राहुल गाँधी के उपनाम का मखौल उड़ाते पोस्टर की ये तस्वीर दरअसल फ़ोटोशॉप की गयी हैं

वायरल तस्वीर में कांग्रेस पार्टी प्रमुख के उपनाम के साथ फ़ोटोशॉप की मदद से छेड़छाड़ की गयी है
rahul gandhi fake viral

कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गाँधी के उपनाम का मखौल उड़ाते एक पोस्टर की तस्वीर, जो फ़िलहाल सोशल मीडिया पर काफ़ी वायरल है, दरअसल फ़ेक है | वायरल तस्वीर में गाँधी के उपनाम को एडिट करके एक हिंदी गाली में तब्दील कर दिया गया है |

वायरल तस्वीर में दिख रहे बैनर में गांधी शब्द को फ़ोटोशॉप करके गांडू बना दिया गया है | इस बैनर में गाँधी के अलावा तेलंगाना कांग्रेस के अन्य वरिष्ठ नेताओं की तस्वीरें भी हैं |

पोस्ट के साथ एक कैप्शन हैं जो कहता हैं: केरल में गांधी को GANDU कहते हैं क्या ??? वायनाड वाले इसको चार दिन में पहचान गए लेकिन चमचे इसको आज तक नही पहचान पाए….भाई केरल में 100% लिटरेसी है पता है ना आपको ….कितना मान सम्मान मिला है " SHRI RAHUL GANDU जी को" यह मैं नहीं कह रहा हूँ पोस्टर कह रहा है |

rahul gandhi fake poster
वायरल पोस्ट

फ़ेसबुक के अलावा ये पोस्ट ट्विटर पर भी काफ़ी वायरल हैं |





पोस्ट का आर्काईव्ड वर्शन यहां देखा जा सकता हैं |

हालांकि ये दावा खुद में ही पोस्ट के झूठ का भंडाफोड़ कर देता हैं | जबकि वायरल पोस्ट ऐसा इशारा करता हैं की ये कैंपेन पोस्टर केरला में लगा हैं, पोस्टर पर गाँधी के अलावा दिखाई दे रहे सारे चहरे तेलंगाना कांग्रेस से जुड़े हैं

पोस्टर के ऊपरी हिस्से में राहुल गाँधी के ठीक पीछे जिसकी तस्वीर लगी हैं वो शख़्स एन उत्तम कुमार रेड्डी हैं | रेड्डी तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमिटी के प्रमुख हैं | वहीँ पोस्टर में नीचे दायीं ओर जिसकी तस्वीर लगी हैं वो तेलंगाना कांग्रेस के नेता डी सुधीर रेड्डी हैं |

इससे ये तो तय हो जाता हैं की पोस्टर केरला से नहीं हैं | आईये अब आगे की फैक्ट चेकिंग करते हैं |

क्या हैं पोस्टर का सच ?

ये पहली बार नहीं हैं की यह तस्वीर वायरल हुई हैं | इससे पहले भी तेलंगाना चुनावों के पहले ये ही पोस्ट दूसरे कैप्शन के साथ वायरल हो चूका हैं | हालाँकि तब इस पोस्टर को तेलंगाना से जोड़ कर बताया गया था |

बूम को यही पोस्टर एक यूट्यूब चैनल बी मीडिया पर मिला | इस चैनल ने अगस्त 22, 2018, को इस वायरल पोस्ट का फैक्ट चेक किया था |



इस वीडियो में उस असल पोस्टर को दिखाया गया हैं जिसमे गांधी शब्द सही तरीके से लिखा गया हैं | जैसा की आप पास ही लगे एक दूसरे पोस्टर पर लिखा देख सकते हैं, ये पोस्टर हैदराबाद के नज़दीक रंगारेड्डी ज़िले में लगाया गया था |

बूम ने एक और वीडियो खोज निकाला जिसे सुधीर रेड्डी के ऑफिशियल फ़ेसबुक पेज पर अगस्त 15, 2018 को अपलोड किया गया था | इस पोस्टर में भी गाँधी उपनाम को सही तरीके से लिखा गया था |

सुधीर रेड्डी के फ़ेसबुक वाल से लिया गया वीडियो
Updated On: 2020-02-27T17:52:51+05:30
Claim Review :  तस्वीर में दिख रहे कैंपेन पोस्टर में राहुल गाँधी के उपनाम को गलत ढंग से लिखा गया
Claimed By :  Social media pages
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story