पुलिसकर्मियों को सीसीटीवी कैमरा तोड़ते दिखाता है यह वीडियो कब का है?

दावा है की किसान आंदोलन के दौरान इस घटना को मीडिया में नहीं दिखाया गया है.

किसान आंदोलन के दौरान 26-27 जनवरी 2021 को दिल्ली पुलिस और किसानों में टकराव हुआ. इसके बाद एक वीडियो वायरल है जिसमें दो पुलिसकर्मी एक सीसीटीवी कैमरा तोड़ रहे हैं. दावा है कि किसान आंदोलन के दौरान इस घटना को मीडिया में नहीं दिखाया गया है.

बूम ने पाया कि वायरल हो रहा वीडियो पिछले साल 26 फ़रवरी की एक घटना दिखाता है. यह कथित तौर पर पुलिस द्वारा उत्तरपूर्वी दिल्ली में खुरेजी इलाके में एक सीसीटीवी को तोड़ते दिखाता है. तब वहां नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ़ प्रदर्शन हो रहे थे. पुलिस ने 26 फ़रवरी 2020 को प्रदर्शनकारियों को इस इलाके से हटाया था.

किसान रैली: पत्रकारों पर हमले की एक जैसी कहानी कहते ट्विटर हैंडल का सच

नहीं, यह तस्वीर किसान रैली से संबंधित नहीं है, वायरल दावा भ्रामक है

हाल ही में किसान आंदोलन तनावपूर्ण हो गए हैं. पिछले कई महीनों से प्रदर्शन कर रहे किसानों ने 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस परेड के साथ ही साथ दिल्ली में ट्रैक्टर परेड की. इसी दौरान कुछ किसानों और पुलिसकर्मियों के बीच गहमा-गहमी हुई. किसानों यूनियनों में कुछ यूनियंस ने प्रदर्शन बंद किया पर कई अब भी जारी हैं. इसी बीच भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने प्रदर्शन न रोकने का निर्णय भी लिया है. यहां पढ़ें.

वायरल हो रहे वीडियो के साथ फ़र्ज़ी दावा किया जा रहा है कि, "मीडिया आपको यह नहीं दिखाएगा. #GodiMedia #FarmersProtest #TractorRally"

नीचे ट्विटर पोस्ट देखें और इसका आर्काइव वर्शन यहां देखें.


'दिल्ली पुलिस लट्ठ बजाओ' का नारा लगाते लोगों की यह वीडियो पुरानी है

फ़ैक्ट चेक

बूम ने इस वीडियो के एक फ़्रेम को रिवर्स इमेज सर्च पर डाला. हमें 27 फ़रवरी 2020 को प्रकाशित एडिटरजी की एक वीडियो रिपोर्ट मिली.

इस रिपोर्ट में यही वीडियो था जो अब फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल है. रिपोर्ट के मुताबिक़ घटना खुरेजी, दिल्ली, में हुई थी. वहां पुलिस नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ़ प्रदर्शन कर रहे लोगों को हटा रही थी और उसी दौरान यह वीडियो वायरल हुआ था.


इसके आगे खोज करने पर हमें कई न्यूज़ रिपोर्ट्स मिली जो वीडियो की वास्तविकता बताती हैं. इस वीडियो का किसान आंदोलन से कोई सम्बन्ध नहीं है.

द क्विंट की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि, "उत्तरपूर्वी दिल्ली के खुरेजी में प्रदर्शनस्थल पर दिल्ली पुलिस कथित तौर पर एक सीसीटीवी कैमरा तोड़ रही है. खुरेजी का यह प्रदर्शनस्थल पुलिस ने 26 फ़रवरी 2020 को खाली करवाया था." इस रिपोर्ट में वायरल वीडियो का एक स्क्रीनशॉट इस्तेमाल किया गया है.

Claim Review :   What the media won’t show you #GodiMedia #FarmersProtest #TractorRally
Claimed By :  Twitter post
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story