फिल्म के एक दृश्य को बताया जा रहा है गांधी की हत्या के समय की तस्वीर

बूम ने पाया कि तस्वीर मूल रूप से फिल्म 'नाइन ऑवर्स टू राम' से लिया गया एक स्क्रीनशॉट है
Nine hours to Rama-Viral photo

सोशल मीडिया पर एक फिल्म का दृश्य वायरल हो रहा है । इसमें नाथूराम गोडसे द्वारा महात्मा गांधी की हत्या का दृश्य फिल्माया गया है । इस दृश्य के साथ यह ग़लत दावा किया जा रहा है कि यह मूल घटना की दुर्लभ तस्वीर है ।

यह तस्वीर मार्क रॉबसन द्वारा निर्देशित 1963 की फिल्म - नाइन ऑवर्स टू राम से ली गई है ।

नाथूराम गोडसे द्वारा 30 जनवरी, 1948 को महात्मा गाँधी की हत्या कर दी गई थी । आप न्यूयॉर्क टाइम्स और द गार्डियन द्वारा गांधी की हत्या की अर्काइव समाचार रिपोर्ट देख सकते हैं ।

तस्वीर में, अभिनेता जेएस कश्यप, जो महात्मा गांधी की भूमिका निभा रहे हैं, उन्हें जमीन पर बेजान पड़ा देखा जा सकता है और एक दूसरा व्यक्ति उन्हें पास आकर देखता है। गांधी से दूर दो लोगों को नाथूराम गोडसे को पकड़ते हुए देखा जा सकता है, जिसका किरदार होर्स्ट बुचोलज़ द्वारा निभाया गया है ।

वायरल पोस्ट के साथ कैप्शन दिया गया है, जिसमें लिखा है, “महात्मा गांधी के हत्या की दुर्लभ तस्वीर ( हिंदू अतिवादी आरएसएस कार्यकर्ता नाथूराम गोडसे, गांधी की हत्या करने वाले व्यक्ति ) दो हिंदुओं ने पकड़ा था, जबकि गांधी का शव फर्श पर पड़ा था (30 जनवरी 1948)। आरएसएस को तुरंत भारतीय अधिकारियों द्वारा प्रतिबंधित कर दिया गया था। ”

Fake-Facebook post about Gandhi's murder
( फ़ेसबुक पोस्ट का स्क्रीनशॉट )

पोस्ट को यहां देखा जा सकता है और अर्काइव यहां देखा जा सकता है ।

फ़ैक्ट चेक

बूम यह पता लगाने में सक्षम था कि गांधी की हत्या के बाद तस्वीर नहीं ली गई थी । मिलते जुलते कीवर्ड खोजों के साथ हम इसी तस्वीर तक पहुंचे जो एक फिल्म डेटाबेस, आईएमडीबी द्वारा नाइन आवर्स टू राम फिल्म से तस्वीर के रुप में अपलोड की गई थी ।

IMDB screenshot on Nine hours to Rama

बूम ने तब फिल्म के विशेष दृश्य के साथ फिल्म की तस्वीर की तुलना की है ।

Viral post photo
Screenshot of the YouTube video

1:55:30 के टाइम फ्रेम में आप वायरल तस्वीर और फिल्म के स्क्रीनशॉट के बीच समानता को देख सकते हैं ।



Claim Review :  महात्मा गाँधी को गोली लगने के बाद की तस्वीर
Claimed By :  Facebook page
Fact Check :  FALSE
Next Story