Connect with us

कटे हुए सिर के साथ आरोपी के पुलिस स्टेशन पहुंचने का वीडियो फ़िर झूठे दावे के साथ वायरल

कटे हुए सिर के साथ आरोपी के पुलिस स्टेशन पहुंचने का वीडियो फ़िर झूठे दावे के साथ वायरल

कर्नाटक में घटित इस सिर काटने की घटना में लिंगायत समुदाय के दो लोग शामिल थे जिनकी व्यक्तिगत मुद्दे पर लड़ाई हुई थी । इस घटना में बलात्कार का कोई मामला नहीं था

(बूम अब सारे सोशल मीडिया मंचो पर उपलब्ध है | क्वालिटी फ़ैक्ट चेक्स जानने हेतु टेलीग्राम और व्हाट्सएप्प पर बूम के सदस्य बनें | आप हमें ट्विटर और फ़ेसबुकपर भी फॉलो कर सकते हैं | )

Claim

चेन्नई में एक व्यक्ति ने अपनी बहन का बलात्कार करने वाले शख़्स का गला काट दिया ।

Fact

आत्मसमर्पण का यह चौंकाने वाला वीडियो दरअसल कर्नाटक के मंड्या जिले से है । यह घटना 29 सितंबर, 2018 को हुई थी । घटना में दो व्यक्ति शामिल थे जिनके बीच किसी व्यक्तिगत मुद्दे पर लड़ाई हुई और कथित तौर पर एक व्यक्ति के दूसरे की मां के बारे में आपत्तिजनक बात कहने पर लड़ाई हिंसक हो गई । पीड़ित और हमलावर दोनों लिंगायत समुदाय के हैं, जैसा कि स्थानीय पुलिस ने बूम को बताया था । इसी वीडियो को पहले एक झूठे सांप्रदायिक दावे के साथ साझा किया गया था कि एक हिंदू व्यक्ति ने अपनी बेटी के एक मुस्लिम व्यक्ति के साथ भाग जाने पर उस व्यक्ति का सिर काट दिया था ।

 To read more click here

Claim

चेन्नई में एक व्यक्ति ने अपनी बहन का बलात्कार करने वाले शख़्स का गला काट दिया ।

Fact

आत्मसमर्पण का यह चौंकाने वाला वीडियो दरअसल कर्नाटक के मंड्या जिले से है । यह घटना 29 सितंबर, 2018 को हुई थी । घटना में दो व्यक्ति शामिल थे जिनके बीच किसी व्यक्तिगत मुद्दे पर लड़ाई हुई और कथित तौर पर एक व्यक्ति के दूसरे की मां के बारे में आपत्तिजनक बात कहने पर लड़ाई हिंसक हो गई । पीड़ित और हमलावर दोनों लिंगायत समुदाय के हैं, जैसा कि स्थानीय पुलिस ने बूम को बताया था । इसी वीडियो को पहले एक झूठे सांप्रदायिक दावे के साथ साझा किया गया था कि एक हिंदू व्यक्ति ने अपनी बेटी के एक मुस्लिम व्यक्ति के साथ भाग जाने पर उस व्यक्ति का सिर काट दिया था ।

  To read more click here

Claim Review : वीडियो में दावा किया गया है की एक व्यक्ति अपने बहन के साथ बलात्कार करने वाले शख़्स का गला काट कर पुलिस स्टेशन ले गया

Fact Check : FALSE

Get facts on the go. Lightning fast debunking with the accuracy of our in-depth fact-checking.

A former city correspondent covering crime, Nivedita is a fact checker at BOOM and works to stop the spread of disinformation and misinformation. When not at work, she escapes into second-hand bookstores, looking for magic or a mystery.

Click to comment

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

FACT FILE

Opinion

To Top