जामिया: छात्र पर गोली चलाने वाले शख़्स का ऑनलाइन अस्तित्व कट्टरपंथी है

भक्ति भाव, देशभक्ति, इस्लामोफ़ोबिया और बंदूकें - दिल्ली में गोली चलाने वाले शख़्स की ऑनलाइन प्रोफाइल चिंतित करने वाली है

जामिया के प्रदर्शनकारी पर गोली चलाने से पहले, निशानची ने कई परेशान कर देने वाले फ़ेसबुक पोस्ट कर 3,000 से ज़्यादा फ़ेसबुक दोस्तों और फॉलोवर्स को हमले के बारे में बताया|

शाहीन बाग़ में चल रहे प्रदर्शन का उल्लेख करते हुए, उसने लिखा, "शाहीन बाग़... गेम ओवर", इसके बाद कई लाइव वीडिओज़ हमले के वक़्त पोस्ट किये| जब गोपाल पुलिस हिरासत में है, गोली से जख़्मी शख़्स - जिसके हाथ पर गोली लगी थी - होली फॅमिली अस्पताल में उपचार के अंतर्गत स्थिर अवस्था में है|

यह भी पढ़ें: क्या वीडियो से पता चलती है असम डिटेंशन सेंटर की क्रूरता?

शूटर की प्रोफाइल को देखने पर बूम ने पाया की यह हमला योजनात्मक तरीके से किया गया है, जिसकी पुष्टि कई फ़ेसबुक लाइव वीडिओज़ करते हैं| उनके पोस्ट एक बदले के तरफ भी इशारा करते हैं जो चन्दन गुप्ता की मौत के लिए था| चन्दन उत्तर प्रदेश के कासगंज में आयोजित 'तिरंगा यात्रा' के दौरान मारे गए थे जो 2018 जनवरी में हुई थी| यह घटना एक सांप्रदायिक दंगे में बदल गयी थी|

हिंसा का इतिहास

शूटर का इतिहास कट्टरपंथी रहा है और उसके सोशल मीडिया एकाउंट्स यह साफ़ साफ़ बताते हैं| हमनें उसकी फ़ेसबुक और इंस्टाग्राम एकाउंट्स की पड़ताल की और पाया की यह युवक हिंसा की लगन रखते हुए हथियारों हथियारों पर मोहित है|

न्यूज़ एजेंसी ए.एन.आई ने पहले उसे दिल्ली पुलिस के सूत्र के हवाले से उन्नीस वर्षीय बताया, पर बाद में शूटर की सी.बी.एस.ई द्वारा जारी एक अंकसूची सामने आयी जिसमें वो जल्द ही 18 साल का होने वाला है| इसका मतलब फिलहाल वो नाबालिक है|



एन.डी.टी.वी एंकर श्रीनिवासन जैन ने एक वीडियो ट्वीट किया जिसमें शूटर दिल्ली पुलिस के सामने गोली चलाते हुए दिखाई दे रहा है, जिसके बाद पुलिस धीरे से उसे लेकर जाती है| कार में बैठते वक़्त वह अपना नाम चिल्लाता है|

फ़ेसबुक पर प्रोफाइल की खोज आसान थी| हाल में पोस्ट किये गए कुछ फ़ेसबुक लाइव ने हमारा ध्यान खिंचा जो हमले से एकदम पहले पोस्ट किये गए थे|

फ़ेसबुक वीडियो और जैन द्वारा पोस्ट किये गए वीडियो में मौजूद शख़्स में कई समानताएं हैं, हमने मिला कर देखा|

आगे खोज के दौरान हमें मिला की गोपाल यह हमला करने वाला तो था ही, वह एक सुसाइड मिशन पर था| इसके अलावा कई और पोस्ट में शाहीन बाग़ के प्रदर्शनकारियों के प्रति उसकी शत्रुतापूर्ण मानसिकता को दर्शाया|

शर्मा की एक पोस्ट: "शाहीन बाग़, खेल ख़त्म" उसने कई और फ़ेसबुक ग्रुप में यही सन्देश पोस्ट किया ताकि उसकी मंशा लोगों को मालुम चले|






हम कुछ ऐसी पोस्ट तक भी पहुंचे जहां शूटर यह साफ़ करता है की वो यह चन्दन गुप्ता की मौत का बदला लेने के लिए कर रहा है|

जामिया में प्रदर्शनकारियों पर गोली चलाने के बिलकुल पहले एक फ़ेसबुक पोस्ट में वह कहता है, "चन्दन भाई, तुम्हारे लिए बदला"


आगे खोज में हमें शूटर की इंस्टाग्राम प्रोफाइल भी मिली जिसमें उसका बंदूकों और हिंसा से लगाव साफ़ साफ़ दिखता है| उसकी फ़ेसबुक कवर फोटो में भी वो एक तलवार को पकड़े से लाड़ करते हुए दिख रहा है|


हाल ही, जैसा शूटर की प्रोफाइल में लिखा है, में उसने बजरंगदल की रैलियां और सभाओं की तसवीरें साझा की थी| बूम स्वतंत्र रूप से यह पुष्टि करने में सक्षम नहीं था की वह बजरंगदल का सदस्य है| हालांकि, बजरंगदल सदस्य दीपक शर्मा के साथ उसकी कुछ तस्वीरें प्रोफाइल पर थी, प्रोफाइल अब हटा दी गयी है|




शूटर की इंस्टाग्राम प्रोफाइल पर कई तस्वीरें दीपक शर्मा की हैं जिसे वो 'भाई' कह रहा है|


यह लेख अपडेट किया गया है|

Updated On: 2020-01-31T13:09:06+05:30
Show Full Article
Next Story