नासिक के अस्पताल में ऑक्सीजन लीक होने से 22 मरीज़ों की मौत

लीकेज बंद करने के लिए अस्पताल में सप्लाई रोक दी गई थी. उस समय अस्पताल में 23 मरीज़ वेंटिलेटर पर थे, जिन्हें ऑक्सीजन मिलनी बंद हो गई. इनमें 22 मरीजों ने दम तोड़ दिया.

महाराष्ट्र (Maharashtra) के नासिक ज़िले (Nashik) के डॉक्टर ज़ाकिर हुसैन अस्पताल (Dr. Zakir Hussain Hospital) में ऑक्सीजन लीक (Oxygen Leak) होने से 22 मरीज़ों की मौत हो गई जबकि कई मरीज़ों की हालत गंभीर है. यह हादसा अस्पताल में ऑक्सीजन टैंकर भरने के दौरान हुआ. वॉल्व खुला रहने की वजह से पूरे अस्पताल परिसर में ऑक्सीजन फैल गई थी.

रिपोर्ट्स के मुताबिक़, लीकेज बंद करने के लिए अस्पताल में सप्लाई रोक दी गई थी. उस समय अस्पताल में 23 मरीज़ वेंटिलेटर पर थे, जिन्हें ऑक्सीजन मिलनी बंद हो गई. इनमें 22 मरीजों ने दम तोड़ दिया.

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि "नासिक में टैंकर के वॉल्व लीकेज की वजह से बड़े स्तर पर ऑक्सीजन लीक हुई. जिस अस्पताल पर यह जा रही थी, वहां इसका निश्चित असर हुआ होगा, लेकिन मुझे अभी और जानकारी जुटाना बाकी है. हम और जानकारी जुटाने के बाद प्रेस नोट जारी करेंगे."

महाराष्ट्र के खाद्य एवं औषधि (एफडीए) मंत्री राजेंद्र शिंगणे ने हादसे की जांच करने का आदेश दिया है. उन्होंने कहा कि "यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. भविष्य में ऐसी घटना दुबारा न हो इसके लिए हम काम करेंगे. हमने जांच के आदेश दे दिए हैं, जो भी इसका ज़िम्मेदार होगा उसके ख़िलाफ़ कड़ी कार्यवाई होगी."

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे पर शोक जताते हुए कहा कि नासिक की घटना हृदयविदारक है. ईश्वर पीड़ित परिवारों को इस दुःख को सहने की क्षमता दे. मेरी शोक संवेदना परिजन के साथ है.

जानिए सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीर में दिख रहे यह आई.पी.एस कौन हैं?

Show Full Article
Next Story