आंध्र प्रदेश में 2017 की एक घटना को केरला का बताकर किया वायरल

बूम ने पाया कि घटना आंध्र प्रदेश के प्रकाशम ज़िले की है, जब एक लड़की के साथ उसके एक्स बॉयफ्रेंड ने बदतमीज़ी की थी ।

एक वीडियो वायरल है जिसमें लड़का एक लड़की - कथित तौर पर पूर्व प्रेमिका - को मार रहा है, पकड़ रहा है और बदतमीज़ी कर रहा है । जबकि लड़की की दोस्त उसे बचाने की कोशिश कर रही है, लड़के का दोस्त वीडियो बना रहा है ।

यह वीडियो फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल है कि घटना केरला में हुई थी जहाँ हिंदुओं के अल्पसंख्यक होने की वजह से उनपर हिंसा होती है । बूम ने पाया कि यह आंध्र प्रदेश के प्रकाशम ज़िले में स्थित कन्नीगिरी गांव की है जहाँ लड़का अपनी पूर्व प्रेमिका से जबर्दस्ती कर रहा था ।

पुलिस ने इसमें साम्प्रदायिक कोण होने से साफ़ इंकार कर दिया है ।

नहीं, तस्वीर में दिख रही महिला भाजपा नेता कपिल मिश्रा की बहन नहीं है

यह वीडियो फ़ेसबुक और ट्विटर पर वायरल है जिसे फ़र्ज़ी तरीके से साम्प्रदायिक रंग देने कि कोशिश की जा रही है और इसे केरला की घटना बताया जा रहा है । कैप्शन में लिखा है: "केरल में हो रही महिलाओं से छेड़छाड़ का वीडियो यह कोई पहला वीडियो वायरल नहीं इस प्रकार की घटना हर दिन घटित होती है इसका मुख्य उद्देश्य हिन्दुओं का अल्पसंख्यक होना|"

इसके देहला देने वाले ग्राफ़िक्स की वजह से हम इसे लेख में नहीं जोड़ रहे हैं ।




बांग्लादेश में वृद्ध पर हुआ हमला, वीडियो भारत का बताकर वायरल

फ़ैक्ट चेक

हमनें यह सुनिश्चित किया कि दोनों लड़के और पीढ़ित तेलुगु में बात कर रहे थे तो यह वीडियो केरला का नहीं है ।

इसके बाद हमनें रिवर्स इमेज सर्च की और पाया कि घटना आंध्र प्रदेश की है । यह घटना प्रकाशम ज़िले में हुई थी जिसमें तीन आरोपी गिरफ़्तार हुए थे और इसमें कोई साम्प्रदायिक कोण नहीं है ।

एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के अनुसार घटना कन्नीगिरी गांव में हुई थी जो प्रकाशम ज़िले में है । आरोपी पीढ़ित का पूर्व प्रेमी था जिसने उसे दबोचा और शारीरिक अत्याचार किया । उसके दोस्त ने वीडियो बनाया और सोशल मीडिया पर डाल दिया ।


रिपोर्ट के मुताबिक़ घटना अगस्त 2017 में हुई थी पर सामने सिंतबर में आई । रिपोर्ट के मुताबिक: "पुलिस कहती है कि लड़की अपनी एक दोस्त के साथ आरोपी, बी साईं, से मिलने एक मंदिर गयी थी । लड़की लड़के को करीब एक साल से जानती थी ।"

कन्नीगिरी के सर्किल इंस्पेक्टर ने भी इस मामले के सांप्रदायिक कोण होने से इनकार किया है । यहाँ टाइम्स ऑफ़ इंडिया की रिपोर्ट पढ़ें । इस मामले में हमें न्यूज़ मिनट की एक रिपोर्ट मिली जिसमें बताया गया था की तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है |

Claim Review :   वीडियो में केरला में एक मुस्लिम हिन्दू लड़की से ग़लत बर्ताव कर रहा है ।
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story