क्या विदेश मंत्री एस जयशंकर ने जी 7 सम्मलेन के दौरान क्वारंटाइन तोड़ा है?

बूम ने पाया कि वीडियो में किए गए दावे फ़र्ज़ी हैं - जब जयशंकर ने ब्लिंकन और पटेल से मुलाकात की, यह बैठकें भारतीय प्रतिनिधियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने से पहले हुई थीं.

ट्विटर पर हाल ही में एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें दावा किया गया है कि भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर (Foreign Minister S Jaishankar) ने हाल ही में जी 7 शिखर सम्मेलन (G7 summit) में कुछ भारतीय प्रतिनिधियों के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद ख़ुद को क्वारंटाइन (Quarantine) करने से इनकार कर दिया. वीडियो के एक हिस्से का यह भी दावा है कि शिखर सम्मेलन के दौरान जयशंकर ने अमेरिका के सचिव एंटनी ब्लिंकन (Antony Blinken) और ब्रिटिश गृह सचिव प्रीति पटेल (Preeti Patel) से मुलाक़ात करने के लिए आइसोलेशन के मानदंडों को तोड़ दिया।

बूम ने पाया कि वीडियो में किए गए दावे फ़र्ज़ी हैं - जब जयशंकर ने ब्लिंकन और पटेल से मुलाकात की, यह बैठकें भारतीय प्रतिनिधियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने से पहले हुई थीं. हमने यह भी पाया कि वीडियो के उस हिस्से को Sky News की एक वीडियो रिपोर्ट से निकालकर एडिट किया गया है ताकि दर्शकों को भ्रमित किया जा सके कि यह Sky News के कवरेज का हिस्सा है.

कोरोना संकट: कैसे काम करेगी डी.आर.डी.ओ की दवा 2-DG

ट्विटर यूज़र ने वीडियो शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा कि "भारतीय जी 7 में लापरवाही बरतते हैं क्योंकि उनके पीएम भारत में व्यवहार करते हैं ... भारतीय टीम का बहुत अपमान हुआ है और उन्हें अगले महीनों की बैठक में भाग नहीं लेने की सलाह दी गई है."


चूंकि, ट्वीट डिलीट किया जा चुका है, ऐसे में आप ट्वीट का आर्काइव वर्ज़न यहां देख सकते हैं.

बूम ने पाया कि वीडियो को सबसे पहले सिख फ़ेडरेशन यूके ने ट्विटर पर शेयर किया था.

आर्काइव वर्ज़न यहां देखें.

ऑक्सीजन टैंकर पर लगे रिलायंस स्टीकर का वीडियो फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल

फ़ैक्ट चेक

ट्विटर यूज़र @iraniShenaz1958 द्वारा शेयर किया गया वीडियो ब्रिटिश न्यूज़ चैनल Sky News द्वारा एक न्यूज़ सेगमेंट के साथ शुरू हुआ, जिसमें हाल ही में जी 7 शिखर सम्मेलन की बात की गई थी, जिसमें जयशंकर ने कुछ भारतीय प्रतिनिधियों के साथ भाग लिया था.


वीडियो के ऊपरी दाएं कोने पर हमें सिख फ़ेडरेशन यूके का लोगो मिला.


वायरल वीडियो में 1.03 के समयावधि के बाद से, हमने देखा कि नैरेशन की आवाज़ और प्रस्तुति शैली समाचार सेगमेंट के पिछले हिस्सों से पूरी तरह से बदल जाती है - वायस ओवर अलग है, और यह नियमित वीडियो कवरेज के बजाय तस्वीरें दिखाता है.

इस बीच नैरेटर का दावा है कि जयशंकर ने अपने प्रतिनिधियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने बावजूद आइसोलेशन का पालन करने से इनकार कर दिया और ब्लिंकन और पटेल से मिलने के लिए गए.

क्या दिल्ली के डीडीयू हॉस्पिटल में ऑक्सीजन बर्बाद किया जा रहा है? फ़ैक्ट चेक

इस सेगमेंट के दौरान, हम Sky News का लोगो नहीं देख सकते थे, लेकिन सिख फेडरेशन यूके का लोगो अभी भी दिखाई दे रहा था.

बूम ने G7 शिखर सम्मेलन के स्काई न्यूज के कवरेज के माध्यम से देखा तो हमें वीडियो के पहले भाग में दिखाया गया न्यूज़ सेगमेंट मिला.

Sky News की रिपोर्ट में, हम उस हिस्से को खोजने में असमर्थ थे, जिसमें जयशंकर की क्वारंटाइन तोड़ने के बारे में वायरल दावे किये गए थे. यह वॉयस ओवर और प्रस्तुति शैली में अचानक बदलाव के साथ हमें विश्वास दिलाता है कि वीडियो के उस हिस्से को स्काई न्यूज़ की एक वीडियो रिपोर्ट से निकालकर एडिट किया गया है ताकि दर्शकों को भ्रमित किया जा सके कि यह Sky News के कवरेज का हिस्सा है.

इसके अलावा, शिखर सम्मेलन की न्यूज़ रिपोर्ट स्पष्ट करती है कि जब जयशंकर और उनके प्रतिनिधिमंडल के तीन सदस्य 5 मई को आइसोलेशन में गए, तो वे 3 मई को ब्लिंकन और पटेल से मुलाकात कर चुके थे. इसमें यह भी कहा गया है कि जयशंकर क्वारंटाइन में होने के कारण शिखर सम्मेलन में वर्चुअली शामिल हुए थे. ऐसे में ब्लिंकन और पटेल से मुलाकात करने के लिए जयशंकर का क्वारंटाइन तोड़ने वाला दावा फ़र्ज़ी है.

मास्क के बिना एक वर्चुअल सम्मेलन में बैठे जयशंकर की तस्वीर सही है, और खुद जयशंकर ने इसे ट्वीट किया था.

तस्वीर में राहुल और सोनिया गांधी के साथ दिख रहा शख़्स नवनीत कालरा नहीं है

Claim :   भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने जी 7 शिखर सम्मेलन के दौरान विदेशी प्रतिनिधियों से मिलने के लिए क्वारंटाइन तोड़ा
Claimed By :  Twitter Users
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story
Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors.
Please consider supporting us by disabling your ad blocker. Please reload after ad blocker is disabled.