मध्यप्रदेश में लड़की के साथ हुए मारपीट के वीडियो को मोदी के साथ जोड़ गलत सन्दर्भ में वायरल किया गया

बूम को पुलिस ने बताया की यह प्रेम प्रसंग के खिलाफ़ परिवारवालो द्वारा उठाया गया कदम है और मामला किसी भी राजनैतिक दाल से संबंद्धित नहीं है

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है | इस वीडियो में एक लड़की को कुछ लोग पीट रहे हैं और ज़मीन पर घसीट रहे हैं | फ़िलहाल इसे वीडियो को राजनैतिक कोण देकर वायरल किया जा रहा है | फ़ेसबुक और ट्विटर पर इसे हज़ारों बार देखा गया है और करीब एक हज़ार बार शेयर किया गया है | वीडियो के साथ कैप्शन लिखा है 'किस तरह 8-10 लड़के मिलकर एक लड़की को मार रहे हैं 50₹ का भगवा गमछा गले में डालकर आपको कुछ भी करने की आजादी है । क्या यही है मोदीजी का #NewIndia ? भारत में ऐसी घटना हर रोज कहीं न कहीं हो रही है ऐसे लोग इंसान नहीं शैतान हैं ।'

आपको बता दें यह दावे फ़र्ज़ी है और घटना राजनैतिक नहीं है | असल घटना मध्य प्रदेश से है |

यह वीडियो को ट्विटर पर भी शेयर किया गया है | हालांकि कई ट्वीट्स में वीडियो नहीं है सिर्फ पोस्ट में लिखा गया है परन्तु सन्दर्भ यही है | नीचे आप फ़ेसबुक और ट्विटर पोस्ट्स देख सकते हैं |

वीडियो दिल दहला देने वाला है अतः पाठको से अनुरोध है इसे सोच समझ कर देखें |

इस पोस्ट को यहाँ और इसके आर्काइव्ड वर्शन यहाँ देखें |

इस पोस्ट का आर्काइव्ड वर्शन यहाँ देखें |
इस पोस्ट का आर्काइव्ड वर्शन यहाँ देखें |

फ़ैक्ट चेक

बूम ने इस वीडियो के कीफ्रेम्स से रिवर्स इमेज सर्च किया तो द हिन्दू के एक लेख तक पहुंचे जहाँ लिखा गया है की मारने वाले लोग उस लड़की के परिवार वाले हैं | हमें और भी लेख मिलें जिसमें इन दावों को खारिज़ करती हुई रिपोर्ट्स थीं |

एन डी टी वी का स्क्रीनशॉट
द हिंदू रिपोर्ट स्क्रीन शॉट

मामले को समझने के लिए बूम ने धार जिले के बाग थाने को संपर्क किया जहाँ यह मामला दर्ज़ हुआ था | बाग थाने के टाउन निरीक्षक कमलेश सिंगर ने इस मामले के बारे में विस्तृत जानकारी दी |

यह एक प्रेम प्रसंग का मामला है | यह मामला गढ़बोरी गांव का है और लड़की आदिवासी है -- कमलेश सिंगर ,
टाउन निरीक्षक , बाग

सिंगर ने बूम को बताया की लड़की शादी शुदा है परन्तु एक दलित लड़के विवेक से प्रेम में थी | कुछ महीने पहले हुई शादी से नाख़ुश होने के चलते लड़की और विवेक 25 मई 2019 को भाग गए थे जिसके बाद लड़की के भाई महेश ने गुमशुदगी का मामला बाग थाने में दर्ज़ करवाया था | एक महीने बाद 25 जून उसे ढूंढ लिया गया और परिवारवालों के सुपुर्द कर दिया गया |

घर वालों ने उसे समझाया परन्तु वह नहीं मानी तो उसे विवेक के पास ले जाने के बहाने घर से दूर ले जा कर पीटा गया, जैसा कमलेश सिंगर ने बताया | कमलेश ने यह भी बताया की परिवार वालों को बदमानी का डर था | मारने वालों में सात लोग शामिल थे जिसमें लड़की का भाई महेश भी था |

कमलेश सिंगर ने बताया की वीडियो वायरल होने के बाद हमें मामले की जानकारी हुई जिसके बाद हमने मारने वालों की पहचान कर सात लोगों को गिरफ्तार किया जिसमें पीड़ित का भाई भी शमिल है और भारतीय दंड संहिता (आई पी सी) की धारा 294, 323, 147, 148, 354 डी एवं 307 के अंतर्गत मुकदमा दर्ज़ किया है | उन्होंने लड़की के स्वस्थ होने की भी पुष्टि की |

Claim Review :  वायरल पोस्ट में दावा किया गया है की वीडियो में लड़की को मारते दिख रहे लोगों का संबंद्ध भगवा पार्टी से है
Claimed By :  Facebook pages and Twitter handles
Fact Check :  FALSE
Show Full Article
Next Story