क्या TIME मैगज़ीन ने योगी आदित्यनाथ के कोविड-19 प्रबंधन की प्रशंसा की है?

हिंदी अख़बार पत्रिका, न्यूज़ चैनल्स में ज़ी न्यूज़, ए.बी.पी समेत कई न्यूज़ संस्थानों ने पेड कंटेंट को योगी आदित्यनाथ के ऊपर मैगज़ीन के प्रशंसात्मक लेख के रूप में प्रकाशित किया |

टाइम मैगज़ीन में तीन पन्नो का एक भुगतान किया हुआ कंटेंट यानी पेड कंटेंट भारतीय न्यूज़ संस्थानों ने वास्तविक न्यूज़ समझकर प्रकाशित किया है | इन संस्थानों में ज़ी न्यूज़, पत्रिका, ए.बी.पी गंगा, न्यूज़ 18 यु.पी और टीवी9 भारतवर्ष शामिल हैं |

इस पेड फ़ीचर में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली उत्तर प्रदेश सरकार की तारीफ़ की गयी है | यह तारीफ़ कोरोनावायरस महामारी पर काबू पाने को लेकर है जिसे ज़ी न्यूज़ (उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड) समेत कई नेटिज़ेंस भी वास्तविक न्यूज़ मान बैठे हैं | नेटिज़ेंस दावा कर रहे हैं कि टाइम मैगज़ीन ने योगी आदित्यनाथ पर एक पूरा लेख लिखा है |

बूम ने टाइम मैगज़ीन के डायरेक्टर ऑफ़ कम्युनिकेशन्स से संपर्क किया | एक ईमेल जवाब में उन्होंने बताया कि यह पूरा कंटेंट प्रायोजित यानी स्पॉन्सर्ड है |

फ़ैक्ट चेक : क्या किसान आंदोलन की यह बुज़ुर्ग महिला शाहीन बाग़ की 'दादी' है?

उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड के प्रमुख हिंदी मीडिया संस्थानों ने इस कंटेंट पर लेख प्रकाशित किए | लेखों में बताया कि टाइम मैगज़ीन ने महामारी को उत्कृष्ट तरीके से सम्भाँले के लिए योगी आदित्यनाथ द्वारा उत्तर प्रदेश में किए गए कामों को लेकर एक लेख प्रकाशित किया है |

नीचे ऐसे ही कुछ न्यूज़ संस्थानों के स्क्रीनशॉट देखें |


यहां आर्टिकल पढ़ें और आर्काइव यहां देखें |

ज़ी न्यूज़ के उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड एडिशन ने इसपर एक वीडियो स्टोरी की है |

आर्काइव यहां देखें |

इसी तरह पत्रिका का लेख नीचे देखें और इसका आर्काइव यहां देखें |


टीवी9 भारतवर्ष ने इसपर टेलीविज़न स्टोरी की जिसका लिंक यहां मौजूद है | इसी तरह न्यूज़18 और ए.बी.पी गंगा ने भी इसपर स्टोरी की | इनके आर्काइव यहां और यहां देखें |

यही पेड कंटेंट को वास्तविक ख़बर समझते हुए इसे सोशल मीडिया पर भी शेयर किया गया है |




यहां और यहां आर्काइव देखें |

क्या पाकिस्तान की संसद में 'मोदी मोदी' के नारे लगाए गए ?

फ़ैक्ट चेक

बूम ने टाइम मैगज़ीन के डायरेक्टर ऑफ़ कम्युनिकेशन्स से संपर्क किया | एक ईमेल जवाब में उन्होंने बताया कि यह एक स्पॉन्सर्ड कंटेंट है और इस आर्टिकल के पेज में ऊपरी ओर लिखा है 'कंटेंट फ्रॉम उत्तर प्रदेश' |

तीन पन्नों की इस सामग्री के दो पन्नों पर एक खंडन लिखा है कि यह सामग्री उत्तर प्रदेश से है | इससे साफ़ होता है कि यह भुगतान की हुई सामग्री है |

यह खंडन नीचे देखें |

मैगज़ीन के 16वे पृष्ठ पर डिस्क्लेमर


मैगज़ीन के 18वे पेज पर डिस्क्लेमर

इसके अलावा इस फ़ीचर में कोई भी लेखक का नाम नहीं है और ना ही यह मैगज़ीन के इंडेक्स में दिखाई देता है | मैगज़ीन ने लाइफ इन्शुरन्स कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया यानी LIC का भी एक पेड कंटेंट प्रकाशित किया है | ऊपर भी लिखा है 'कंटेंट फ्रॉम LIC' |

यह टाइम मैगज़ीन के साउथ एशिया डबल इशू (दिसंबर 21 - 28, 2020) में प्रकाशित है | इसमें यु.एस प्रेजिडेंट-चयनित जो बिडेन और वाईस प्रेजिडेंट-चयनित कमला हैरिस 2020 के 'पर्सन ऑफ़ द ईयर' के रूप में टाइम के कवर पर हैं |

किसानों के साथ केंद्र की अगली बैठक 8 जनवरी को; जाने आज क्या हुआ

Claim Review :   टाइम मैगज़ीन ने उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कोविड-19 को रोकने को लेकर एक प्रशंसात्मक लेख लिखा है |
Claimed By :  Zee News, ABP Ganga, News18 UP, TV9 Bharatvarsh, Patrika UP
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story