सोमनाथ मंदिर के वीडियो को काशी विश्वनाथ मंदिर बताकर शेयर किया गया

बूम ने अपनी जांच में पाया कि वायरल वीडियो में काशी विश्वनाथ नहीं बल्कि सोमनाथ मंदिर है.

रोशनी से जगमगाते मंदिर का एक वीडियो सोशल मीडिया पर इस दावे के साथ वायरल है कि यह काशी विश्वनाथ मंदिर (Kashi Vishwanath temple) का नया सवरूप दिखाता है.

बूम ने अपनी जांच में पाया कि वायरल वीडियो के साथ किया गया दावा फ़र्ज़ी है.

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिसंबर में अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी का दौरा करेंगे. इस दौरान वो अपने ड्रीम प्रोजेक्ट काशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण करेंगे. इसकी तैयारी में प्रशासन जुटा हुआ है.

ब्रिटेन की महारानी एलिज़ाबेथ के नाम से वायरल ये बिलबोर्ड असल में एक मीम है

फ़ेसबुक पर वीडियो शेयर करते हुए एक यूज़र ने कैप्शन में लिखा, "काशी विश्वनाथ मंदिर का नया स्वरूप।"


पोस्ट यहां देखें

वायरल वीडियो अंग्रेजी कैप्शन के साथ भी शेयर किया गया है जिसका हिंदी अनुवाद "काशी श्री विश्वनाथ मंदिर. जीर्णोद्धार के बाद पहली झलक. बढ़िया है ना?

(ENGLISH: Kashi Sri Viswanatha temple. The first glimpse after renovation. Fantastic isn't it?)

नहीं, विमान में भोजपुरी में अनाउंसमेंट का यह वीडियो कुशीनगर एयरपोर्ट से नहीं है

फ़ैक्ट चेक

बूम ने अपनी जांच में पाया कि वायरल वीडियो के कमेंट बॉक्स में कई सोशल मीडिया यूज़र्स ने कमेंट किया है कि यह काशी विश्वनाथ नहीं बल्कि गुजरात में स्थित सोमनाथ मंदिर है.

इससे हिंट लेते हुए हमने संबंधित कीवर्ड की मदद से खोज की तो गुजरात टूरिज्म के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से 5 अप्रैल 2018 को किया गया एक ट्वीट मिला, जिसमें हूबहू मंदिर का ढांचा और उसपर रोशनी देखी जा सकती है.

ट्वीट में लिखा है, "वेरावल के पास सोमनाथ मंदिर में जादुई 3डी प्रोजेक्शन मैपिंग आधारित लाइट एंड साउंड शो की झलक. यह शो अमिताभ बच्चन की आवाज़ में मंदिर के समृद्ध इतिहास को बयां करता है."

जांच के दौरान हमें हूबहू यही वीडियो फ़ोटो शेयरिंग ऐप इंस्टाग्राम पर 11 मार्च 2021 को अपलोड हुआ मिला जिसमें इसे सोमनाथ मंदिर बताया गया है.

इसके अलावा, सोमनाथ मंदिर के आधिकारिक फ़ेसबुक पेज पर बीते 4 नवंबर को दीवाली के उपलक्ष्य में अपलोड किये गए वीडियो में मंदिर पर वैसी ही सजावट देखी जा सकती है.

मंदिर की वास्तुकला, प्रांगण आदि पर नज़र डालने पर स्पष्ट हो जाता है कि वायरल वीडियो सोमनाथ मंदिर का ही है.

हमने वायरल वीडियो और सोमनाथ मंदिर के आधिकारिक फ़ेसबुक पेज से शेयर किये गए वीडियो के एक स्क्रीनशॉट के बीच तुलनात्मक विश्लेषण किया है. नीचे देखें


क्या पीएम के स्टाफ़ ने शिवराज सिंह चौहान को उनके साथ चलने से रोका ? फ़ैक्ट-चेक

Claim Review :   काशी विश्वनाथ मंदिर का नया स्वरूप
Claimed By :  Social Media Users
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story