सोशल मीडिया पर उन्नाव बलात्कार-पीड़िता की मौत की ख़बरें वायरल जबकि हालत अभी स्थिर है

बूम ने किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के आधिकारिक प्रवक्ता से बात की जिन्होंने पीड़िता के ज़िंदा होने की पुष्टि की है
Unnao-case

फ़ेसबुक एवं ट्विटर पर दो तस्वीरों का एक कोलॉज वायरल हो रहा है | जहां एक तस्वीर में हॉस्पिटल के बेड पर लेटी एक चोटिल महिला नज़र आ रही है वहीँ दूसरी तस्वीर में उस कार के परखच्चे दिख रहें है जिसमे जुलाई 28 को उन्नाव-बलात्कार पीड़िता यात्रा कर रहीं थी | वायरल पोस्ट के साथ दावा किया जा रहा है की पीड़िता की मौत हो गयी है| आपको बता दें की यह दावा झूठा है एवं पीड़िता ज़िंदा है मगर उनकी हालत गंभीर बनी हुई है |

इस तस्वीर के साथ तरह-तरह के कैप्शन वायरल हैं| इनमें से सबसे ज्यादा वायरल कैप्शन है: "अलविदा बहन| उन्नाव रेप पीड़िता अब नही रही … कोई ऐसा सोच भी नही सकता था कि न्याय के लिए एक बेटी को परिवार सहित मरना पड़ा हो ! ऑपरेशन ट्रक सफल हुआ अब कोई नई कहानी गढ़ी जाएगी,, महिला हितों के लिए लंबे लंबे भाषण दिए जाएंगे ! विधायक जी सहित पूरी सरकार को बधाई ! और अंत में #होनीकोकौनटालसकता_है ! कहाँ बहन आप कोर्ट कचहरी के चक्कर मे पड़कर जान गवा दी | काश फूलन बनी होती तो आप नही आरोपी ऊपर होते | इस बहन के लिए भी आवाज़ बन जाओ नही तो कोई किसी की बहन बेटी सुरक्षित नहीं रहेगी | मोदी योगी मुर्दाबाद | कुलदीप सेंगर बलात्कारी कातिल है, उसे फाँसी हो"

इस तरह की कुछ पोस्ट आप नीचे देख सकते हैं एवं इनके आर्काइव्ड वर्शन यहां एवं यहाँ देख सकते हैं |



फ़ैक्ट चेक

बूम ने इस पोस्ट की सच्चाई जानने के लिए किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ, में ट्रामा विभाग के प्रवक्ता संजय वर्मा से संपर्क किया | वर्मा ने बताया की लड़की की स्थिति नाज़ुक बनी हुई है परन्तु स्थिर है | उन्होंने कहा, "मरने की खबरें झूठी हैं, मैंने खुद कुछ देर पहले लड़की को देखा है | उसे खून की कमी जरूर हुई थी पर डॉक्टरों ने उसका ट्रीटमेंट किया | उसे वेंटीलेटर पर रखा गया है पर स्थिति स्थिर है |"

बूम ने डॉक्टर संदीप तिवारी से भी बात की जिन्हें इस केस में आधिकारिक प्रवक्ता बनाया गया है | उन्होंने बताया, "दोनों (पीड़िता और उनके वकील ) गंभीर हैं परन्तु हालत स्थिर है | मौत की खबरें झूठ है दोनों में से कोई मरा नहीं है |"

बूम ने मुख्य धारा की मीडिया के लेखों को भी देखा परन्तु कहीं भी पीड़िता की मौत की ख़बर प्रकाशित नहीं है |

क्या है उन्नाव मामला?

जून 4, 2017 को उन्नाव के भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने एक 17 साल की लड़की का बलात्कार किया था | न्यूज़ 18 के रिपोर्ट्स के अनुसार सेंगर ने लड़की को काम दिलाने का झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म किया |

इस घटना के कुछ दिनों बाद 11 जून को लड़की का अपहरण होगया जिसके चलते लड़की के घर वालों ने पुलिस में शिकायत की |इस घटना के दो वर्षो के उपरान्त उक्त विधायक से न्यायिक लड़ाई के दौरान ही पीड़िता के पिता की मौत ज्यूडिशियल कस्टडी में हो गयी तथा एक ट्रक दुर्घटना में उनके दो और पारिवारिक सदस्यों की मृत्यु हो गयी | जुलाई 28 को हुए इस ट्रक दुर्घटना में पीड़िता और उनके वकील गंभीर रूप से घायल हुए थे | उनका इलाज अभी लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में चल रहा है |

आप इस घटनाक्रम को यहाँ पढ़ सकते हैं |

Claim Review :   उन्नाओ बलात्कार पीड़ित की मौत हो गयी है
Claimed By :  Facebook pages and Twitter handles
Fact Check :  FALSE
Show Full Article
Next Story