बच्ची के साथ दुर्व्यवहार करने वाली महिला का वीडियो भारत से नहीं है

वीडियो अमेरिका के टेक्सास में वायरल हुआ था जहां की स्थानीय पुलिस ने कहा कि यह घटना मेक्सिको की हो सकती है
Woman-abusing infant

एक छोटी बच्ची के साथ दुर्व्यवहार करने वाली महिला का ख़ौफनाक वीडियो क्लिप भारतीय सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है । इस वीडियो को व्हाट्सएप्प पर फैलाते हुए कुछ यूज़र्स झूठे और जातिवाद दावा कर रहे हैं कि यह महिला नॉर्थ ईस्ट की बेबी-सिटर यानि बच्चे की देखभाल करने वाली है ।

दिल व्यथित करने वाला यह वीडियो बूम को अपनी हेल्पलाइन पर प्राप्त हुआ है । हमने वास्तविक वीडियो शामिल नहीं करने का फैसला लिया है |

WhatsApp helpline screenshot
( बूम की हेलपलाइन पर प्राप्त हुआ वीडियो )

वीडियो में दिखाई देने वाली महिला की पहचान और गिरफ़्तार करने की मांग करते हुए इस क्लिप को भारत से भी कई नेटिज़न्स ने ट्विटर पर व्यापक रूप से शेयर किया है ।

करीब तीन मिनट के इस वीडियो में एक महिला को छोटे से बच्चे के पैरों को अपने पैरों से कुचलते हुए दिखाया गया है और फिर वो धीरे-धीरे बच्चे के चेहरे, छाती और श्रोणि क्षेत्र को पैरों से कुचलती है और बाद में बच्चे के मुंह पर बैठ जाती है । बैकग्राउंड में संगीत की आवाज सुनी जा सकती है जबकि बच्चा दर्द से रो रहा है । महिला का चेहरा नहीं देखा जा सकता है । लेकिन उसके टखने पर एक टैटू साफ़ नज़र आ रहा है ।

वीडियो की कीफ़्रेमों में से एक पर किए गए रिवर्स इमेज सर्च से हम हमें उन समाचार रिपोर्टों तक पहुंचे जिनमें कहा गया था कि वीडियो सबसे पहले संयुक्त राज्य अमेरिका के टेक्सास में सोशल मीडिया समूहों में वायरल हुआ था ।

द मिरर के एक समाचार लेख के अनुसार, टेक्सास में कॉर्पस क्रिस्टी पुलिस विभाग ने स्थानीय निवासियों द्वारा सूचित किए जाने के बाद वीडियो की जांच शुरू की है ।

Screenshot of the article by the Mirror

हमें कॉर्पस क्रिस्टी पुलिस विभाग के आधिकारिक अकाउंट से 8 नवंबर, 2019 का एक फेसबुक पोस्ट भी मिला, जिसमें वीडियो के बारे में किसी भी तरह की जानकारी होने पर आगे आने और रिपोर्ट करने के लिए कहा गया है ।

जबकि कॉर्पस क्रिस्टी पुलिस विभाग द्वारा अपलोड किए गए वीडियो में वही महिला और बच्चा देखा जा सकता है, यह बच्चे पर बैठकर उसे कुचलने वाली महिला के साथ घटनाओं का थोड़ा अलग क्रम दिखाता है ।

Screenshot of the Corpur Christi police's FB page
( कॉर्पस क्रिस्टी पुलिस वीडियो की जांच कर रही है )

पुलिस ने पहचान के निशान के रूप में महिला के टखने पर दिख रहे टैटू की तस्वीर भी अपलोड की है ।

कॉर्पस क्रिस्टी पुलिस द्वारा पोस्ट यहां पढ़ें । नोट: फ़ेसबुक पोस्ट में वीडियो है, विवेक इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है ।

कुछ दिनों बाद 11 नवंबर को कॉर्पस क्रिस्टी पुलिस विभाग ने एक और बयान देते हुए कहा कि वीडियो मेक्सिको से होने की संभावना है ।

कॉर्पस क्रिस्टी पुलिस विभाग ने एक बयान में कहा, “इस समय सभी संकेत यह बता रहे हैं कि यह घटना हमारे अधिकार क्षेत्र में नहीं हुई थी और यह न्यूवो लियोन, मैक्सिको में हुई थी । हमें यह भी जानकारी मिली है कि यह घटना एक साल पहले की है । हम मेक्सिको में होने वाली घटना के विशिष्ट स्थान की पहचान करने के लिए काम कर रहे हैं ताकि मेक्सिको में समतुल्य बाल सुरक्षा सेवाओं को अधिसूचित किया जा सके और एक जांच की जा सके ।”

बूम ने वॉयस मेसेज और ई-मेल के जरिए कॉर्पस क्रिस्टी पुलिस विभाग से संपर्क किया है लेकिन हमें जवाब प्राप्त नहीं हुआ है ।

बूम ने स्पैनिश में भी समाचार लेखों की तलाश की और वीडियो के बारे में कई समाचार रिपोर्ट प्राप्त किए ।

एक स्पेनिश समाचार आउटलेट एजेंशिया एल यूनिवर्सल ने भी 11 नवंबर को कहानी की रिपोर्ट की, और कहा, "न्यूवो लियोन राज्य के सार्वजनिक सुरक्षा के सचिवालय के जांच और द सिविल फ़ोर्स साइबर पुलिस ने जांच की शुरुआत कि है जिस घटना में एक नाबालिग के साथ हुआ दुर्व्यवहार शामिल है । घटना का खुलासा वीडियो के माध्यम से हुआ जो सोशल नेटवर्क पर वायरल हो गया है और जिसके कारण यूज़र्स में नाराज़गी है । इसी तरह, उन्होंने राज्य के अटॉर्नी जनरल के कार्यालय को मामले और इसकी पूछताछ के बारे में बताया है । ”

Screenshot of an article by Mexican media
( मैक्सिकन समाचार आउटलेट ने भी इस घटना की सूचना दी )

कई अन्य स्थानीय अख़बारों ने घटना के बारे में रिपोर्ट किया और बताया कि कॉर्पस क्रिस्टी पुलिस विभाग ने वीडियो के बारे में स्थानीय न्यूवो लियोन पुलिस को सूचित किया था । यहां और यहां पढ़ें

मेक्सिको में सोशल मीडिया यूज़र्स के बीच वीडियो ने खलबली मचा दी है ।

कुछ स्पेनिश वेबसाइटों का दावा है कि न्यूवो लियोन में साइबर पुलिस ने महिला की पहचान की है । हालांकि, बूम स्वतंत्र रूप से इसका सत्यापन नहीं कर सका है ।

यह देखते हुए कि वीडियो पहले टेक्सास में वायरल हुआ था और कॉर्पस क्रिस्टी पुलिस का यह कहना कि यह मेक्सिको से हो सकता है, ऐसी संभावना बहुत कम है कि वीडियो भारत से है या इसमें देश के उत्तर पूर्व हिस्से के व्यक्ति शामिल हैं ।

Next Story