वीडियो में डांस करता दिख रहा बच्चा जालोर का इंद्र कुमार मेघवाल नहीं है

बूम ने अपनी जांच में पाया कि वीडियो में डांस करते दिखता बच्चा जालोर का इंद्र कुमार मेघवाल नहीं है.

सोशल मीडिया पर एक बच्चे को डांस करते दिखाता वीडियो ख़ूब वायरल है. वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि इसमें दिखने वाला बच्चा 9 वर्षीय इंद्र कुमार मेघवाल है जिसकी राजस्थान के जालोर में मौत से कोहराम मच गया है. दलित लड़के के माता-पिता का आरोप है कि स्कूल में शिक्षक की मटकी से पानी पीने के कारण बच्चे को पीटा गया जिससे उसकी मौत हो गयी.

वीडियो में देखा जा सकता है कि स्कूल की क्लास जैसा दिखने वाला एक रूम में एक बच्चा डांस कर रहा है और बाक़ी बच्चे आनंद ले रहे हैं. वीडियो के बैकग्राउंड में संभवत राजस्थानी लोकगीत बज रहा है.

बूम ने अपनी जांच में पाया कि वीडियो में डांस करते दिखने वाला बच्चा इंद्र कुमार मेघवाल नहीं है.

शाहरुख़ खान ने 'पठान' फ़िल्म को लेकर नहीं दिया यह बयान, वायरल दावा फ़र्ज़ी है

फ़ेसबुक पर एक यूज़र ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा,'इन्द्र की कुछ यादें इस विडियो में क्या मासूमियत है,क्या पता इस अबोध बालक को कि पानी की मटकी से प्यास लगने पर उसकी हत्या कर दी जायेगी। हम कैसे मान लें की इस मासूमियत ने इतना बड़ा जुल्म किया होगा जो ये सजा मिली। शत् शत् नमन करते हैं'


फेसबुक पर यह वीडियो इसी दावे के साथ व्यापक स्तर पर वायरल है.


ट्विटर पर ये वीडियो काफी वायरल है.


फ़ैक्ट चेक

बूम ने जब सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो को खंगाला तो एक ट्वीट मिला जिसके साथ ये वीडियो था. ट्वीट के नीचे हमें एक कमेंट मिला जिसके अनुसार ये बालक इन्द्र मेघवाल नहीं है...ये बालक बाड़मेर में तारातरा मठ के गोमरखधाम स्कुल का विद्यार्थी है. इसके साथ ही इसे शेयर न करने की अपील की गई.

इसके बाद हमनें वीडियो का स्क्रीनशॉट लेकर रिवर्स इमेज सर्च किया तो एक फ़ेसबुक पेज गोमरख धाम तारातरा, चौहटन, बाड़मेर पर 30 जुलाई 2022 को अपलोड किया हुआ मिला. वीडियो के कैप्शन में लिखा था,'No bag day ke दिन कक्षा 2 के विद्यार्थी हरीश द्वारा आत्मविश्वास से भरपूर शानदार प्रस्तुति'.


इसके बाद हमने गोमरख धाम तारातरा स्कूल से संपर्क किया तो हमारी बात वहां के शिक्षक सुखलाल भाटी से हुई. उन्होंने बताया कि वायरल वीडियो उन्हीं के स्कूल का है जो 30 जुलाई 2022 को आयोजित हुए 'नो बैग डे' के अवसर का है.

जब हमने उनसे इंद्र कुमार मेघवाल की घटना के सम्बन्ध में पूछा तो उन्होंने बताया कि 'वीडियो में नाचते हुए दिखाई दे रहा बालक उनके स्कूल के कक्षा 2 का छात्र है एवं उसका नाम हरीश है. इंद्र कुमार मेघवाल की घटना जालोर में हुई थी जबकि उनका स्कूल बाड़मेर ज़िले में है'.

इसके बाद हमने सायला पुलिस स्टेशन जालोर के एस.एच.ओ ध्रुव प्रसाद से संपर्क किया. जालोर में इंद्र कुमार मेघवाल की घटना इसी थाने के अंतर्गत घटित हुई है. एस.एच.ओ ध्रुव प्रसाद ने बताया कि वायरल वीडियो जालोर का नहीं है वह बाड़मेर के किसी स्कूल का है. उसमें नाचता दिख रहा बालक इंद्र कुमार मेघवाल नहीं है.'

ग़ौरतलब है कि राजस्थान के जालौर में पिछले शनिवार को इंद्र कुमार मेघवाल नमक एक दलित छात्र की मौत हो गयी थी. आरोप है कि छात्र को प्यास लगी थी और उसने शिक्षक के लिए अलग रखी मटकी से पानी पी लिया था जिससे नाराज शिक्षक ने उसे इतना पीटा कि कि बच्चे की कान की नस फट गई और उसकी हालत गंभीर हो गई. उसे अहमदाबाद में इलाज के लिए उसे भर्ती कराया गया था जहाँ उसकी मौत हो गयी. इसके बाद से ही इलाके में तनाव है जिसके चलते कुछ समय के लिए इंटरनेट सेवा भी बंद की गई थी.

'भारत माता' के सर से मुकुट हटाकर नमाज़ पढ़वाने का वायरल दावा भ्रामक है

Claim :   नाचता दिख रहा बालक जालोर का इन्द्र कुमार मेघवाल है
Claimed By :  facebook posts
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story
Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors.
Please consider supporting us by disabling your ad blocker. Please reload after ad blocker is disabled.