यह वीडियो वलसाड से नहीं बल्क़ि सऊदी अरब से है, इसे भारत से जोड़कर किये जा रहे दावे फ़र्ज़ी हैं

बूम ने पाया की यह शख़्स यूसिफ़ अलक़ुताई है जो सऊदी अरब में रहने वाला है | इस घटना के बाद रियाद पुलिस ने इसे गिरफ़्तार कर लिया था
Man-Arabia-Child

भारतीय नेटिज़ेंस ने एक वीडियो वायरल किया है जिसमें एक शख़्स बच्चे की बेहरहमी से पिटाई करते नज़र आता है | कई ट्विटर यूज़र्स ने इसे अलग अलग कैप्शंस के साथ शेयर किया है | वीडियो में दिख रहा आदमी बच्चे को खड़े होना सिखाता प्रतीत होता है पर बच्चा रो रहा है और इससे आदमी और आक्रामक हो जाता है |

हमें यही वीडियो हमारे व्हाट्सएप्प हेल्पलाइन नंबर (7700906111) पर भी मिला जहाँ इसकी सच्चाई जानने की मांग की गयी |

कैप्शन में लिखा है: आप के whatsapp पे जितने भी नंबर एवं ग्रुप हैं एक भी छूटने नही चाहिए, ये वीडियो सबको भेजिए ये वलसाड के DPS SCHOOL Rajbag का टीचर शकील अहमद अंसारी है इसको इतना शेयर करो की ये टीचर और स्कूल दोनों बंद हो जाए । वीडियो वायरल होने से काफी फ़र्क पड़ता है ओर कार्यवाही होती है जिसे दया न आये वो अपना मुंह (टाइपिंग) बंद रखे । (Sic)

आपको बता दें की यह वीडियो वलसाड, गुजरात से नहीं है इसके साथ किया जा रहा यह दावा फ़र्ज़ी है |

WhatsApp screenshot
व्हाट्सएप्प सन्देश का स्क्रीनशॉट

सऊदी अरब के इस वीडियो में दिख रहे शख़्स को रियाद पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया है | गिरफ़्तारी वीडियो के सऊदी में वायरल होने के बाद हुई जैसा की पुलिस डिपार्टमेंट के प्रवक्ता ने सऊदी गैज़ेटे मीडिया को बताया |

यह पहली बार नहीं है जब डीपीएस राजबाग जो जम्मू का एक स्कूल है कहीं और के बच्चों के प्रताड़ना वाले वीडियो से जोड़ा गया है | बूम ने पहले भी इस पर लेख लेखे हैं जिनमें दो स्कूल शामिल हैं | एक आरएमवीएम वलसाड और डीपीएस राजबाग जिन्हें फेक न्यूज़ ने निशाना बनाया |

https://www.boomlive.in/how-fake-news-ruined-a-school-in-gujarat/

यही वीडियो ट्विटर द्वारा सत्यापित हैंडल Payal Rohatgi & team – Bhagwan Ram Bhakts ने भी शेयर किया है जिसके साथ लिखे कैप्शन का हिंदी अनुवाद है: राम राम जी क्या यह #ChildPolicyViolation @TwitterIndia है जैसा की मुझे याद है तुमने मेरा अकाउंट ब्लॉक किया था रमदान के वक़्त सिर्फ़ एक जानकारीपूर्ण वीडियो शेयर करने पर जो कश्मीरी लड़की के बलात्कार के बारे में था | कारन यही बताया था #पायलरोहतगी |

इसे अन्य ट्विटर हैंडल पर भी शेयर किया गया है | इन पोस्ट्स के आर्काइव्ड वर्शन यहाँ, यहाँ और यहाँ देखें |

नोट: वीडियो की संवेदनशील प्रवृत्ति के चलते हमनें वीडियो या ट्वीट को लेख में नहीं रखा है, हालांकि आप वीडियो को लिंक्स पर जाकर देख सकते हैं | दर्शकों से विवेक इस्तेमाल करने की उपेक्षा है |

फ़ैक्ट चेक

बूम ने वीडियो को कीफ्रेम्स में तोड़कर एक रिवर्स इमेज सर्च किया | हमें कई ट्वीट्स मिले जिन्हें अरबी भाषा में इस घटना के तुरंत बाद ट्वीट किया गया था | इन ट्वीट्स में आदमी को सऊदी अरब का बताया गया था |

हमनें "Arabic man beating an infant" कीवर्ड्स के साथ खोज की जिसके चलते हमें कई समाचार लेख मिले | एक समाचार वेबसाइट डेली मेल ने रिपोर्ट किया: यूसिफ़ अलक़ुताई, जो पलेस्टाइन से गल्फ राज्य में रहने आया है, को एक बच्ची को मारने हुए रिकॉर्ड किया गया है |

कई ट्विटर यूज़र्स ने यूनिसेफ को टैग करते हुए इस शख़्स के ख़िलाफ कार्यवाही की मांग की थी जैसा की गल्फ न्यूज़ द्वारा लेख में प्रकाशित है | यूनिसेफ, यूनाइटेड नेशंस द्वारा शुरू की गयी एक संस्था है जो बच्चों के हित में काम करती है |

Daily Mail screenshot
डेली मेल द्वारा लेख

वीडियो को ध्यान में रखते हुए सऊदी अरब की मिनिस्ट्री ऑफ़ लेबर एंड सोशल डेवलपमेंट के प्रवक्ता खालिद अबलखाइल ने ट्वीट किया था |

हिंदी में ट्वीट: हिंसा रिपोर्टिंग केंद्र में जानकारी प्राप्त कर ली गयी है एवं इसका सत्यापन किया जा रहा है ताकि बच्चे के साथ दुर्व्यवहार करते वीडियो में दिखाई दे रहा शख़्स पकड़ में आये |



बूम ने महीनों तक इन वीडिओज़ को बार बार सोशल मीडिया पर वायरल होते देखा और पाया की यह और इस तरह के कई वीडिओज़ स्कूलों और शिक्षा संस्थानों को निशाना बना रहे हैं | आप बूम द्वारा की गयी एक पॉडकास्ट स्टोरी नीचे सुन सकते हैं |

Claim Review :  वलसाड के राजबाग में स्थित डीपीएस स्कूल के शिक्षक शकील अंसारी
Claimed By :  Twitter handles and WhatsApp
Fact Check :  FALSE
Next Story