टेरीटोरियल आर्मी के जवान की वीडियो को आतंकवादी बता कर किया गया वायरल

ये वीडियो 2012 की है जहां जे&के पुलिस के अधिकारी इस जवान से AK47 छीनते दिखाई देते हैं
दिवाकर कोठारी नामक एक ट्विटर यूज़र ने एक  घटना का  वीडियो अपने हैंडल पर  पोस्ट किया जिसमे कहा गया है की एक भारतीय सेना अधिकारी  एक कथित आतंकवादी से एके 47 राइफल छीन रहा  है । वीडियो को फेसबुक पर 4000 से अधिक बार  लाइक किया गया है I क्या है वीडियो का सच ! दरअसल सच्चाई ये है की न तो यह घटना हाल की है और न ही बंदूक रखने वाला व्यक्ति कोई "आतंकवादी" था।  बंदूक के साथ दिख रहा व्यक्ति  दरअसल  भारतीय टेरीटोरियल आर्मी का जवान था जिसे किसी कारणवश निकाल दिया गया था I यूट्यूब पर इसी सन्दर्भ में एक वीडियो देखा जा सकता है जिसमे 7.03.2012 को पुंछ (जम्मू-कश्मीर) में एक दुर्घटना हुई जिसमे भारतीय टेरीटोरियल आर्मी के एक अधिकारी ने अपने हथियार एके -47 से  दो महिलाओं की हत्या कर दी क्योंकि वह अपनी पत्नी की तलाश में था । https://youtu.be/GIt-U5S-ie0 यह घटना मार्च 2012 में समाचार संगठनों इंडिया टीवी और न्यूज़ 18 द्वारा रिपोर्ट की गई थी। इन रिपोर्टों के अनुसार भारतीय टेरीटोरियल आर्मी के जवान, तारिक खान ने अपनी एके-47 राइफल से 2 महिलाओं की हत्या कर दी। और 4 अन्य महिलाओ को भी घायल कर दिया बूम ने जांच कर  एसएसपी खान से बात की और उन्होंने कहा  की " जनाब ये टेरीटोरियल आर्मी का एक जवान था और उसे आर्मी से किसी कारणवर्ष निकाल दिया गया था I वो हथियार लेकर  आर्मी के बेस से भाग गया , घर में आया और 2 औरतो को जान से मार दिया और 4 लोगो को घायल कर एक बिल्डिंग की छत पर खड़े होकर कहने लगा की मेरी बेवफा बीवी और उसके यार को मेरे सामने लाओ नहीं तो जो सामने आयेगा उसे मारदुंगा" इसी कहानी के सन्दर्भ  में ऑल्ट न्यूज़ ने भी एक स्टोरी की है
Show Full Article
Next Story