एक बार फिर आई.यु.एम.एल के झंडे को पाकिस्तानी झंडा बता कर अफ़वाह फ़ैलाने की कोशिश की गयी

इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग ने राहुल गाँधी के पोस्टर्स के साथ केरला में रैली निकाली | रैली में लहराए जा रहे पार्टी के झंडे को पाकिस्तानी ध्वज बता कर फ़ेक न्यूज़ फ़ैलाया गया

सोशल मीडिया पर केरल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा की गयी एक रैली का वीडियो इन दिनों वायरल किया जा रहा है। न्यूज़ 18 केरल की इस न्यूज़ क्लिप में चाँद और तारे के निशान वाले हरे झंडे भी दिखाई देते हैं।

वीडियो क्लिप के साथ कैप्शन दावा करता है "Rahul to fight elections in Wayanad , Kerala. Look who is celebrating in Wayanad waving Pakistan flags. Now you know why Congress selected this constituency. 👇हिंदुओ अब तो जागो , नही तो आज़ एक मुस्लिम बहुल क्षेत्र मे हरे झंडे देखने मिल रहे है , बाद मे हर क्षेत्र मे देखने मिलेंगे .फिर एक बार मोदी सरकार।"

अनुवाद: "वायनाड, केरल से चुनाव लड़ेंगे राहुल गाँधी |"
देखो कौन जश्न मना रहा है पाकिस्तानी झंडे लहरा कर। अब आपको पता चला की कांग्रेस ने इस चुनावी क्षेत्र का चयन क्यों किया है।"

एक और कैप्शन कहता है की "राहुल गांधी के वायनाड, केरला से चुनाव लड़ने पर पाकिस्तनी झंडे के साथ कॉंग्रेस के लोकल समर्थक...
अब तो पता चल गया होगा कि कॉंग्रेस ने अपने शहजादे के लिए इसी संसदीय क्षेत्र को क्यों चुना."

फ़ेसबुक पर इस न्यूज़ क्लिप को गलत सन्दर्भ में धड़ल्ले से वायरल किया जा रहा है ।

इस पोस्ट को फ़ेसबुक पर मीरा सिंह नामक पेज पर शेयर किया गया है जहाँ इसे एक हज़ार से ज़्यादा शेयर्स मिले हैं। पोस्ट के आर्काइवड वर्शन को यहाँ देखा जा सकता है।

'वी सपोर्ट नरेंद्र मोदी' नामक पेज पर इस पोस्ट को 100 शेयर्स मिले हैं।

इस पोस्ट के आर्काइवड वर्शन को यहाँ देखा जा सकता है।

फ़ेसबुक पर यह न्यूज़ क्लिप काफ़ी वायरल है।

यह न्यूज़ क्लिप ट्वीट भी किया गया है।

फैक्टचेक

लोकसभा चुनाव के पहले राजनैतिक पार्टियों द्वारा टिकट को लेकर भागदौड़ शुरू हो चुकी है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी के अपने सियासी गढ़ अमेठी को छोड़ दक्षिण भारत से चुनाव लड़ने की अटकले भी लगाई जा रही हैं।

वायरल वीडियो क्लिप के साथ दिए गए कैप्शन के अनुसार दावा किया जा रहा है की राहुल अब केरल के वायनाड से चुनाव लड़ने वाले हैं।

आपको बता दें की वीडियो क्लिप में दिखाए दे रहे झंडे पाकिस्तानी नहीं बल्कि इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग के हैं। इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग दूसरी सह पार्टियों के साथ केरल में यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट का हिस्सा है।


इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग ध्वज और पाकिस्तानी ध्वज

बूम ने इससे पहले भी इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग और पाकिस्तानी ध्वज के बीच का फ़र्क बताती न्यूज़ रिपोर्ट की है जिसे यहाँ पढ़ा जा सकता है।

Claim Review :  केरला में राहुल गाँधी के सपोर्ट में निकाले गए कांग्रेस की रैली में लहराए गए पाकिस्तानी झंडे
Claimed By :  Facebook posts
Fact Check :  FALSE
Next Story