ढोंगी नागा साधू की पिटाई का पुराना वीडियो फिर हुआ वायरल

बूम ने पाया की वर्ष 2018 के इस वीडियो में दिख रहा व्यक्ति साधू नहीं बल्कि बहरूपिया हैं जिसे लोगो ने एक लड़की के साथ छेड़खानी करने पर पीटा था

फ़ेसबुक पर विचलित कर देने वाला एक वीडियो काफ़ी वायरल हो रहा है | लगभग पैंतालीस सेकंड लम्बे इस क्लिप में कुछ लोग एक साधी जैसे दिखने वाले व्यक्ति को मारते और धक्का देते देखें जा सकते हैं | वायरल वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है की लोगो ने इस अघोरी साधू को निवस्त्र घूमने की वजह से पीटा है | बूम ने अपनी पड़ताल में पता लगाया की ये घटना दरअसल दो वर्ष पुरानी है और लोगों ने इस व्यक्ति की धुनाई इसलिए की थी क्यूंकि वो एक महिला के साथ अभद्रता करते पकड़ा गया था |

वीडियो में साधु की वेशभूषा वाले एक व्यक्ति को कुछ लोग डंडों से मारते दिख रहें हैं | साथ में लिखा कैप्शन कहता है: एक अघोडी के निर्वस्त्र घूमने पर एक युवक ने की मानवता को सर्मसर, क्या उसे ये भी न पता कि अघोडी निर्वस्त्र ही रहते है, युवक ने बत्तमीजी का नाम देकर उसे बालो से पकड़ कर और डंडो से पीटा।

यह वीडियो फ़र्ज़ी दावों के साथ ऐसे समय पर वायरल हो रहा है जब साधुओं पर हमले के कई मामले देश के अलग अलग हिस्सों रे रिपोर्ट की गयी हैं | बूम ने ऐसे कई फ़र्ज़ी दावे पहले भी फ़ैक्ट चेक किये हैं |

वृन्दावन में पुजारी पर हुए हमले को दिया जा रहा है साम्प्रदायिक कोण

वायरल पोस्ट को नीचे देखे और आर्काइव्ड वर्ज़न यहाँ देखिये |

हमें ट्विटर पर भी वायरल वीडियो के पोस्ट्स मिले |


फ़ैक्ट चेक

हमने फेसबुक पर कीवर्ड सर्च कर के पता लगाया की इस वीडियो के कुछ फ़्रेम्स की तस्वीरें करीब 2018 से वायरल है | हमारे सामने ऐसी कई पोस्ट्स आयी जिनमें इन फ़्रेम्स की तस्वीरों के सेट को शेयर किया गया है | ऐसी ही एक पोस्ट अगस्त 2018 की मिली जिसमें यह दावा किया गया है की देहरादून, उत्तराखंड में एक मुस्लिम युवक ने नागा साधु की पिटाई की |

बूम ने यह पाया की इस पोस्ट में दी गयी दो तसवीरें वायरल वीडियो में दिखाए गए दृश्यों से बिलकुल मेल खाती हैं |

फ़ैक्ट चेक: क्या जयपुर में साधू के चिलम से 300 लोग हुए कोरोना पॉज़िटिव?

दो वर्ष पूर्व शेयर किये गए इस फ़ेसबुक पोस्ट का कैप्शन था: देवों और ऋषि मुनियों की भूमि उत्तराखंड के देहरादून में एक नागा साधू को एक मुस्लिम युवक बेरहमी से पिटता रहा | बाबा:"मुझे क्यों मार रहे हो, मुझे माफ़ कर दो...वो दया की भिख मांगता रहा, भीड़ तमाशबीन बनी रही !! तसवीर और वीडियो बनाना याद है, इंसानियत भूल गए !

इस पोस्ट को नीचे देखे और आर्काइव्ड वर्ज़न यहाँ देखिये |

इस पोस्ट में लिखे कैप्शन से आइडिया लेते हुए हमने " देहरादून ", " नागा साधू " जैसे शब्दों के साथ कीवर्ड सर्च किया |

हमें सितम्बर 2018 में प्रकाशित कई मीडिया रिपोर्ट्स मिलें जिनमें इसी वीडियो के फ़्रेम्स के स्क्रीनशॉट्स थें | इन रिपोर्ट्स से इस घटना का पूरा सच सामने आया |

रिपोर्ट्स के मुताबिक 24 अगस्त 2018 को घटित ये प्रकरण देहरादून से तो है मगर वीडियो/तस्वीरों में दिख रहा व्यक्ति नागा साधू नहीं बल्कि नागा साधू के वेशभूषा धारण किये एक ढोंगी है | आगे रिपोर्ट्स में ये भी लिखा हैं की लोगों ने इस व्यक्ति की तब पिटाई कर दी थी जब वो किसी लड़की के साथ छेड़खानी करने की कोशिश कर रहा था | इसके बारे में और यहाँ पढ़े |


बूम ने ट्विटर पर भी कीवर्ड सर्च करके पता लगाया की देहरादून की इस घटना के बारे में सितंबर 02, 2018 को देहरादून पुलिस के आधिकारिक अकाउंट से ट्वीट कर सूचना दी गयी थी |

देहरादून पुलिस के इस ट्वीट के मुताबिक साधू के वेश में दिख रहा व्यक्ति सुशील नाथ है जिसने देहरादून के पटेलनगर इलाके में एक घर में घुस कर एक लड़की के साथ छेड़खानी की थी जिसके बाद लड़की के परिजन और स्थानीय लोग नाथ को पकड़ कर पटेलनगर थाने ले जहां जहाँ इस पर कानूनी धाराओं को पंजीकृत किया गया |

ट्वीट नीचे देखे |


बूम ने यह भी देखा की वायरल वीडियो के विषय में किये गए फ़र्ज़ी दावों का देहरादून पुलिस ने ट्वीट्स के माध्यम से खंडन किया था |

पुलिस के इस ट्वीट को नीचे देखे |


Claim Review :   वायरल वीडियो दावा करता हैं की एक नागा साधू को निर्वस्त्र रहने पर लोगों द्वारा पीटा गया
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story