पाँच साल पुराना पाकिस्तान का वीडियो शाहीन बाग़ और लॉकडाउन से जोड़ कर किया गया वायरल

बूम की जांच में यह सामने आया की वायरल वीडियो पाकिस्तान में 2015 में हुई एक घटना का है और इसका शाहीन बाग़ या हालिया लॉकडाउन से कोई संबंद्ध नहीं है

पांच वर्ष पुराना एक वीडियो जो की पाकिस्तान में शूट किया गया था अब सोशल मीडिया पर शाहीन बाग़ और फ़िलहाल चल रहे लॉकडाउन से जोड़ कर वायरल किया जा रहा है |

वायरल वीडियो में बुर्क़ा पहने महिलाओं को एक मकान की पहली मंज़िल से उतरते देखा जा सकता है | पोस्ट के साथ लिखे कैप्शन में दावा किया गया है: "बुरखे की आड़ में सरेआम धंधा करती पकडी गयीं शाहीन बाग की शेरनियां "| यह पोस्ट ऐसे समय पर वायरल हो रहा है जब सोशल मीडिया पर शाहीन बाग़ को अलग अलग हैशटैग्स के साथ ट्रेंड किया जा रहा है |

बूम ने पता लगाया की असल वीडियो पांच साल पहले पाकिस्तान के करांची शहर में बनाया गया था | इसका सम्बन्धः ना तो शाहीन बाग़ से है ना लॉकडाउन से |

लगभग नब्बे सेकंड लम्बे इस वीडियो क्लिप में बुर्क़ा पहने कई औरतों को एक मकान की पहली मंज़िल से बच के निकलते देखा जा सकता है | मकान किसी बाज़ार में स्थित है, देखने से ऐसा प्रतीत होता है | मकान के नीचे जमा लोग महिलाओं की उतरने में मदद कर रहे हैं |

वायरल पोस्ट को नीचे देखे और इसका आर्काइव वर्ज़न यहाँ पाए |


यही वीडियो और भी अलग-अलग दावों के साथ वायरल किया जा रहा है |

दावा: लॉकडाउन में चढ़ा मुस्लिम औरतों पर शॉपिंग का भूत कुछ इस तरह उतरा |


ये भी पढ़ें बियर पीती महिलाओं की पुरानी तस्वीर भाजपा से जोड़ कर फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल

फ़ैक्ट चेक

बूम ने इस वीडियो के एक स्क्रीनशॉट को रिवर्स इमेज सर्च किया तो हमें यही वीडियो 'डेलीमोशन' नामक वेबसाइट पर मिला | ये वीडियो तक़रीबन 5 वर्ष पूर्व अपलोड किया गया था | यह वीडियो वायरल पोस्ट के वीडियो से पूरी तरह मेल खाता है | इस वेबसाइट पर अपलोड किये गए वीडियो का विवरण इस प्रकार दिया गया है - देखिये एफ.आई.ऐ. ने मसाज पार्लर पर रेड की, खड्डा मार्किट कराची पाकिस्तान |


इस कैप्शन से ये पता चलता है की यह वीडियो पाकिस्तान से है |

बावजूद इसके हमने यूट्यूब पर " एफआईऐ रेड मसाज पार्लर कराची " कीवर्ड सर्च किया और हमें 'पाकिस्तान करंट अफ़ेयर्स' नामक चैनल पर जून 30, 2015 को अपलोड किया गया वही वीडियो मिला | इस वीडियो के शीर्षक में लिखा है: देह व्यापार करती महिलाये कराची में एफआईऐ की रेड के बाद कोठे से भागती हुई |


बूम को ठीक यही वीडियो फ़ेसबुक पर भी मिला | इसे जून 13, 2015 को अपलोड किया गया था | वीडियो के साथ यह कैप्शन था: खड्डा मार्किट में ऍफ़आईए छापा |

ये भी पढ़ें नहीं, "आरएसएस के गुंडों" ने कश्मीरी मुस्लिम लड़की को 'सेहरी' खिलाने पर हिन्दू महिला को नहीं मारा


मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से हमें पता चला की पाकिस्तान की संघीय जांच एजेंसी यानी ऍफ़आईए द्वारा देह व्यापर से जुड़े मसलों पर करवाई होती रही है और करांची का खड्डा मार्किट ऐसी गतिविधियों के लिए कुख़्यात रहा है |

रिपोर्ट्स यहाँ और यहाँ पढ़े |


Claim Review :   पोस्ट का दावा है की शाहीन बाग़ की मुस्लिम महिलाएं देह व्यापार में पकड़ी गयी
Claimed By :  Facebook posts
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story