FactCheck: स्मृति ईरानी के भाषण का हिस्सा भ्रामक दावे के साथ वायरल

बूम ने पाया कि वीडियो का एक छोटा हिस्सा काटकर गलत संदर्भ के साथ वायरल किया गया.

केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है जिसके माध्यम से दावा किया जा रहा है कि स्मृति ईरानी कह रही है कि यूपी (UP) में अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav)की सरकार आ रही है.

25 सेकंड के इस वीडियो में स्मृति ईरानी को कहते सुना जा सकता है 'आपको लगता होगा प्रत्याशी हैंडपंप लेकर घूम रहा है, मैं साईकिल की बात कर रही हूं, लेकिन आरएलडी को अगर वोट पड़ा, समर्थन मिला तो लाल टोपी वालों की सरकार होगी…।'.

बूम ने पाया की ये 25 सेकंड का वीडियो एक लम्बे वीडियो का हिस्सा है जिसे काटकर गलत संदर्भ के साथ प्रचारित किया जा रहा है. अत: वीडियो के साथ किया जा रहा दावा भ्रामक है.

आगामी चुनाव से जोड़कर सालभर पुराना पश्चिम बंगाल का वीडियो शेयर किया गया

ट्विटर पर एक यूज़र जीतू सैनी गोलू (Jeetu Saini Golu) ने वीडियो को पोस्ट किया है। गोलू ने वीडियो के कैप्शन में लिखा है कि 'स्मृति ईरानी ने भी स्वीकार किया कि आ रहे है श्री अखिलेश'.

ट्वीट का आर्काइव लिंक यहाँ है.

नहीं, कर्नाटका के शिमोगा में भारतीय तिरंगा हटाकर भगवा झंडा नहीं लहराया गया है

इसके अलावा एक फ़ेसबूक यूज़र ने Shi Vam Yadav भी इस वीडियो को 'स्मृति ईरानी ने भी स्वीकार किया कि आ रहे है श्री अखिलेश ' कैप्शन के साथ ही पोस्ट किया.


फ़ैक्ट चेक

बूम ने जब संबंधित कीवर्ड के साथ इंटरनेट पर सर्च किया तो कई खबरें सामने आयीं. asianetnews ने इस खबर को कवर किया है.

उसने लिखा है 'स्मृति ईरानी ने छपरौली विधानसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार सहेन्द्र सिंह रमाला के लिए प्रचार किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि वह हर उस रामभक्त के लिए वोट मांगने आई हैं, जिसे सपा सरकार ने मौत के घाट उतार दिया था. आपको लगता होगा कि प्रत्याशी हैंडपंप लेकर घूम रहा है और वह सपा की बात कर रही हैं. अगर रालोद को वोट पड़ा तो सपा की सरकार आएगी. औरतें सपा—रालोद की सरकार नहीं बनने देंगी'.


बूम ने पूरा वीडियो खोजा और उसे पूरा सुना.

स्मृति ईरानी कह रही हैं, 'समाजवादी पार्टी के नेताओं से जब पूछा गया कि निर्दोष राम भक्तों पर गोलियां चलवाया क्यों, तो कहा कि अगर मारना होता तो और मारते। इसलिए आज सहेन्द्र सिंह जी के लिए मात्र आज वोट मांगने नही आई हूं। हर उस रामभक्त के लिए वोट मांगने आई हूं, जिनको सपा की सरकार ने मौत के घाट उतारने का दुस्साहस किया। आपको लगता होगा प्रत्याशी हैंडपंप लेकर घूम रहा है, मैं साईकिल की बात कर रही हूं, लेकिन आरएलडी को अगर वोट पड़ा, समर्थन मिला तो लाल टोपी वालों की सरकार होगी…और भाभियां कह रही हैं नहीं बनने देंगे. औरतों ने कह दिया, नहीं बनने देंगे. भाइयों का क्या कहना है, आज वो सुनने आई हूं.'

वीडियो को 6 फरवरी को News24 ने ट्वीट किया है.

क्या बिजनौर में SP-RLD के प्रत्याशी की रैली में लगे 'पाकिस्तान ज़िंदाबाद' के नारे? फ़ैक्ट चेक

Updated On: 2022-02-10T13:21:02+05:30
Claim :   स्मृति ईरानी ने भी स्वीकार किया कि आ रहे है श्री अखिलेश
Claimed By :  Social media users
Fact Check :  Misleading
Show Full Article
Next Story
Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors.
Please consider supporting us by disabling your ad blocker. Please reload after ad blocker is disabled.