सीरिया में हुए ब्लास्ट का वीडियो बटाला पटाखा फ़ैक्टरी ब्लास्ट बता कर किया गया वायरल

बूम ने पाया कि वीडियो मूल रूप से 2014 से है जब सीरिया के एक होटल में हुए भयानक विस्फ़ोट से पूरा अलेप्पो शहर दहल गया था

सीरिया के उत्तरी शहर अलेप्पो में विस्फ़ोट का एक पुराना वीडियो सोशल मीडिया पर झूठे दावों के साथ फ़िर से फ़ैलाया जा रहा है। दावा किया जा रहा है कि यह पंजाब के गुरदासपुर में एक पटाखा कारखाने में हुए हाल के विस्फ़ोट की फ़ुटेज है।

4 सितंबर को गुरदासपुर के बटाला में एक पटाखा फ़ैक्टरी में हुए एक शक्तिशाली विस्फ़ोट में 23 लोग मारे गए और 30 घायल हो गए थे।

30 सेकंड की लंबी क्लिप, जिसे "बटाला ब्लास्ट वीडियो" कैप्शन दिया गया, एक बड़े पैमाने पर विस्फ़ोट को रिकॉर्ड करता है जो थोड़ी दूरी पर हुआ है। भाव इतना शक्तिशाली है कि कैमरा हिल जाता है।

अर्काइव लिंक के लिए यहाँ क्लिक करें।

फ़ैक्ट चेक

बूम यह पता लगाने में सक्षम था कि वीडियो गुरदासपुर से नहीं है क्योंकि पंजाब में विस्फ़ोट के बाद की तस्वीरें और वीडियो उस वीडियो फ़ुटेज से मेल नहीं खाती हैं।

वीडियो के अंत में, कैमरा शहर की ओर पैन होता है, जो भारतीय शहर नहीं लगता है

हमने वीडियो को मुख्य फ़्रेमों में तोड़ कर कीवर्ड के साथ रिवर्स इमेज सर्च चलाया। हम द टेलीग्राफ़ द्वारा प्रकाशित समान वीडियो खोजने में सक्षम थे, जिसमें कार्लटन होटल, अलेप्पो में एक विशाल विस्फ़ोट को दिखाया था । इस विस्फ़ोट से मई 2014 में पूरा शहर दहल उठा था।

वीडियो का वर्णन बताता है: "वीडियो में वह क्षण दिखाया गया है जह अलेप्पो होटल और कई अन्य इमारतें भयानक विस्फ़ोट से दहल गई थी।" उत्तरी सीरिया में एक "बहुत बड़े विस्फ़ोट" ने एक सरकारी क्षेत्र में कई अन्य इमारतों के साथ एक होटल को मिट्टी में मिला दिया जिसे सरकारी सैनिक सैन्य अड्डे के रूप में इस्तेमाल कर रहे थे, जैसा कि राज्य टेलीविज़न और कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को सूचना दी।"



इसी फ़ुटेज के साथ बीबीसी द्वारा भी हमले की सूचना दी गई थी। नीचे कहानी का एक अंश दिया गया है।

विस्फ़ोट के लिए विद्रोहियों को जिम्मेदार माना जा रहा है| होटल के नीचे एक सुरंग में जहां बम रखा था वहाँ सरकारी सैनिकों का बेस था, जैसा कि ब्रिटेन आधारित सियरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स का हवाला देते हुए बीबीसी ने रिपोर्ट किया।

Claim Review :  पंजाब के गुरदासपुर में एक पटाखा कारखाने में हुए हाल के विस्फ़ोट का फ़ुटेज है
Claimed By :  Facebook Pages
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story