अमृतसर ट्रेन हादसे पर वायरल होता रवीश कुमार के बयान का सच

वरिष्ठ पत्रकार रविश कुमार से जोड़ कर वायरल किया गया पोस्ट "क्या इंसानो की ज़िन्दगी की कोई कीमत नहीं रह गई" सरासर गलत है
दावा : रवीश कुमार ने कहा की "पंजाब में इतना बड़ा रेलवे हादसा हुआ है, क्या किसी की कोई जिम्मेदारी होगी या फिर वही जांच, वही लीपापोती। हमारे देश में लोगो के जान की कीमत इतनी सस्ती क्यों है।" रेटिंग : झूठ सच्चाई : जाने माने पत्रकार रवीश कुमार ने नहीं कहा की "पंजाब में इतना बड़ा रेलवे हादसा हुआ है, क्या किसी की कोई जिम्मेदारी होगी या फिर वही जांच, वही लीपापोती। हमारे देश में लोगो के जान की कीमत इतनी सस्ती क्यों है।" दरअसल दशहरे के मौके पर अमृतसर स्टेशन से केवल 2 किमी की दूरी पर धोबी घाट मैदान में कम से कम 300 लोग रावण दहन देखने के लिए जुटे थे । उनमें से कई जौरा फाटक क्रॉसिंग के नजदीक पटरियों पर खड़े थे। लोगो का एक मजमा रावण के पुतले का दहन देखने के लिए आतुरता से टकटकी लगाए खड़ा था। तभी एक तेज़ रफ़्तार ट्रेन पटरियों पर से गुज़री और उसके चपेट में आकर कई लोगो की जान चली गयी | यह खौफनाक हादसा देश के साथ विदेश में भी काफी चर्चा में रहा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ साथ कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गाँधी ने भी ट्वीट कर के अपनी संवेदना ज़ाहिर की।
पडोसी मुल्क पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान तथा कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो ने भी हादसे में मरने वालों के प्रति संवेदना जताई।
ज्ञात रहे की यह फेसबुक पोस्ट वायरल इंडिया नामक पेज द्वारा शेयर किया गया है और फिलहाल इसे 5,000 शेयर्स मिल चुके हैं| यह पेज कौन चलाता है, इस बारे में बूम को कोई जानकारी नहीं है | जबकि रवीश कुमार के नाम से इससे पहले भी काफी फेसबुक पोस्ट वायरल किये जा चुके है, उन्होंने स्वयं इसका पूरी तरह से खंडन किया है । बूम ने इस वायरल होते पोस्ट पर रवीश कुमार से बात की तो मालूम हुआ की वायरल होते इस पोस्ट से उनका कोई ताल्लुक नहीं है |
Next Story