क्या कांग्रेस की जीत के जश्न में राजस्थान में लहराया गया पाकिस्तानी झंडा ?

फिर से एक बार मिलाद-उन-नबी के झंडे को पाकिस्तानी झंडा बताकर फ़ेसबुक पर किया जा रहा है धड़ल्ले से वायरल
दावा: राजस्थान विधान सभा चुनाव में कांग्रेस की जीत के बाद तिवरी में फहराया गया पाकिस्तानी झंडा रेटिंग: झूठ सच्चाई: हर बार की तरह इस बार भी इस वीडियो में दिखाया गया झंडा पाकिस्तान का नहीं इस्लामिक त्यौहार मिलाद-उन-नबी का है । सोशल मीडिया और फेसबुक पर यह वीडियो वायरल हो रहा है । वीडियो में देखा जा सकता है की विधानसभा चुनाव में अच्छे प्रदर्शन के बाद कांग्रेस का काफिला सड़क से गुज़र रहा है । और जिस आदमी ने वीडियो शूट किया है वो कह रहा है की देखलो, 'हिन्दुस्तानियो कांग्रेस की जीत की रैली में पाकिस्तानी झंडा फहराया जा रहा है । शर्म करो ।" फ़ेसबुक पर इस पोस्ट को
'पॉलिटिक्स और सोलिटिक्स'
नामक पेज पर सात हज़ार से ज़्यादा शेयर्स मिले है और एक लाख सांठ हज़ार से ज़्यादा व्यूज भी मिले है । इस फेसबुक पोस्ट में लिखा हुआ है की 'इस्लामिक' झंडा लहराया जा रहा है । वीडियो को ध्यान से सुनने पर पता चलता है की जिस व्यक्ति ने वीडियो शूट किया है उसका दावा है की 'पाकिस्तानी' झंडा लहराया जा रहा है । इस पोस्ट को 'दीपांशु भट्ट' नामक फ़ेसबुक अकाउंट से 2 हज़ार बार शेयर किया गया है। वीडियो की तस्वीरो को ज़ूम करने के बाद पता चलता है की तस्वीर में झंडा पाकिस्तानी नहीं इस्लामिक त्यौहार ईद-ए-मिलाद का है । जिस पर इस्लामिक पैगम्बर मोहम्मद के तीर्थ स्थान मदीना और इस्लामिक तीर्थ स्थान मक्का की तस्वीर अंकित है । दूसरी तस्वीरो में 'राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय, तिंवरी के पास से काफिले को गुज़रते देखा जा सकता है ।
ज्ञात रहे के इससे भी पहले इस तरह के पोस्ट वायरल होते रहे है जिसमे मिलाद-उन-नबी के झंडो को पाकिस्तानी झंडा बताकर गलत सन्दर्भ में वायरल किया जा रहा है । पाकिस्तानी और मिलाद-उन-नबी के झंडो में यह फर्क हैं। राजस्थान पुलिस ने इस सन्दर्भ में ट्वीट कर कहा हैं की, "कांग्रेस की रैली में पाकिस्तानी झंडा लहराने की खबर झूटी और बेबुनियाद हैं ।"
इस विषय के सन्दर्भ से जुड़ी रिपोर्ट को आप यहाँ और यहाँ पढ़ सकते हैं।
Show Full Article
Next Story