ें: बृहन्मुम्बई महानगर पालिका द्वारा जारी दो साल पुरानी गर्म पानी पीने की हिदायत हाल ही में हुई वायरल

फ़ैक्टचेक

बूम ने इस तस्वीर को रिवर्स इमेज सर्च किया और पाया कि ये दरअसल रुक्न-ए-यमनी के नाम से जाना जाता है |

रुक्न-ए-यमनी या यमन का कोना असल में काबा कि दीवार का वो कोना है जो उसके दक्षिण-पश्चिमी छोर पर स्थित है | काबा कि परिक्रमा करते वक़्त इसका स्पर्श करना पवित्र मन जाता है |


इसके बाद हमनें रुक्न-ए-यमनी कीवर्ड्स के साथ खोज की और पाया की कई यूट्यूब चैनल हैं जहाँ वीडियोज़ में इसी जगह को दर्शाया गया है| यह वीडियोज़ पिछले कई सालों के दौरान अपलोड किये गए हैं | कहीं भी इसके शिवलिंग होने जैसी बात नहीं लिखी है |


आगे खोज करने पर हमें सी.आई.सी सऊदी अरब नामक एक वेरीफ़ाइड ट्विटर हैंडल मिला | यह सेंटर ऑफ़ इंटरनेशनल कम्युनिकेशन का हैंडल है जो सऊदी अरब के अंतराष्ट्रीय संबंधों में मुख्य भूमिका निभाता है | इस हैंडल पर हमें एक मैप मिला जिसमें इस कोने की अहमियत बताई गयी है | वायरल तस्वीर में दिख रहा पत्थर शिवलिंग नहीं है बल्क़ि इसे येमेनी कोना कहा जाता है | इस कोने के अलावा तीन और कोनों की अहमियत के बारे में भी इस मैप में बताया गया है|


अगर द गार्डियन की इस रिपोर्ट की माने तो इस साल की हज यात्रा भी कोरोना वायरस महामारी की वजह से स्थगित कर दी जाएगी |

Claim Review :   वायरल पोस्ट ये दावा करता है कि मक्का मदीना में पहली बार दिखाया गया शिवलिंग
Claimed By :  Facebook posts
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story