भारत-चीन सैन्य अभ्यास की पुरानी तस्वीर फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल

बूम ने पाया कि यह चीन और भारत द्वारा आयोजित संयुक्त अभ्यास की तस्वीर है जो लद्दाख में अक्टूबर 2016 में ली गयी थी

भारत और चीन के बीच लद्दाख से लगी सीमा पर पिछले एक हफ़्ते से तनावपूर्ण स्थिति बनी हुई है। इस बीच सोशल मीडिया पर आधी-अधूरी जानकारी और फ़ेक खबरें ज़ोर पकड़ रहीं हैं । हाल में फ़ेसबुक पर एक तस्वीर शेयर की गयी और साथ ही दावा किया जा रहा है कि भारत और चीन के सैनिकों के बीच भारी संघर्ष हुआ है।

बूम ने पाया कि वायरल तस्वीर पुरानी है और साथ में किया जा रहा दावा फ़र्ज़ी है । यह भारत-चीन मानवीय सहायता और आपदा राहत के एक संयुक्त अभ्यास की तस्वीर है जो लद्दाख में अक्टूबर 2016 में आयोजित की गई थी।

भारत-चीन टकराव: असंबंधित तस्वीरों में चीनी सैनिकों के शव होने का दावा

पिछले महीने 29-30 अगस्त के बीच कि रात में पांगोंग त्सो झील से दक्षिण की ओर स्थित चुशुल सब-सेक्टर में भारत और चीन के सैनिकों के बीच गंभीर झड़प हुई थी | लदाख में स्थित सीमा भारत और चीन के बीच विवाद का गढ़ बानी हुई है | यह तस्वीर भी फ़र्ज़ी दावों के साथ इसी मामले के बीच वायरल की गयी है |

रिफ़त वानी नामक एक फ़ेसबुक यूज़र ने 8 सितंबर को तस्वीर पोस्ट करते हुए लिखा कि "ब्रेकिंग न्यूज़... पूर्वी लद्दाख में भारी संघर्ष।" तस्वीर में देखा जा सकता है कि कुछ सैनिक बंकर को घेरे हुए हैं, और सीढ़ी चढ़कर बंकर में छुपे सैनिकों/लोगों को निकालने का प्रयास कर रहे हैं।




इस पोस्ट का आर्काइव्ड वर्शन यहाँ देखें | फेसबुक पर कई यूज़र्स इस तस्वीर को फ़र्ज़ी दावों के साथ शेयर कर रहे हैं | पोस्ट्स यहां और यहां देखें इनके आर्काइव यहां देखें |

ताइवान ने चीनी जेट मार गिराने वाली भारतीय मीडिया रिपोर्टों का खंडन किया

फ़ैक्ट चेक

वायरल तस्वीर के दावों की पड़ताल करने के लिए हमने तस्वीर को रिवर्स इमेज सर्च में खोजा। इस तस्वीर के साथ हमें कई लेख मिले। साथ ही भारतीय सेना के उत्तरी कमान के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर यही तस्वीर मिली। उत्तरी कमान ने 20 अक्तूबर 2016 को तस्वीर ट्वीट करते हुए लिखा कि "लद्दाख में सैनिकों द्वारा आयोजित संयुक्त चीन-भारतीय मानवीय सहायता और आपदा राहत अभ्यास।"

इंडियन एक्सप्रेस में 19 अक्टूबर 2016 को छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक़ मानवीय सहायता और आपदा राहत (HADR) अभ्यास के दौरान दोनों देशों के सैनिकों ने बचाव कार्य, चिकित्सा सहायता प्रदान करने के कार्य किए। भारत और चीन के बीच संयुक्त अभ्यास की इस श्रृंखला का उद्देश्य दोनों देशों के सीमावर्ती क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने, शांति और सौहार्द बनाए रखने का प्रयास करना था। इस श्रंखला की पहली एक्सरसाइज फरवरी 2016 में हुई थी |

हमें इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट में भारतीय सेना के उत्तरी कमान के आधिकारिक ट्विटर हैंडल द्वारा पोस्ट की गयी एक तस्वीर मिली जो वायरल तस्वीर के साथ ही ट्वीट की गयी थी |


बूम को भारत-चीन के बीच अक्तूबर 2016 को हुए मानवीय सहायता और आपदा राहत अभ्यास से जुड़ी कई मीडिया रिपोर्ट्स मिली। रेडिफ़.कॉम की रिपोर्ट के मुताबिक यह अभ्यास वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के भारतीय क्षेत्र में हुआ था। इस दौरान भारतीय दल का नेतृत्व ब्रिगेडियर आर.एस रमन और चीनी सेना का नेतृत्व सीनियर कर्नल फान जून ने किया।

इंडिया टुडे की ख़बर के अनुसार भारत और चीन के सेनाओं ने 19 अक्टूबर 2016 को दूसरे संयुक्त सैन्य अभ्यास में भाग लिया। यह संयुक्त अभ्यास लद्दाख के पूर्वी क्षेत्र में आयोजित किया गया। इस सैन्य अभ्यास को 'चीन-भारत सहयोग-2016' नाम दिया गया। इस रिपोर्ट्स से यह पुष्टि की जा सकती है की वायरल तस्वीर 4 साल पुराने भारत-चीन सैन्य अभ्यास की है।

अमित शाह की फ़ोटोशॉप की हुई तस्वीर क्यों हो रही है वायरल?

Updated On: 2020-09-10T13:18:11+05:30
Claim Review :   हाल में लद्दाख में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हुई झड़प की तस्वीर
Claimed By :  Facebook Users
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story