क्या है तस्वीर पर लिखे कैप्शन 'जब तक मोदीजी सच नहीं बोलते तब तक उधार बंद' का सच ?

'जब तक मोदीजी सच नहीं बोलते तब तक के लिए उधार बंद ' इस कैप्शन के साथ सोशल मीडिया पर हो रही है एक तस्वीर वायरल

सोशल मीडिया पर दो तस्वीरों को अलग-अलग कैप्शन के साथ किया जा रहा है वायरल |

पहले तस्वीर के साथ कैप्शन में लिखा है, "जब तक मोदीजी सच नहीं बोलते, तब तक उधार बंद" |

दूसरी तस्वीर में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी को टारगेट कर लिखा है की, "राहुल गाँधी को वोट देने वाले उधार न मांगे, क्योकि यह दूकान मुद्रा योजना के तहत खुला है। धन्यवाद मोदीजी।"

बूम ने गूगल रिवर्स इमेज सर्च की मदद से पाया की यह तस्वीरें झूठी है।

इस फ़ोटो को दरअसल मॉर्फ़ कर गलत सन्दर्भ में अलग अलग कैप्शन के साथ फ़ेसबुक पर वायरल किया जा रहा है। एक तस्वीर में लिखा है की, "जब तक मोदीजी सच नहीं बोलते, तब तक उधार बंद"

इन तस्वीरों को 'योगी सरकार' और 'आई सपोर्ट रविश कुमार, आई सपोर्ट ट्रुथ' नामक फ़ेसबुक पेज पर शेयर किया जा रहा हैं। 'योगी सरकार' नामक पेज पर ज़्यादातर प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा की सराहना करते पोस्ट देखे जा सकते हैं जबकि 'आई सपोर्ट रविश कुमार, आई सपोर्ट ट्रुथ' पर कांग्रेस से संभंधित पोस्ट देखे जा सकते हैं।।

बूम को टिन आई से भी इस तस्वीर की सच्चाई का पता चला है। टिन आई नामक टूल से इस तस्वीर से मिलती जुलती तस्वीरें सामने आती है।

असली तस्वीर को नागिना डिस्ट्रिक्ट बिजनौर- यू.पी. नामक अकाउंट पर देखा जा सकता है जिसमे लिखा है की, 'कृपया उधार ना मांगे, हमने खुद लोन ले रखा है।

Claim Review :  सोशल मीडिया पर वायरल होती एक तस्वीर पर लिखे कैप्शन का सच
Claimed By :  Facebook page 'Yogi Sarkar'
Fact Check :  FALSE
Next Story