उड़ीसा की घटना का वीडियो बंगाल चुनाव के बाद की हिंसा के रूप में वायरल

यह वीडियो बीजेपी और सीपीआई (एम) सहित विपक्षी दलों के कार्यकर्ताओं पर राज्य में चुनाव के बाद की हिंसा की ख़बरों की पृष्ठभूमि में दिखाया गया है.

जनवरी 2021 का एक वीडियो, जिसमें गुस्साई भीड़ द्वारा एक पुलिस वैन पर हमला करते और एक पुलिस अधिकारी को दौड़ाते हुए दिखाया गया, फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल है. वीडियो शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो पश्चिम बंगाल (West Bengal) में विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद की हिंसा (Post Poll Violence) दिखाती है.

वीडियो एक फ़र्ज़ी दावे के साथ शेयर किया गया है कि आल इंडिया तृणमूल कांग्रेस (TMC) के कार्यकर्ता पश्चिम बंगाल पुलिस पर हमला कर रहे हैं. भारतीय जनता पार्टी (BJP) और सीपीआई (एम) सहित विपक्षी दलों के कार्यकर्ताओं पर राज्य में चुनाव के बाद की हिंसा की ख़बरों की पृष्ठभूमि में शेयर किया जा रहा है, जिसमें टीएमसी पर उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं पर हिंसक हमलों का आरोप लगाया गया है. ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली टीएमसी ने 2 मई 2021 को 212 विधानसभा सीटों पर जीत दर्ज की है.

रिलायंस के नाम के साथ ऑक्सीजन टैंकर का वीडियो फ़र्ज़ी दावे से वायरल

वायरल क्लिप में, कई लोगों को एक पुलिस वैन पर और एक पुलिस अधिकारी पर हमला करते और फिर लाठी से उसका पीछा करते देखा जा सकता है. क्लिप को कैप्शन के साथ साझा किया जा रहा है, "पुलिसकर्मी स्थिति को नियंत्रित करने के लिए आये थे और फिर पुलिस पर टीएमसी के गुंडों ने हमला किया.

पोस्ट का आर्काइव वर्ज़न यहां देखें.

पोस्ट का आर्काइव वर्ज़न यहां देखें.

बंदूकों और तलवारों के साथ तृणमूल की जीत का जश्न दिखाता ये वीडियो एडिटेड है

फ़ैक्ट चेक

बूम ने पाया कि वायरल क्लिप उड़ीसा के भद्रक में जनवरी 2021 की एक घटना की है, जहां स्थानीय लोगों ने एक कथित संदिग्ध व्यक्ति की मौत के बाद पुलिस वैन पर हमला और उसे जला दिया था, जब उसका शव गाँव के एक तालाब में तैरता हुआ मिला था.

हमने ट्विटर पोस्ट्स पर कई जवाब देखे जिसमें कहा गया है कि वीडियो उड़ीसा से है, ना कि पश्चिम बंगाल से. 'पुलिस पर हमला उड़ीसा ' जैसे शब्दों के साथ कीवर्ड के साथ खोज करने पर हमें इस घटना पर कई समाचार रिपोर्ट मिले.

कलिंगा टीवी के मुताबिक़, मृतक की पहचान ज़िले के नयानंद पंचायत के तहत हटुरी गांव के बापी महलिक के रूप में की गई है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि स्थानीय लोगों के अनुसार, महालिक अपनी बहन से मिलने गया था, जब पुलिस की टीम उससे पुरानी एक घटना के बारे में पूछताछ करने के लिए वहाँ पहुँची. पुलिस को देखकर महालिक ने कथित तौर पर भागने की कोशिश की और पुलिस ने तब उसका पीछा किया. मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि भागते समय महालिक पास के तालाब में गिर गया और डूब कर मर गया. इस घटना से गुस्साए स्थानीय लोगों ने अलीनगर स्क्वायर में पुलिस वाहन को आग लगा दी.

जनवरी 2021 में अपलोड की गई घटना पर स्थानीय समाचार रिपोर्ट में उसी स्थान और पुलिस वैन को देख सकते हैं.


वायरल वीडियो और उड़ीसा के समाचार वीडियो के बीच तुलना करने पर पुलिस अधिकारी पर हमला करने सहित कई समानताएं दिखाई देती हैं.


गाय के गोबर से बने उपले में देसी गाय का घी डालकर ऑक्सीजन पैदा करने का सच क्या है?

Claim Review :   वीडियो पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद की हिंसा दिखाती है.
Claimed By :  Social Media Users
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story