अमेरिका के सबसे अमीर आदमी जॉन फ़ोर्ड ने इस्लाम अपनाया है? फ़ैक्ट-चेक

सोशल मीडिया पर एक व्यक्ति की वायरल तस्वीर के साथ दावा है कि जॉन फ़ोर्ड ने इस्लाम क़ुबूल कर लिया है

फ़ेसबुक पर एक व्यक्ति की तस्वीर को शेयर कर दावा किया जा रहा है कि वह अमेरिका का सबसे अमीर आदमी जॉन फ़ोर्ड है और उसने इस्लाम धर्म अपना लिया है. तस्वीरों में वह व्यक्ति भावुक होकर आँसू पोंछता हुआ दिख रहा है. इस तस्वीर को इस्लाम से जुड़े तमाम पेजों में हज़ारों बार शेयर किया जा चुका है.

एक पेज पर इसे शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा गया है,"अमेरिका के सबसे अमीर आदमी जॉन फोर्ड के पास 190 अमेरिकी चैनल हैं.आज इस ने ईसाई धर्म छोड़कर. इस्लाम धर्म अपना लिया."

क्या न्यूज़24 ने अखिलेश यादव से माफ़ी माँगी? फ़ैक्ट-चेक




पोस्ट यहां, यहां, यहां, यहां देखें

यह तस्वीर ट्विटर पर भी इसी दावे के साथ वायरल है.

America के सबसे अमीर आदमी John Ford ने Islam अपना लिया है?

बूम ने वायरल दावे की पड़ताल के लिये सबसे पहले क्लेम से जुड़े कई कीवर्ड सर्च किये लेकिन इस तरह की कोई भी ख़बर हमें नहीं मिली. हमने वायरल तस्वीरों की सच्चाई जानने के लिये इसे Yandex रिवर्स इमेज सर्च किया तो तुर्की भाषा में एक न्यूज़ आर्टिकल मिला जिसमें वायरल तस्वीर को कवर इमेज की तरह प्रयोग किया गया था.

बिहार में लड़की पर चाकू से हमले का वीडियो 'लव जिहाद' से जोड़कर वायरल

यहाँ से हमें वायरल तस्वीर का संदर्भ पता चला. 2018 की इस ख़बर के मुताबिक़ सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें एक अमेरिकी व्यक्ति इस्लाम धर्म अपनाता है और उसका वीडियो इस दावे से वायरल होता है कि वह अमेरिकी सेना का पदाधिकारी है.


बूम ने यहाँ से हिंट लेते हुए गूगल कीवर्ड सर्च किया तो Khaleej times और The Tribune की खबरें हमें मिलीं जिसमें इस वायरल तस्वीर के बारे में जानकारी दी थी.

ख़बर की हेडलाइन में लिखा है, "वीडियो: ओमान में इस्लाम कबूल करते ही भावुक हो गया अमेरिकी शख़्स"


ख़बर के मुताबिक़ ओमान में एक अमेरिकी व्यक्ति ने इस्लाम धर्म क़ुबूल किया है जिसका वीडियो इस दावे से वायरल हुआ कि वह अमेरिकी सेना का पदाधिकारी है. इस आर्टिकल में वो वायरल वीडियो भी था जिससे ये स्क्रीनशॉट लिये गये थे.

इंडिया गेट पर स्वतंत्रता सेनानियों के नाम अंकित होने का दावा ग़लत है

यूट्यूब पर ये वीडियो मई 2018 को अपलोड किया गया है जिसमें 40 सेकेंड के स्टांप पर वह व्यक्ति दिखाई देता है जिसके साथ अन्य मुस्लिम व्यक्ति दिखाई देते हैं.



हमने "John Ford" के बारे में जानने के लिये कुछ कीवर्ड्स से गूगल सर्च किया. एक अमेरिकी समाचार आउटलेट Variety के अनुसार, जॉन फ़ोर्ड ने 2019 में NPACT के महाप्रबंधक के पद से इस्तीफ़ा दिया था. एनपीएसीटी एक व्यापार संगठन है जो मनोरंजन सामग्री से संबंधित उत्पादनकरता है. इस संगठन में 100 से अधिक सदस्य कंपनियां हैं.


बूम ने Reelscreen नामक वेबसाइट पर Ford के पोर्टफोलियो को देखा जिसमें उन विभिन्न मीडिया संगठनों की सूची है, जिनके लिए उन्होंने काम किया है. वेबसाइट के मुताबिक़, "फोर्ड ने 2007 से 2009 के अंत तक डिस्कवरी चैनल के अध्यक्ष और जीएम के रूप में कार्य किया, डिस्कवरी के सैन्य चैनल और डिस्कवरी टाइम्स चैनल के अध्यक्ष और महाप्रबंधक के रूप में भी कार्य किया है.

वह 2003-07 से नेशनल ज्योग्राफ़िक चैनल के लिए ईवीपी, प्रोग्रामिंग और प्रोडक्शन हेड भी थे और उससे पहले, डिस्कवरी कम्युनिकेशंस में 13 साल तक काम किया, टीएलसी को फिर से लॉन्च और हेड किया, डिस्कवरी हेल्थ चैनल लॉन्च किया, और डिस्कवरी नेटवर्क के लिए भी लंबे समय तक काम किया. बूम को कहीं भी ये जानकारी नहीं मिली कि वे 190 अमेरिकी चैनलों के मालिक हैं जैसा कि दावा किया जा रहा है.

तमिलनाडु में शोरूम से चोरी आभूषणों की बरामदगी का वीडियो फ़र्ज़ी दावे से वायरल

John Ford के सबसे अमीर आदमी होने का दावा भी ग़लत है. नीचे Forbes का 'The 10 richest people in America from 2010-2021' वीडियो है जिसमें उनका नाम कहीं भी नहीं है.


Claim :   अमेरिका के सबसे अमीर आदमी जॉन फोर्ड के पास 190 अमेरिकी चैनल हैं.आज इस ने ईसाई धर्म छोड़कर. इस्लाम धर्म अपना लिया
Claimed By :  social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story
Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors.
Please consider supporting us by disabling your ad blocker. Please reload after ad blocker is disabled.