दो साल पुरानी यह फ़ोटो बदायूं गैंगरेप और हत्या के मामले से जोड़कर वायरल

बूम ने पाया कि वायरल तस्वीर साल 2018 में उत्तर प्रदेश के उन्नाव में हुई एक हत्या की है।

सोशल मीडिया पर एक लड़की के मृत शरीर को उसके परिजनों द्वारा घेरे हुए दिखाती एक तस्वीर फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल है। तस्वीर को बदायूं की घटना से जोड़कर शेयर किया जा रहा है, जहां 3 जनवरी को एक 50 वर्षीय महिला का एक पुजारी और दो अन्य लोगों द्वारा सामूहिक बलात्कार किया गया था और उसकी निर्मम हत्या कर दी गई थी।

बूम ने पाया कि वायरल तस्वीर एक ऐसी घटना से है, जहां 24 दिसंबर, 2018 को यूपी के उन्नाव में अपने घर के पास एक खेत में एक 20 वर्षीय महिला की हत्या कर दी गई थी। हमने बदायूं पुलिस से बात की और पुष्टि की कि तस्वीर ज़िले में हाल ही में हुए सामूहिक बलात्कार की घटना से संबंधित नहीं है। एक पत्रकार रणविजय सिंह, जिन्होंने 2018 में उन्नाव हत्या मामले को कवर किया था, ने बूम को बताया कि वायरल तस्वीर में लड़की की हत्या उसके पड़ोसी ने की थी।

हाल ही में यूपी के बदायूं से दिल दहला देने वाले गैंगरेप और मर्डर केस की पृष्ठभूमि में यह तस्वीर वायरल हो रही है। मंदिर के पुजारी और दो अन्य युवकों ने 3 जनवरी को 50 वर्षीय आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के साथ बलात्कार किया था। पुलिस ने मामले में पुजारी समेत बाक़ी दोनों युवकों को गिरफ़्तार कर लिया है। एक समाचार रिपोर्ट के अनुसार, उघैती पुलिस स्टेशन के स्टेशन हाउस अधिकारी को 'मामले में ढिलाई' बरतने के लिए निलंबित कर दिया गया है।

भारत के चार राज्यों में बर्ड फ़्लू: यह बातें आपको ज़रूर जाननी चाहिए

फ़ेसबुक पर तस्वीर शेयर करते हुए एक यूज़र ने कैप्शन में लिखा, "बदायूं गैंगरेप-मर्डर केस, मंदिर गई 50 वर्षीय महिला को गैंगरेप के बाद मर्डर कर दिया गया। गैंगरेप के दौरान जो भयावहता की गई शायद राक्षस भी कांप जाता। लेकिन महंत और उसके चेले दानव निकले। बदायूं पुलिस 2 दिन तक मामला छिपाए रही। ये हैवानियत की पराकाष्ठा है #UpMeJangalraj

नोट : यह तस्वीर विक्षुब्ध प्रकृति में है, रीडर्स को विवेक की सलाह दी जाती है।


पोस्ट यहां देखें और आर्काइव वर्ज़न यहां देखें

बोरिस जॉनसन ने किसान आंदोलन के कारण दौरा रद्द नहीं किया है

फ़ैक्ट चेक

बूम ने वायरल तस्वीर पर एक रिवर्स इमेज सर्च किया और इसे 25 दिसंबर, 2018 को न्यूज़ वेबसाइट बोलता हिंदुस्तान पर प्रकाशित पाया।

बोलता हिंदुस्तान के लेख में कहा गया है कि यूपी के उन्नाव की एक 20 वर्षीय लड़की की 24 दिसंबर को एक खेत में हत्या कर दी गई थी। रिपोर्ट से हिंट लेते हुए कि हमने कीवर्ड्स खोज की और हमें इस घटना पर कई अन्य रिपोर्ट मिली।

ट्रैक्टर से स्टंट करते इस व्यक्ति का वीडियो किसान आंदोलन से नहीं है

26 दिसंबर, 2018 को गाँव कनेक्शन में प्रकाशित एक रिपोर्ट, इस मामले के महत्वपूर्ण विवरण पर रौशनी डालती है। रिपोर्ट के मुताबिक, उन्नाव के सेवक खेड़ा गांव की मूल निवासी लड़की की सतीश यादव उर्फ मुलायम नाम के युवक ने हत्या कर दी थी, जिसे बाद में गिरफ़्तार कर लिया गया था।

बूम ने हत्या के मामले को कवर करने वाले रिपोर्टर रणविजय सिंह से संपर्क किया, जिन्होंने हमें बताया कि वायरल तस्वीर उसी घटना से है।

गांव कनेक्शन के यूट्यूब चैनल पर अपलोड किया गया एक वीडियो मामले पर अधिक जानकारी देता है।

बूम ने बदायूं पुलिस से भी संपर्क किया, जिसमें पुलिस ने पुष्टि की कि वायरल तस्वीर ज़िले में हाल की घटना से संबंधित नहीं है। हमने उन्नाव पुलिस से भी संपर्क किया है और प्रतिक्रिया मिलने पर रिपोर्ट अपडेट कर दी जाएगी।

क्या कोविड-19 टीके लिंग में लगेंगे? सी.एन.एन का फ़र्ज़ी स्क्रीनशॉट वायरल

Claim Review :   बदायूं में एक 50 वर्षीय महिला के साथ सामूहिक बलात्कार और हत्या।
Claimed By :  Facebook Users
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story