क्या वीडियो पर बच्चा चोर होने की बात क़ुबूल करने वाले शख़्स के साथ जबरदस्ती हुई थी? फ़ैक्ट चेक

बूम ने अपने जांच में पाया की युवक के साथ मार पीट कर के कुबुलवाया गया की वह बच्चा चोर है
False-Kidnapping story

ट्विटर एवं अन्य सोशल मीडिया प्लेफॉर्म पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें दावा किया जा रहा है कि एक शख़्स पकड़ा गया है जो बच्चो को किडनैप कर उनके अंगों कि तस्करी करता है | आपको बता दें कि यह दावा झूठ है |

यह वीडियो भारत के फ्रीस्टाइल रेसलर योगेश्वर दत्त ने पोस्ट किया है | उन्होंने इसे ट्विटर और फ़ेसबुक पर अपने आधिकारिक अकाउंट पर पोस्ट किया है जिसके साथ कैप्शन में लिखा है: ये तो एक छोटा सा प्यादा है मानव अंगों की तस्करी का, इस जैसे कितने लोग लगे हैं इस घृणित कार्य में। मेरी अपील है कि सरकार द्वारा कड़े कदम उठाए जायें ऐसे लोगों को पकड़ने के लिए जो छोटे बच्चों का अपहरण करके उनके अंगों की तस्करी करते हैं या उनसे भीख मंगवाते हैं। @narendramodi @AmitShah



आप इन पोस्ट्स के आर्काइव्ड वर्शन यहाँ और यहाँ देखें |

फ़ैक्ट चेक

बूम ने वीडियो को सुनकर 'बच्चा पकड़ने वाला होशंगाबाद में पकड़ाया' कीवर्ड्स के साथ यूट्यूब पर सर्च किया और इसी तरह के फ़र्ज़ी दावे के साथ हमे यही वीडियो मिला | योगेश्वर दत्त द्वारा ट्विटर पर पोस्ट किये गए वीडियो का लम्बा रूप हमें उन्ही के फ़ेसबुक पेज पर मिला |

YouTube screenshot of child kidnapper

इसके अलावा हमें "Child kidnapping in Ait Uttar Pradesh" कीवर्ड्स के साथ खोज करने पर क्विंट का एक लेख मिला | इस लेख में घटना कि जगह एट उत्तर प्रदेश बताई गयी है | इसके बाद बूम ने इस घटना के वक़्त एट थाना प्रभारी गणेश प्रकाश मिश्रा से संपर्क किया जिन्होंने इसके बारे में जानकारी दी |

मिश्रा ने कहा, "पीड़ित सोनू श्रीवास मौठ में अपनी बहन के घर से वापस अपने गांव टाडा जाने के लिए साधन कि प्रतीक्षा कर रहा था तभी एट टोल प्लाज़ा के पास अंकित बाल्मीकि नामक शख़्स ने आकर उससे पूछा कि रात 12 बजे यहाँ क्या कर रहे हो? सोनू द्वारा कारण बताए जाने पर भी अंकित ने उसे पास में स्थित सौभाग्य ढाबे के पास ले जा कर एवं कुछ और लोगों कि मदद से बाँध दिया | पीड़ित के अनुसार उसे मारा गया एवं वो जो कुछ वीडियो पर बोल रहा है उससे बुलवाया गया था|"

हमें अमर उजाला का लेख भी मिला जिसके अनुसार पीड़ित व्यक्ति मानसिक रूप से बीमार था | बूम ने जब इस बारे में मिश्रा से सवाल किया तो उन्होंने बताया कि, "सोनू को जब बाँधा गया था तब वो किसी तरह के नशे में था परन्तु मानसिक स्थिति ठीक ना होने का दावा झूठ है | सोनू मानसिक रूप से सामान्य है |"

जालौन पुलिस ने ट्वीट कर के भी इस घटना के फ़र्ज़ी होने कि पुष्टि कि है जिसे आप नीचे देख सकते हैं | ट्वीट में व्योरा दिया गया है कि अंकित, जो कथित आरोपी है, पर आई पी सी कि किन किन धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज़ किया गया है |



Claim Review :   बच्चों को किडनैप कर अंग तस्करी करने वाला पकड़ा गया
Claimed By :  Facebook pages and Twitter handless
Fact Check :  FALSE
Show Full Article
Next Story