हाथरस में मंदिर से वाशिंग मशीन और नकदी चोरी के दावे को पुलिस ने नकारा

सीसीटीवी में क़ैद इस घटना को टीवी चैनल न्यूज़ 24 सहित कई मीडिया आउटलेट्स ने इसी दावे के साथ शेयर किया है।

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेज़ी से वायरल हो रहा है जिसके साथ दावा किया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के हाथरस (Hathras) में चोरों ने एक मंदिर (Mandir) से वाशिंग मशीन (Washing Machine) और दान पेटिका में रखी नकदी चुरा ली। सीसीटीवी में क़ैद इस घटना को टीवी चैनल न्यूज़ 24 ने भी इसी दावे के साथ शेयर किया है।

हालांकि हाथरस के अपर पुलिस अधीक्षक (ASP Hathras) ने ट्विटर पर एक वीडियो ज़ारी करते हुए वायरल दावे को ख़ारिज किया है। उन्होंने कहा कि मंदिर के पुजारी ने अपना सामान गांव के कुछ लोगों की मदद से अपने घर में शिफ्ट कराया था, जोकि सीसीटीवी में क़ैद हो गया। इस वीडियो को सोशल मीडिया और कुछ न्यूज़ चैनलों पर चोरी के दावे के साथ शेयर किया गया है।

क़रीब एक मिनट लम्बे इस वीडियो में सीसीटीवी फ़ुटेज की रिकॉर्डिंग दिखाई गयी है | वीडियो में मंदिर का मुख्य दरवाज़ा खोलकर 3 लोग अंदर घुसते हैं और हाथ जोड़कर प्रणाम करते हैं। इस बीच फ़ुटेज की रिकॉर्डिंग कर रहे लोगों को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि 'उन्हें नहीं मालूम कि कैमरा कहां है'। वीडियो क्लिप में 32 सेकंड के टाइमस्टैम्प पर तीनों को वाशिंग मशीन ले जाते हुए देखा जा सकता है।

क्या गाज़ीपुर बॉर्डर पर किसानों ने पत्रकार अजीत अंजुम के साथ मारपीट की?

न्यूज़ 24 टीवी न्यूज़ चैनल ने इसी सीसीटीवी फ़ुटेज को ट्वीट किया और लिखा कि "चोरों ने भगवान को प्रणाम करते हुए मंदिर में से वॉशिंग मशीन और दान पेटिका से नकदी चुराई, उत्तरप्रदेश के हाथरस की घटना।" आर्काइव वर्ज़न यहां देखें।

फ़ेसबुक पर चोरी के दावे के साथ वीडियो बड़ी तादाद में शेयर किया गया है। वीडियो शेयर करते हुए एक यूज़र ने लिखा कि "चोरों ने भगवान को प्रणाम करते हुए मंदिर में से वॉशिंग मशीन और दान पेटिका से नकदी चुराई, उत्तरप्रदेश के हाथरस की घटना... ये देखकर तो इस देश की संसद और संविधान को झुक-झुककर प्रणाम करने वाले याद आ गए।"

आर्काइव वर्ज़न यहां देखें

क्या भाजपा सांसद रमेश बिधूड़ी ने किसानों को अपशब्द कहे?

बूम ने पाया कि न्यूज़ 24 के ट्वीट के जवाब में हाथरस पुलिस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से सिलसिलेवार ट्वीट किये गए, जिसमें कहा गया है कि 'उक्त मंदिर में चोरी की कोई घटना नहीं हुई है। मंदिर के पुजारी द्वारा अपनी वाशिंग मशीन को गांव के ही कुछ लोगों की मदद से शिफ्ट कराया गया है। वाशिंग मशीन पुजारी के पास है।'

हाथरस पुलिस ने ट्वीट करते हुए मंदिर के पुजारी और अपर पुलिस अधीक्षक प्रकाश कुमार का वीडियो शेयर किया। वीडियो में पुजारी ने बताया कि मशीन और कपड़े मेरे हैं। ठंड अधिक होने के कारण मैंने तीन लोगों से मशीन और कपड़े निकालने के लिए कहा था, यही बातें अपर पुलिस अधीक्षक ने भी अपने वीडियो में कहीं।


वहीं, न्यूज़ 24 के एक अन्य वीडियो में गांव के ही एक युवक ने आरोप लगाया कि मंदिर में चोरी हुई है, पहले भी मंदिर से चोरियां हो चुकी हैं।

बूम ने सहपऊ थानाध्यक्ष सत्यप्रकाश से संपर्क किया, जिसमें उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा कि मंदिर में चोरी नहीं हुई। "पुजारी ने गांव के ही जयप्रकाश नामक व्यक्ति के भाई के पैर का इलाज किया था जोकि असफ़ल हो गया था, उसके पैर में सूजन आ गयी थी। इस वजह से उन लोगों ने पुजारी को धमकाया था जिसके बाद पुजारी कहीं और चला गया था। इस बीच ठंड बढ़ने के कारण उसने गांव के ही तीन लोगों से मंदिर से अपना सामान उठाने को कहा था," थानाध्यक्ष ने बूम को बताया |

रात में ही सामान क्यों उठाया गया, के सवाल पर थानाध्यक्ष ने कहा कि यह उनकी ग़लती थी। इसी वजह से इतना विवाद हो गया। हालांकि, मंदिर में चोरी जैसी घटना नहीं हुई।

क्या दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल ने मुस्लिम महिला को गोली मार दी?

Show Full Article
Next Story