सरदार पटेल के 'स्टेचू ऑफ़ यूनिटी' की फोटोशॉप की गयी तस्वीर हुई वायरल

वायरल हुए फ़ेक पोस्ट में एक गरीब परिवार के पृष्ठभूमि में स्टैचू ऑफ यूनिटी को दिखाए कर की गयी व्यापक असमानता दिखाने की कोशिश
दो तस्वीरों को मॉर्फ़ करके एक बार फ़िर से फ़ेक न्यूज़ वायरल करने की कोशिश की गयी है | जहां एक ओर है सरदार वल्लभभाई पटेल की भव्य 'स्टैचू ऑफ यूनिटी', वहीँ दूसरी तरफ है उसकी परस्पर विरोधाभासी तस्वीर: एक गरीब महिला के अपने बच्चों को फुटपाथ पर खाना खिलाती हुई तस्वीर | दोनों तस्वीरों को एक ही फ्रेम में मॉर्फ़ करके कथित असामानताओं को उजागर करने की कोशिश की गयी है | हालाँकि यह पोस्ट फ़ेक है और इस पोस्ट में एक गरीब महिला को फुटपाथ पर अपने दो बच्चों को खाना खिलाते देखा जा सकता है | इसी मार्मिक तस्वीर की पृष्ठभूमि में हम पटेल की 182 मीटर ऊँची मूर्ति भी देख सकते हैं |  मॉर्फ़ की गयी इस तस्वीर को इस सन्देश के साथ ट्वीट किया गया है: "ये तस्वीर अवाक् कर देती है ...| "
ट्वीट के आर्काइव्ड संस्करण को देखने के लिए यहां क्लिक करें | आपको बता दें की महिला और बच्चों की मूल तस्वीर फरवरी 26, 2010 , को अहमदाबाद में रायटर्स  के फोटोग्राफर अमित दवे द्वारा ली गई थी | रॉयटर्स द्वारा छपी गयी मूल तस्वीर देखने के लिए यहां क्लिक करें | फिलहाल दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति, स्टैचू ऑफ यूनिटी , का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पटेल जयंती - अक्टूबर 31 - को किया जाएगा। इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी लार्सन एंड टुब्रो ने 2,989 करोड़ रुपये की लागत से इस मूर्ति का निर्माण किया है। (इस बारे में यहां और पढ़ें)
Show Full Article
Next Story