आर्ट इंस्टालेशन के वीडियो को किया जा रहा है गलत सन्दर्भ में वायरल

जले हुए नोटों के बंडल्स दिखाते इस इंस्टालेशन को ये कह कर वायरल किया गया है इन नोटों को कांग्रेस के एक नेता के घर पर मारे गए छापे के दौरान जलाया गया है

सोशल मीडिया पर इन दिनो अलग-अलग डेनोमिनेशन के जले हुए नोटों के ढेर का वीडियो वायरल किया जा रहा है। वायरल वीडियो में आप एक क्रेन पर लाल, गुलाबी, नारंगी और हरे रंग कीअलग अलग क्रमांकित मुद्रा के छत तक लगे ढेर के वीडियो को देख सकते हैं |

जब भी किसी नेता के यहां रेड पड़ती है, ये वीडियो अलग अलग कैप्शंस के साथ वायरल हो जाता है | हाल फ़िलहाल तक कर्णाटक कांग्रेस के नेता डी.के. शिवकुमार के नाम से वायरल हो रहे इस पोस्ट को अब मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री कमलनाथ के सचिव के यहां मारे गए छापे से जोड़ कर वायरल किया जा रहा है |

अलग अलग वीडिओज़ में अलग अलग दावें हैं | जैसे की ये - “Dheli Mai kornatok ka Congress cm D K shibkumar ka Dheli Bangala Mai Rupees ko Aga lagane Mai kosis kar Raha tha.congress kitana chore hai .sabko sair Karo"

"दिल्ली में कर्णाटक कांग्रेस सीएम डी के शिवकुमार का दिल्ली बंगाल में रुपयों को आग लगाने का कोशिश कर रही थी। कांग्रेस कितनी चोर है। .. सबको शेयर करो।"

फ़ेसबुक पर इस पोस्ट को 'नकुल बेहेरा' नामक अकाउंट पर शेयर किया गया है जहाँ इसे सौ से ज़्यादा शेयर्स मिले हैं।

इस पोस्ट के आर्काइवड वर्शन को यहाँ देखा जा सकता है।

इस वीडियो को 'कामरेड अल्फ़ा अल्फ़्रेड' नामक अकाउंट पर अलग कैप्शन के साथ शेयर किया गया था। कैप्शन में लिखा है "Allegedly; money (bills in 500, 200, 100 etc Euros) budgeted by Jagaban Asiwaju Tinubu for electioneering inducements burnt due to storage challenges in Boudillon".

What a country. What a people. What a shame. It’s only Biafra that can savage this decay! #SupportBiafraFreedom #FreeBiafra"

अनुवाद- "कथित तौर पर; मनी (बिल, 500, 200, 100 आदि यूरो) बिलडन में भंडारण की चुनौतियों के कारण जलाए नॉट जगबाण असिवाजु तनुबा द्वारा।

कैसा देश है। क्या लोग हैं? कितनी शर्म की बात है। यह केवल Biafra है जो इस क्षय को रोक सकता है! #SupportBiafraFreedom #FreeBiafra"

यहाँ इसे आठसौ से ज़्यादा शेयर्स मिले हैं।

या फ़िर ये दावा: मध्यप्रदेश में कमलनाथ के सचिव के यहाँ से बरामद नोटों का ढेर। 281 करोड जिसे छापा पड़ने के बाद जलाने की भी कोशिश की गयीं |

fake news on raid in Madhya pradesh
वायरल पोस्ट

इस पोस्ट को आप यहां देख सकते हैं और इसके आर्काइव्ड वर्शन को यहां देखा जा सकता है |

फैक्टचेक

वीडियो का गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमने पाया कि यह पहले नाइजीरिया के स्कैमर्स के साथ जोड़कर वायरल किया गया था। कथित तौर पर नाइजीरिया, कैमरून, इटली में भ्रष्ट नेताओं और रूसी सेनेटर रऊफ अराशोविक का भी इस वीडियो से नाम जोड़ा गया था।


गूगल रिवर्स इमेज सर्च

3 मार्च 2019 को फ्रांस 24 के द ऑब्जर्वर्स नामक न्यूज़ वेबसाइट ने इस वीडियो की जांच की थी।
इस वीडियो को दरअसल वर्ष 2018 में आर्ट मैड्रिड फेस्टिवल में फिल्माया गया था। इस आर्ट इंस्टालेशन का नाम है 'यूरोपियन ड्रीम' |

अलेजांद्रो मॉंगे नामक आर्टिस्ट ने खुद इसे बनाया था और वीडियो को अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर अपलोड किया था, इसे फ़र्ज़ी बताते हुए।

फ्रांस 24 से बात करते हुए, आर्टिस्ट मॉंगे ने आर्ट इंस्टालेशन को आधुनिक समाज पर एक टिप्पणी के रूप में अपनी स्थापना का वर्णन कर बताया की कैसे सब कुछ पैसे के आसपास घूमता है । मॉंगे ने कहा: मेरा मानना ​​है कि पैसा समकालीन समाज का देवता है। मेरा स्कल्पचर हाथ से पेंट किए गए लगभग 500,000 नकली बिलों से बना है | इसे राल (resin) से बनाया गया है |

View this post on Instagram

Don’t touch my chash !!! 💵🤫😎

A post shared by Alejandro Monge (@monge_art) on

आर्टिस्ट के इंस्टाग्राम पोस्ट्स में कोई यह बता सकता है कि नोट असली नहीं हैं और हाथ से पेंट किए गए हैं।

View this post on Instagram

#artmadrid #artfair

A post shared by Alejandro Monge (@monge_art) on

बूम ने इस विषय पर एक न्यूज़ रिपोर्ट की है जिसे यहाँ पढ़ा जा सकता है।

Claim Review :  कांग्रेस के नेता शिवकुमार द्वारा नोटों की गड्डियों को आग लगाई
Claimed By :  Facebook posts
Fact Check :  FALSE
Next Story