दिल दहला देने वाली यह तस्वीर श्रीलंका में ईस्टर संडे बम विस्फोट के बाद की नहीं है

यह तस्वीर 2018 से विभिन्न सिंहली वेबसाइटों पर मौजूद है
srilanka blast

एक छोटे बच्चे के मृत शरीर के पास एक व्यक्ति की रोते हुई तस्वीर सोशल मीडिया पर झूठे दावे के
साथ शेयर की जा रही है। दावा किया जा रहा है कि यह बच्चा हाल ही में श्रीलंका में हुए आतंकी
हमलों का सबसे कम उम्र का शिकार है।

फोटो को कैप्शन के साथ शेयर किया जा रहा है, जिसका हिंदी अनुवाद है, "श्रीलंका विस्फोटों का सबसे छोटा शिकार" और "श्रीलंका विस्फोटों का सबसे छोटा शहीद।"

फैक्ट चेक

बूम ने गूगल पर एक रिवर्स इमेज सर्च किया और पाया कि फोटो को कई ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर
मई 2018 में अपलोड किया गया है।

srilanka kid deadbody
( मई 2018 में सिंनलीज वेबसाइट द्वारा अपलोड की गई वही तस्वीरें )

पोस्ट देखने के लिए यहां क्लिक करें।

यही तस्वीरें दो सिंहली यूट्यूब चैनलों, ईएस प्रोडक्शंस और नोडुटु लोवा वाटा पर पिता के दर्द के वायस ओवर के साथ अपलोड की गई थीं। दोनों अपलोड मई 2018 से हैं और इन्हें 21 अप्रैल, 2019 को हुए श्रीलंका हमलों से जोड़ा जा रहा है।

बूम स्वतंत्र रूप से लड़की की पहचान या उसकी मृत्यु के कारण को सत्यापित करने में सफ़ल नहीं हो पाया |

इस्लामी आतंकवादियों द्वारा ईस्टर रविवार को चर्चों और होटलों में सीरियल बम विस्फोट किए गए थे जिसमें 350 लोगों की मृत्यु हो गई थी और यह राष्ट्र में हुए सबसे भीषण आतंकवादी हमले में से एक है। श्रीलंका ने कहा कि इस्लामिक ग्रुप नेशनल थोहेद जमथ ने हमलों को अंजाम दिया। इस सप्ताह की शुरुआत में आतंकी समूह इस्लामिक स्टेट ने हमलों की जिम्मेदारी ली थी।

Claim Review :  फ़ोटो श्रीलंका बेम धमाकों में मारे गए नन्हे बच्चे को दिखाता है
Claimed By :  Facebook pages
Fact Check :  FALSE
Show Full Article
Next Story